अपहरण कर भाग रहे आरोपियों ने पीछा कर रही पुलिस पर चलाई गोली, टांडा थाना प्रभारी घायल | Apharan kr bhag rhe aropiyo ne pichha kr rhi police pr chalai goli

अपहरण कर भाग रहे आरोपियों ने पीछा कर रही पुलिस पर चलाई गोली, टांडा थाना प्रभारी घायल

अपहरण कर भाग रहे आरोपियों ने पीछा कर रही पुलिस पर चलाई गोली, टांडा थाना प्रभारी घायल

टांडा/धार (यश राठौड़) - कुछ लोगो का अपहरण कर भाग रहे आरोपियों का पीछा कर रहे पुलिस बल पर आरोपियों में से फायरिंग करने से टांडा थाना प्रभारी घायल हो गए।

पुलिस थाना टांडा से प्राप्त जानकारी के अनुसार फरियादी ज्ञानसिंह पिता नानका निवासी पिपरानी ने रिपोर्ट दर्ज कराते हुए बताया कि शुक्रवार की रात करीब 10 बजे आरोपी भुरू पिता ठाकुर निवासी भूतिया अपने 10-15 साथियों के साथ पीकअप वाहन से पहुँचा तथा फरियादी ज्ञानसिंह से कहने लगा कि मेरी पत्नी को तुम्हारे गांव का एक व्यक्ति भगा कर लाया है । वह व्यक्ति व मेरी पत्नी कहा है। इस पर ज्ञानसिंह ने कहा हमे नही पता। इसके बाद आरोपी ने अपने साथियों के साथ उसके  परिवार के मेहरबाई, भूरी, प्यारीबाई, ठुठीया व आशी को पिकअप में बिठा कर अगवा कर भाग गए। इसमे एक 12 माह की बच्च्ची (भूरी) भी है। इसके बाद 100 डायल पर घटना की सूचना दी गई।  टांडा थाना पर सूचना मिलते ही थाना प्रभारी विजय वास्केल अपने बल के साथ रवाना हुए। रास्ते मे जाली मुहाज़ा रोड पर आरोपियों की पिकअप आते हुए देख उसे रोकने का प्रयास किया किन्तु पुलिस गाडी देख आरोपी वाहन भाग ले गये। जिस पर पुलिस ने अपना वाहन पलटा कर उनका पीछा किया। इस दौरान पिकअप ने सवार आरोपियों ने में से एक ने फायरिंग कर दी । गोली पुलिस वाहन के सामने के कांच को भेदती हुई   ड्रायवर के साइड वाली सीट पर बैठे टांडा थाना प्रभारी विजय वास्केल के सीने के बाई तरफ रगड़ लगाते हुए  गाड़ी के साइड तरफ बाड़ी में धंस गई। आत्म ऱक्षार्थ पुलिस द्वारा भी फायरिंग की गई। घटना के बाद  आरोपी फायदा उठा कर अपना वाहन तेज गति से भगा कर ले जाने में सफल हो गए। पुलिस द्वारा अपहरण व पुलिस पर हमला एवं शासकीय कार्य मे बाधा के तहत विभिन्न धाराओं में प्रकरण दर्ज कर जांच में लिया। अपहरत व आरोपियों की तलाश सघनता से की जा रही है । घायल विजय वास्केल का प्राथमिक उपचार के बाद इंदौर रेफर किया गया। जहां वे खतरे से बाहर बताये गए है। घटना की सूचना पर जिला पुलिस अधीक्षक आदित्य प्रतापसिंह, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, कुक्षी एसडीओपी रात में ही मोके पर पहुचे व घटना की पूरी जानकारी ली।

Post a Comment

0 Comments