जिला चिकित्सालय की सिविल सर्जन ने लगवाया पहला टीका | Jila chikitsalay ki civil surgen ne lagwaya pehla tika

जिला चिकित्सालय की सिविल सर्जन ने लगवाया पहला टीका

जिला चिकित्सालय की सिविल सर्जन ने लगवाया पहला टीका

धार (ब्यूरो रिपोर्ट) - कोरोना वायरस संक्रमण हमारी जंग का अंतिम चरण शुरू हो गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रभावी उद्बोधन के बाद में शनिवार को वह शुभ घड़ी आई जब टीका लगना शुरू हुआ । सबसे पहले धार जिला चिकित्सालय सिविल सर्जन डॉक्टर अनुसुइया गवली ने टीका लगाया।

उन्होंने एक दिन पहले ही इस बात की घोषणा कर दी थी कि मैं सबसे पहले यह टीका लगवाना चाहती हूं । ताकि मेरे अधीन जितने भी अधिकारी और कर्मचारी कार्यरत हैं ,वह इस बात को लेकर पूरी तरह से आश्वस्त हो जाएं कि इस टीके में किसी तरह का नुकसान नहीं है। यदि सबसे पहले मुखिया टीका लग जाता है और उसके बाद में अन्य साथी टीका लगाते हैं तो उनको एक भरोसा और विश्वास बढ़ता है ।

उन्होंने कहा कि वास्तव में एक अमृत है । इस टीके का कारण लोगों की जिंदगी बदलेगी उन्होंने कहा कि यह टीका लगने के बाद में हमारे सेवाभावी कर्मचारियों का जज्बा और भी ऊंचाइयों पर रहेगा। इस मौके पर धार विधायक नीना वर्मा भी मौजूद थी। उन्होंने सभी का स्वागत और सम्मान किया ।

उन्होंने कहा कि जिस तरह से हमारे देश के प्रधानमंत्री और वैज्ञानिकों ने मिलकर एक सकारात्मक पहल की है। वह अपने आप में महत्वपूर्ण है। हमारे वैज्ञानिकों ने टीके का विकास किया और उसे एक योजनाबद्ध तरीके से आम लोगों तक पहुंचाने की कोशिश शुरू हो गई। है।

टीका सुबह 9:00 बजे लगने वाला था लेकिन प्रधानमंत्री के भाषण के बाद यह कवायद शुरू हुई । सबसे बड़ी बात यह है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण से सभी और उत्साहित हुए सभी कर्मचारियों का और भी हौसला बढ़ा है । आगे चलकर वे सेवा कार्य में कभी भी पीछे नहीं हटेंगे।

इसके अलावा यहां मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय में कार्यरत ड्राइवर अब्दुल अजीज को टीका लगाया गया। चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी है। लंबे समय से कोरोनावायरस से संक्रमित लोगों को लाने ले जाने के लिए अपनी सेवाएं दे रहे थे । ऐसे में उनको जब यह टीका लगा तो वे खुश हो गए। उन्होंने कहा कि मुझे बेहद खुशी है कि यह टीका मुझे लगाया गया। अब हमारे स्वास्थ्य कर्मचारी और भी आत्मविश्वास के साथ काम कर सकेंगे ।उन्होंने कहा कि मुझे किसी प्रकार की कोई तकलीफ नहीं हुई है।

Post a Comment

0 Comments