प्रदेश में बर्ड फ्लू की 27 जिलों में दस्तक सतना मंडला डिंडोरी सागर और छिंदवाड़ा में हुई पुष्टि | Pradesh main bird flu ki 27 jilo main dastak satna mandla dindori sagar or chhindwara main hui pushti

प्रदेश में बर्ड फ्लू की 27 जिलों में दस्तक सतना मंडला डिंडोरी सागर और छिंदवाड़ा में हुई पुष्टि

आठ और जिलों में संक्रमण

जिस शराब नें 24 जाने ले ली उसमें मिला था मेथेनॉल 

मुरैना शराब कांड फॉरेंसिक जांच में खुलासा

सात देसी मदिरा दुकानों का लाइसेंस 1 दिन के लिए निलंबित

प्रदेश में बर्ड फ्लू की 27 जिलों में दस्तक सतना मंडला डिंडोरी सागर और छिंदवाड़ा में हुई पुष्टि

भोपाल (संतोष जैन) - प्रदेश में बर्ड फ्लू के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं शुक्रवार को 8 नए जिलों में इस वायरस का संक्रमण फैल गया इनमें हरदा बुरहानपुर छिंदवाड़ा डिंडोरी मंडला सागर धार और सतना शामिल हैं इन्हें मिलाकर अब तक 27 जिलों में इसकी पुष्टि हो गई है हरदा के रहटगांव में मुर्गी मैं वायरस मिला है अब यहां 1 किलोमीटर के दायरे में मुर्गियों को मारा जाएगा शेष जिलों में  कौऔ यह पाया गया है इधर जबलपुर कटनी और नरसिंहपुर जिले के सैंपल की रिपोर्ट नेगेटिव आई है सर्वे के सैंपल में बर्ड फ्लू के नए स्ट्रांग-एच5 एन8नाम के वायरस का पता चला है 


जबलपुर कटनी नरसिंहपुर में बर्ड फ्लू की पुष्टि नहीं


 जिस शराब ने 24 जानें ले ली उसमें मिला था मेथेनॉल


 मुरैना शराब कांड फॉरेंसिक जांच में खुलासा


 मुरैना मै जिस जहरीली शराब पीने से 24 लोगों की मौत हो गई उसकी फॉरेंसिक जांच में पता चला कि शराब में मेथेनॉल मिथाइल अल्कोहल में लाया गया था मृतकों के शवों की विसरा रिपोर्ट से साफ हो गया कि शराब में जरीला तत्व मिला था दूसरी ओर एसआईटी अपनी जांच पूरी करके शुक्रवार को भोपाल लौट आई डी आई जी मिथिलेश शुक्ला को मौके पर ही रहने के निर्देश दिए गए हैं फरार मुकेश किरार की गिरफ्तारी के लिए पुलिस के साथ समन्वय करेंगे एसआईटी 17 जनवरी को अपनी रिपोर्ट सरकार को सौंपेगी 


अब नीति बदलेगी बड़े समूह के बजाए छोटे ठेकेदारों को काम देंगे


 बैठक के बाद पत्रकारों से चर्चा में राजौरा और आबकारी आयुक्त  राजीव चंद्र दुबे ने कहा कि शराब नीति में बदलाव कर अगले ठेके छोटे-छोटे समूह में दिए जाने की व्यवस्था के लिए शासन के सामने प्रस्ताव रखा जाएगा इसमें शराब के दामों में कमी आएगी और ठेकेदार अपने क्षेत्रों में मॉनिटरिंग भी कर पाएंगे 


लापरवाह अफसर मुख्यालय ग्वालियर में आयुक्त बैठते हैं भोपाल


 प्रदेश का आबकारी मुख्यालय ग्वालियर में है और आयुक्त को यहीं बैठ कर काम करना चाहिए लेकिन ऐसा नहीं होता अधिकतर भोपाल में ही रहते हैं जिसका नतीजा यह है कि ग्वालियर चंबल संभाग में अधीनस्थ अमला भी बेपरबाय है इसलिए अवैध कारोबारियों के हौसले बुलंद हैं 


सात देसी मदिरा दुकानों का लाइसेंस 1 दिन के लिए निलंबित 



निर्धारित विक्रय मूल्य से अधिक दर पर मदिरा विक्रय के कारण जिले की सात देसी मदिरा दुकानों का लाइसेंस 1 दिन के लिए निलंबित कर दिया गया है सहायक आबकारी आयुक्त कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार देसी मदिरा दुकान अमखेरा और बड़ा पत्थर रांझी का लाइसेंस 18 जनवरी के लिए निलंबित कर दिया है इसी प्रकार 19 जनवरी के लिए देसी मदिरा दुकान शोभापुर व नुनसर का लाइसेंस निलंबित रहेगा जबकि बुधवार 20 जनवरी के लिए देसी मदिरा दुकान सिहोरा राझी और चेरीताल की दुकानों का लाइसेंस निलंबित किया गया है

Post a Comment

0 Comments