1 अप्रैल से इन 7 बैंकों की चेकबुक हो जाएगी अमान्य | 1 april se in 7 banko ki cheque book ho jaegi amany

1 अप्रैल से इन 7 बैंकों की चेकबुक हो जाएगी अमान्य

1 अप्रैल से इन 7 बैंकों की चेकबुक हो जाएगी अमान्य
प्रतीकात्मक तस्वीर

हर महीने की पहली तारीख से कई ऐसे नियम लागू होते या बदलते हैं, जिनका असर सीधा आम आदमी पर पड़ता है। 1 अप्रैल से भी ऐसा ही होने जा रहा है। ताजा खबर बैंकिंग से जुड़ी है। 1 अप्रैल से 7 बैकों की चेकबुक काम करना बंद कर देगी। ये बैंक हैं - ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स, यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया, देना बैंक, विजया बैंक, आंध्रा बैंक, कॉरपोरेशन बैंक और इलाहाबाद बैंक। सिंडिकेट बैंक का भी मर्जर हो चुका है, लेकिन इसकी चेक बुक जून तक मान्य होगी। ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स, यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया दोनों का पंजाब नेशनल बैंक में विलय हुआ है। पीएनबी की ओर से बताया जा चुका है कि इन दोनों बैकों के चेक 31 मार्च 2021 तक ही मान्य होंगे। इसी तरह देना बैंक और विजया बैंक का बैंक ऑफ बडौदा में मर्जर हो चुका है। सिंडिकेट बैंक का केनरा बैंक में विलय हुआ है। हालांकि इस बैंक की चेकबुक के लिए ग्राहकों को 30 जून 2021 तक का समय दिया गया है। आंध्रा बैंक और कॉरपोरेशन बैंक अब यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया का हिस्सा हैं। इलाहाबाद बैंक को सरकार अब इंडियन बैंक का हिस्सा बना चुकी है।

जिन बैंकों का मर्जर हो चुका है, उनके ग्राहकों को पहले ही सूचना दी जा चुकी है। साथ ही जिस बैंक में मर्जर हुआ है, उनकी नई चेकबुक भी जारी की जार ही है। ग्राहकों से कहा जा रहा है कि वे इस महीने तक ही पुराने चेक का इस्तेमला करें और इसके बाद यदि जरूर होती है तो नई चेकबुक का उपयोग करें। बैंकों ने विश्वास दिलाया है कि इस दौरान ग्राहकों को किसी तरह की परेशानी नहीं होने दी जाएगी।

ध्यान देने वाली सबसे बड़ी बात

जिन ग्राहकों के बैंकों का विलय हो चुका है, वे इस लिहाज से भी अलर्ट हो जाएं कि विलय से खाता संख्या, आईएफएस कोड, एमआईसीआर कोड, ब्रांच पता भी बदल गया है। नई आईएफएससी कोड भी जारी होंगे। यानी 1 अप्रैल के बाद किसी तरह का लेनदेन करने से पहले यह जानकारी अपडेट कर लें।

Post a Comment

0 Comments