वाइल्ड लाइफ इंडिया और वन विभाग ने जब्त किए दुर्लभ जीवों के अंग | Wild life india or van vibhag ne japt kiye durlabh jivi ke ang

वाइल्ड लाइफ इंडिया और वन विभाग ने जब्त किए दुर्लभ जीवों के अंग

शहर की 2 दुकानों पर छापा मार 3 व्यापारियों को लिया हीरास्त में, शेर, गोह व उल्लू सहित कई संरक्षित व सामग्री जब्त की

वाइल्ड लाइफ इंडिया और वन विभाग ने जब्त किए दुर्लभ जीवों के अंग

रतलाम (यूसुफ अली बोहरा) - वाइल्ड लाइफ इंडिया तथा वन विभाग की टीम ने शहर के दो कारोबारियों के यहां छापा मार प्रतिबंधित दुर्लभ व संरक्षित श्रेणी के वन्य प्राणियों के अंगों को जब्त किया है। कार्रवाई के दौरान दोनों व्यापारियों के यहां से शेर, उल्लू, गोह, जंगली बिल्ली सहित कई वन्य प्राणियों के भारी मात्रा में अंग व अवशेष मिले है। टीम ने इस मामले में 3 व्यापारियों को हिरासत में लिया है जिनसे पूछताछ जारी है।

पुरे मामले की जानकारी देते हुए वन मंडालिधिकारी डी. एस. डोडवे ने बताया की लगातार सूचना मिल रही थी कि शहर के कुछ व्यापारी प्रतिबंधित और दुर्लभ वन्य प्राणियों के अंगों का अवैध कारोबार कर रहे है, जिसके बाद वाइल्ड लाइफ इंडिया ओर वन विभाग ने जिला पुलिस की मदद से मिर्ची गली माणक चौक के हकीमुद्दीन-गुलामअली तथा चौमुखीपुल के पास राजेश पटवा की दुकान पर ग्राहक बनकर टीम भेजी ओर सामग्री आते ही छापा बोला। यहां तलाशी के दौरान बड़ी मात्रा में प्रतिबंधित सामग्र जब्त हुई जिसमें वन्य प्राणियों के अंग-प्रत्यंग शामिल हैं। इस कार्यवाही के दौरान दोनों दुकानों को सील कर दिया गया है। फर्म संचालकों हकीमुद्दीन तथा राजेश पटवा, संजय पटवा को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

वन मंडलाधिकारी डोडवे ने बताया जब्त किए गए अंग-प्रत्यंग और अवशेष में ज्यादातर अनुसूची-1 एवं 2 में शामिल होकर काफी दुर्लभ हैं। इऩके मूल्य का आकलन करना मुश्किल है। ये अनोमल हैं। इनके उपयोग को लेकर जानकारी जुटाई जा रही है। पूछताछ के दौरान व्यापारियों से पता किया जाएगा कि उनके द्वारा जब्त अवशेषों और अंगों की खरीदी कहां से की गई है और इस अवैध कारोबार में कौन-कौन लिप्त है। मामले में वन्य जीव संरक्षण अधिनियम के तहत कार्रवाई होगी।

-इनके सहयोग से मिली सफलता

इस पूरी कार्यवाही में पुलिस विभाग के सब इंस्पेक्टर अनुराग यादव सहित अन्य पुलिसकर्मियों के अलावा वन विभाग के एसडीओ रामचंद्र गहलोत, डिप्टी रेंजर तनवीर खान, राधेश्याम जोशी, फॉरेस्ट गार्ड बेनेडिक्ट एंथोनी, वनपाल भंवरलाल मईड़ा सहित अन्य की सराहनीय भूमिका रही।

दोनो दुकान से ये सामग्री जब्त की गई

-राजेश पटवा (पटवा जी की दुकान) से जब्त की गई सामग्री

हत्था जोड़ी – 19 नग (अनुसूची-1)

बारह सिंगा के सींग – 24 टुकड़े (अनुसूची- )

मोलस – वजन करना बाकी (अनुसूची-1,पार्ट 4बी)

फायर फीटल – वजन करना बाकी (अनुसूची-1)

कुट – वजन करना बाकी (अनुसूची-6)

हकीमुद्दीन-गुलामअली, मिर्ची गली की दुकान से जब्त सामग्री

बारसिंह सिंगे का सींग- 01 नग (अनुसूची-1)

बारह सिंघे का सींग – 01 नग टुकड़ा (अनुसूची-1))

इंदर जाल – 04 नग (अनुसूची-1)(सी-जेम)

सियार सींगी – 07 नग (अनुसूची-2)

शेर के नाखून – 02 नग (अनुसूची-1)

उल्लू का नाखून – 02 नग (अनुसूची-1)

हत्था जोड़ी – 05 नग (अनुसूची-1)

जगली बिल्ली पित्त – 01 नग (अनुसूची-2)

Post a Comment

0 Comments