विधि व्याख्यान श्रंखला का प्रथम ऑनलाइन वेबीनार संपन्न हुआ | Vidhi vyakhyan shankhla webinar sampann

विधि व्याख्यान श्रंखला का प्रथम ऑनलाइन वेबीनार संपन्न हुआ

       

विधि व्याख्यान श्रंखला का प्रथम ऑनलाइन वेबीनार संपन्न हुआ

इंदौर (राहुल सुखानी) - शासकीय नवीन विधि महाविद्यालय इन्दौर द्वारा स्वामी विवेकानंद कॅरियर मार्गदर्शन के अधीन एक ऑनलाइन वेबीनार का अयोजन दिनांक 12 दिसंबर 2020 को समय शाम 4:00 से  5:30 बजे तक संपन्न किया गया  ।उक्त वेबीनार की अध्यक्षता महाविद्यालय के प्राचार्य, डाॅ इनामुर्रहमान जी द्वारा की गई जिसमें अधिक मात्रा में विधि के क्षेत्र में अपनी सेवाएं प्रदान कर रहे अधिवक्तागण, प्रध्यापकगण एवं विधि क्षेत्र में शिक्षा प्राप्त कर रहे विद्यार्थी एवं शोधकर्तागण उपस्थित थे |

डाॅ इनामुर्रहमान जी द्वारा जानकारी देते हुए बताया की ऑनलाइन  वेबीनार का विषय ‘‘ जमानत से संबंधित विधिक प्रावधान- एक विधिक विष्लेषण ’’ निर्धारित किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे डाॅ.इनामुर्रहमान प्राचार्य द्वारा उद्बोधन में महाविद्यालय   में आयोजित प्रत्येक शनिवार को  होने वाले वेबीनार के महत्व को बताते हुए विद्यार्थियो को बताया गया कि यह व्याख्यान सीरीज  उनके लिये किस प्रकार लाभदायक और ज्ञानवर्द्धक है और एक अधिवक्ता के रूप में सफल होने के लिये सार्वभूत कानून के साथ व्यवहारिक कानून की जानकारी भी आवष्यक है। इस व्याख्यान  श्रंखला में विद्यार्थियों के जुड़ने की आवष्यकता है।इस व्याख्यान श्रंखला में अन्य महाविद्यालयो के विद्यार्थियो को भी महाविद्यालय के सामाजिक उत्तरदायित्व के तहत जोड़ा जाएगा।साथ ही व्यक्ति की स्वतंत्रता और जमानत के संबंध में भी अपने उद्गार व्यक्त किये। ऑनलाइन वेबीनार की समन्वय अधिकारी एवं

राष्ट्रीय सेवा योजना के प्रभारी प्रो.पवन कुमार भदौरिया के द्वारा विधिक ज्ञान के लिये विषिष्ट अतिथि व्याख्याताओं को आनलाईन आमंत्रित करके विद्यार्थियों को सहज तरीके से आनलाईन क्लास उपलब्ध कराई जावेगी। 

उक्त ऑनलाइन वेबीनार  कार्यक्रम में  अतिथि एवं  मुख्य वक्ता के रूप में उपस्थित श्री संजीव जी पाण्डेय (जिला अभियोजन अधिकारी, इन्दौर मध्य प्रदेश) द्वारा दण्ड प्रक्रिया संहिता के प्रावधानों पर चर्चा की गई जिसमें मुख्यतः अध्याय 33 की धारा 436 से लेकर 450 तक पर विवेचना की गई एवं सर्वोच्च न्यायालय  द्वारा उक्त संबंध में पारित मुख्य न्यायिक दृष्टांत पर अतिथि वक्ता द्वारा जानकारी प्रदान की गई।    

कार्यक्रम में उपस्थित अतिथि एवं  मुख्य वक्ता के रूप में उपस्थित श्री संजीव जी पाण्डेय , कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे डाॅ इनामुर्रहमान जी  एवं कार्यक्रम में उपस्थित सम्माननीय अधिवक्तागण ,प्राध्यापकगण एवं विधि क्षेत्र में शिक्षा प्राप्त कर रहे विद्यार्थीगण  का आभार  प्रो.आशीष जी श्रीवास्तव ( अधिवक्ता एवं विधि व्याख्याता) द्वारा  व्यक्त  करते हुए कार्यक्रम का औपचारिक रूप से समापन किया गया |

Post a Comment

0 Comments