बुरहानपुर को बनाएंगे पर्यटन नगरी, भाजपा जिलाध्यक्ष ने की कैबिनेट मंत्री उषा ठाकुर से मुलाकात | Burhanpur ko banaenge paryatan nagri bhajpa jiladhyaksh ne ki cabinet mantri usha mantri

बुरहानपुर को बनाएंगे पर्यटन नगरी, भाजपा जिलाध्यक्ष ने की कैबिनेट मंत्री उषा ठाकुर से मुलाकात

मंत्री ने दिया आश्वासन, बुरहानपुर के विकास के लिए हर संभव करेंगे प्रयास

बुरहानपुर को बनाएंगे पर्यटन नगरी, भाजपा जिलाध्यक्ष ने की कैबिनेट मंत्री उषा ठाकुर से मुलाकात

बुरहानपुर (अमर दिवाने) - प्रदेश की पर्यटन, संस्कृति, अध्यात्म कैबिनेट मंत्री उषा ठाकुर से बुधवार को भाजपा जिलाध्यक्ष मनोज लधवे ने मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने मंत्री को अवगत कराया कि बुरहानपुर एक ऐतिहासिक शहर है। पर्यटन की दृष्टि से शहर को विकसित करने की आवश्यकता है। यहां असीरगढ का किला, शाही किला, शाही जामा मस्जिद, कुंडी भंडारा जैसी सैकडों ऐतिहासिक धरोहरें हैं, जिसे सहजना बहुत आवश्यक है। मंत्री उषा ठाकुर ने जिलाध्यक्ष को आश्वासन दिया कि बुरहानपुर जिले के लिए कार्ययोजना बनाई जाएगी। बुरहानपुर शहर को पर्यटन की दृष्टि से विकसित करने के हरसंभव प्रयास किए जाएंगे।

भाजपा जिलाध्यक्ष मनोज लधवे ने बताया कि बुरहानपुर को पर्यटन की दृष्टि से विकसित करने के लिए विस्तृत योजना बताकर पर्यटन मंत्री को सुझाव दिए गए। असीरगढ़ के किले को ग्वालियर और चित्तौड़गड के किले की तरह विकसित करने का भी सुझाव दिया और मांग पत्र सौंपा गया। साथ ही बताया गया कि बुरहानपुर में कईं ऐसे स्थान हैं जिन्हें पर्यटन की दृष्टि से विकसित किया जाना जरूरी है। इसमें राजा जयसिंह की छत्री, कुंडी भंडारा, शाही किला सहित गोविंदनाथ समाधि स्थल सहित अनेक धर्मों के धार्मिक स्थल भी महत्वपूर्ण हैं। मंत्री को बताया गया कि बुरहानपुर फिलहाल पर्यटन नहीं है, इसके बावजूद यहां देशी-विदेशी पर्यटक काफी संख्या में आते हैं। अगर इसे पर्यटन की दृष्टि से विकसित कर पर्यटन स्थल घोषित किया जाए तो यहां रोजगार के अवसर तो बढेंगे ही साथ ही बाहर से आने वाले पर्यटकों की संख्या में भी इजाफा होगा।

राजघाट पर नौका विहार विकसित करने की मांग

भाजपा जिलाध्यक्ष मनोज लधवे ने पर्यटन मंत्री को सौंपे गए मांग पत्र में कहा कि राजघाट पर नौका विहार किया जा सकता है। इसलिए इसे नौका विहार की दृष्टि से विकसित किया जाए। इसी तरह जैनाबाद पुल के समीप वाटर स्पोर्ट गतिविधियां संचालित की जा सकती है। मंत्री ने कहा कि सभी मांगों पर गंभीरता से अध्ययन कराकर जल्द कोई न कोई निर्णय लिया जाएगा।

Post a Comment

0 Comments