धामनोद पुलिस को मिली बड़ी सफलता, सर्राफा व्यापारी के साथ लूटपाट करने वाले आरोपी माल और नगदी राशि के साथ धराए | Dhamnod police ko mili badi safalta

धामनोद पुलिस को मिली बड़ी सफलता, सर्राफा व्यापारी के साथ लूटपाट करने वाले आरोपी माल और नगदी राशि के साथ धराए

आरोपी कई महीनों से धामनोद में रहकर व्यपारी की रेकी कर रहा था

धामनोद पुलिस को मिली बड़ी सफलता, सर्राफा व्यापारी के साथ लूटपाट करने वाले आरोपी माल और नगदी राशि के साथ धराए

धामनोद (मुकेश सोडानी) - करीब पांच दिन पूर्व नगर के सर्राफा व्यापारी विनय पिता नरसिंह दास सराफ अपनी कार से सराफा दुकान बंद करके महेश्वर की ओर जा रहे थे तभी रास्ते में अज्ञात चार लुटेरों ने जिनमे दो पुलिस की वर्दी में थे ज्वेलर्स को रोककर उसी गाड़ी में बैठ कर लाखों रुपए नकदी एवं लाखों की ज्वेलरी ले  कर भागे थे घटना के बाद से ही व्यापारियों में रोष था  थाना प्रभारी राजकुमार यादव भी तत्परता से इस मामले को सुलझाने में लग गए थे धार पुलिस अधीक्षक आदित्य प्रताप सिंह के द्वारा उपरोक्त मामले की कड़ी सुलाने के लिए एक टीम का गठन किया गया गंभीरता से हर पहलू पर जांच शुरू की आसपास के सीसीटीवी कैमरे फुटेज खंगाले तब पुलिस को सूचना मिली कि इंदौर का एक पुराना बदमाश दीपक जायसवाल पिछले कई दिनों से धामनोद में रह रहा है और वह घर से बहुत कम निकलता है चुपचाप घर में ही रहता है किसी से ज्यादा मेलजोल भी नहीं है सूचना से गंभीरता लेते हुए थाना प्रभारी राजकुमार यादव ने संदिग्ध पर निगाह रखना शुरू कर दी वारदात के पूर्व भी कई लोगों ने उस बदमाश को शगुन ज्वेलर्स के आसपास देखा इसकी भी पुष्टि हो गई जिससे पुलिस का शक और पुख्ता हो गया पुलिस ने बदमाश को पकड़ कर कड़ाई से पूछताछ की तो उसने अन्य तीन साथियों के साथ  अपराध किया और अपना जुर्म कबूल लिया

धामनोद पुलिस को मिली बड़ी सफलता, सर्राफा व्यापारी के साथ लूटपाट करने वाले आरोपी माल और नगदी राशि के साथ धराए

कैसे दिया घटना को अंजाम

एसडीओपी मोनिका सिंह एवं थाना प्रभारी राजकुमार यादव ने बताया कि आरोपी के हिरासत में रहने के बाद उसके दो साथी आरोपी दीपक पिता प्रकाश मालवीय अरुण पिता कृपाल सिंह बुंदेला एवं सोनू तिवारी भी वारदात में शामिल थे तीनों दोस्त इंदौर में रहते थे इन्हीं की मदद से घटना को अंजाम दिया गया पुलिस ने दो अन्य आरोपी को भी गिरफ्तार कर लिया जबकि घटना का एक आरोपी सोनू तिवारी अभी फरार है

कैसे दिया घटना को अंजाम

धामनोद में रहने वाला आरोपी दीपक जयसवाल जिस पर इंदौर में कई थानों में 10 से अधिक अपराध दर्ज है दीपक पहले तो पुलिस को बरगला ता रहा लेकिन शक्ति करने पर टूट गया दीपक ने बताया कि उसने अपने तीन अन्य साथियों के साथ वारदात की दीपक ने यह भी बताया कि पिछले 3 माह से वह धामनोद में रह रहा है वही सर्राफा व्यापारी की लगातार रेकी  करता था रोज दुकान बंद करने के बाद नगद राशि वह सोना चांदी लेकर अपने घर महेश्वर जाता था इस पर नजर रखता था उसके बाद दीपक ने प्लानिंग कर अपने पुराने साथी सोनू उर्फ अभिषेक तिवारी इंदौर को बुलाकर पूरी वारदात की प्लानिंग की सोनू तिवारी ने दीपक पिता प्रकाश मालवीय को प्लानिंग बताइ जो वारदात के लिए तैयार हो गया सोनू ने ही वारदात के लिए पुलिस की रेडीमेड वर्दी  मरी माता चौराहा स्थित टेलर की दुकान से खरीदी कार की व्यवस्था के लिए रतलाम के निवासी अरुण पिता कृपाल सिंह बुंदेला को तैयार किया जो अपने ससुर की टाटा जेस्ट कार मांग कर लाया और नियत दिनांक को वारदात के लिए सुबह से ही धामनोद में आ गए बदमाशों को पता था कि पुलिस की वर्दी में होने से लड़ाई झगड़े की नौबत नहीं आएगी इसलिए कोई हथियार नहीं लाए शगुन ज्वेलर्स की दुकान के आसपास वारदात के दो घंटे पहले से तैयार हो गए ही विनय दुकान बंद कर के पीछे अपनी कार लगा दी

माल के साथ लूटा गया  सोना भी जप्त कार भी जप्त

पुलिस ने तीनों आरोपी को गिरफ्तार कर उनके पास से मश्रुका2.10 लाख  रुपए 170 ग्राम सोना  कुल 11 लक्ज रुपए घटना में प्रयुक्त गाड़ी जिसकी कीमत 5 लाख यह भी जप्त किया बताया गया कि बदमाश पूर्व में भी कई घटनाओं को अंजाम दे चुके हैं उपरोक्त सफलता में धामनोद थाने से प्रधान आरक्षक चंचल सिंह चौहान हरिशंकर पण्टेल एसआर मनीष धर्मेंद्र आशीष सचिन प्रभु की विशेष भूमिका रही मार्गदर्शन पुलिस अधीक्षक आदित्य प्रताप सिंह का रहा जिन्होंने घटना का खुलासा करने वाली टीम को पुरस्कृत करने की घोषणा की करवाई संपूर्ण कार्रवाई थाना प्रभारी राजकुमार यादव एसडीओपी मोनिका सिंह के द्वारा की गई

Post a Comment

1 Comments

  1. I was searching for a good topic to research and read, I got this article on your blog, Thank you so much. Check kolkata fatafat

    ReplyDelete