आगर नगर को मिली सार्वजनिक मोक्षरथ की सौगात | Agar nagar ko mili sarvajanik mokshrath ki sogat

 आगर नगर को मिली सार्वजनिक मोक्षरथ की सौगात

आगर नगर को मिली सार्वजनिक मोक्षरथ की सौगात

आगर मालवा (अंकित दुबे) - जिला बनने के उपरांत आगर नगर का विस्तार भी हुआ है शहर से दूर बनी कालोनियां श्मसान से दो से तीन किलोमीटर की दूरी पर होने से गर्मी और बरसात के मौसम में नंगे पैर पैदल शव को काँधे पर उठाकर चलना शोक संतप्त परिवार के लिए बहुत कष्टकारी होता है। नगर की इस महत्ती आवश्यकता को एक विचार के रूप में सोशल मीडिया पर नगर के शासकीय स्कूल में प्रधानाध्यापक रजनीश स्वर्णकार जो वर्तमान में जिला शिक्षा केन्द्र में एपीसी के पद पर पदस्थ है ने नागरिकों के समक्ष रखा। प्राध्यापक ने स्वयं सबसे पहले दस हजार रुपए राषि देने की घोषणा कर शुरुआत की। इस पहल को नगर के नागरिकों द्वारा सकारात्मक समर्थन देकर सहयोग प्रदान किया गया। एकत्रित राशि से ई-रिक्शा पर मोक्ष रथ तैयार कर जनसेवार्थ एवं उपयोग हेतु श्री बैजनाथ प्रबन्धन समिति को समर्पित किया गया।  इस अवसर पर कलेक्टर अवधेश शर्मा, बैजनाथ प्रबंधन समिति अध्यक्ष एसडीएम राजेन्द्र सिंह रघुवंशी, एस एलआर राजेश सरवटे, श्मसान समिति छावनी के अध्यक्ष बसंत गुप्ता, कोषाध्यक्ष ओमप्रकाश गर्ग, नगर के समाज सेवी सुधीर भाई जैन, विनोद जैन श्रीपाल, मनीष भावसार, सतीश गेहलोत एवं दानदाता और सामाजिक कार्यकर्ता  उपस्थित थे।

अपील

बैजनाथ प्रबंधन समिति ने नगर वासियो से अपील की है कि यह रथ सार्वजनिक है जिसके लम्बे समय तक निर्बाधरूप से संचालन, रखरखाव, ड्राइवर हेतु आगे भी आर्थिक सहयोग की आवश्यकता होगी।  अतः नगरवासियो को उपयोग पश्चात न्यूनतम 200 रुपए सहयोग राशि जरूर प्रदान करना चाहिए। जिसका उपयोग ड्राइवर एवं मेंटेनेंस हेतु किया जाएगा। जिससे यह कार्य लगातार सुचारू रूप से जारी रह सकता है।  इसकी रसीद भी प्रदान की जावेगी समिति ने समाजसेवियों और संस्थाओं से सकारात्मक मार्गदर्शन का भी आग्रह किया है।

श्री स्वर्णकार ने बताया कि इस अभियान में 245 लोगो ने पोने चार लाख रुपए की आर्थिक सहयोग की घोषणाए की थी। जिसमें ढाई लाख रुपए इकट्ठा हुए थे, उक्त राशि को बैंक में जमा करा दिया गया था। जिसमे नगर के दो अशासकीय विद्यालय के छोटे छोटे बच्चों ने भी अपनी पाकेट मनी से राशि प्रदानकर सहयोग किया है। मोक्षरथ को कलेक्टर कार्यालय में पदस्थ एस एल आर राजेश सरवटे और आकाश सोनी की पहल पर ई-रिक्शा पर तैयार करवाया गया है। जिसमे एक लाख सितयोत्तर हजार रु का वास्तविक  खर्च हुआ है, उक्त रथ में ई रिक्शा शोरूम के संचालक राजू जायसवाल और बॉडी के निर्माता ने बिना मुनाफा लिए कंपनी मूल्य पर ही तैयार कर सहयोग किया है। साथ ही नगर के इलेक्ट्रॉनिक व्ययसायी कैलाश चंद्र भंडारी ने साउंड सिस्टम सहयोगार्थ प्रदान किया है। मोक्ष रथ की सम्पूर्ण डिजाईन नगर की श्मसान समिति से जुड़े समाजसेवी ओमप्रकाश लक्ष्मीनारायणजी गर्ग एवं सुधीर भाई जैन के मार्गदर्शन में तैयार किया गया है। जो नगर की सड़कों और गलियों में  आसानी से  पहुंच सकता है और शव को गंतव्य तक पहुंचा सकता है।

रथ के संचालन की जिम्मेदारी श्री बैजनाथ प्रबन्धन समिति ने ली है। नगर में आवश्यकता होने पर समिति द्वारा तय किए गए फोन नंबर बैजनाथ प्रबंध समिति के मैनेजर सिलोदीयाजी (मोबा. 9893815350), सुधीर जैन भाई (8269615555) एवं ओमप्रकाश गर्ग (9425921618) को सूचना करने पर रथ उपलब्ध हो सकेगा।

Post a Comment

0 Comments