बैक वाटर के 93 दिन बाद जलमग्न शिवालय पानी से उभरे | Back water ke 93 din baad jalmagn shivalay pani se ubhare

बैक वाटर के 93 दिन बाद जलमग्न शिवालय पानी से उभरे

बैक वाटर के 93 दिन बाद जलमग्न शिवालय पानी से उभरे

खलघाट (मुकेश जाधव) - पूर्ण सलिला मॉ नर्मदा के पावन तट से अब धीरे धीरे सरदार सरोवर परियोजना के बैक वाटर का जलस्तर धीरे धीरे कम होता जा रहा है इसके पूर्व नर्मदा नदी में यकायक जल हो जाने के कारण सम्पूर्ण स्नान घाट व शिवालय शीतला मन्दिर इस बैक वाटर से जलमग्न थे जिसमें दूर दराज के कई लोगो को नर्मदा जी की तट पर पूजा अर्चना का दौर चला वही शादी ब्याह के सीजन में दूल्हा दुल्हन को शीतला माता पूजन में काफी दिक्कतें आई है आज यह सरदार सरोवर का पानी शीतला मन्दिर के ठीक पास है और नर्मदा तट के मंदिर पूर्ण रूप से जल से उभर आये है यानी पानी मे पूरे 93 दिन डूबे रहे जिसमे शिवलिंग गणेश पार्वती राम लक्ष्मण हनुमान जी नर्मदा जी की मूर्तियां मन्दिरो में स्थापित थी ओर नर्मदा तट पर कई शिवलिंग भी जलमग्न थे आज इन मंदिर परिसर में पानी है परन्तु दूर दराज से आने वाले श्रद्धालुओं को  नर्मदा स्नान हेतु किसी भी प्रकार की कोई परेशानी नही हो रही है। वही पुजारी कैलाश शर्मा ने बताया कि मंदिर बांध के पानी से डूब जाने के कारण मन्दिर में स्थापित भगवानो की पूजा अर्चना में काफी दिक्कतें आई थी आज बांध के पानी का लेवल कम होने के कारण भगवान की मूर्तियां स्पष्ट व पुनः पूजा अर्चना प्रारंभ की जा रही है। वही इस बैक वाटर के पानी से कुछ मूर्तियो की पॉलिश तथा क्षति भी हुई है।  वही मन्दिर पानी से पूरी तरह उभर आये है पर जिम्मेदार अधिकारी देख भाल के लिए नही पहुंचे। वही सरदार सरोवर परियोजना बैक वाटर के कारण सम्पूर्ण स्नान घाट श्मशान घाट व मन्दिर का नवीन मन्दिर नही बने है जिसकी वजह से लोगो को 93 दिनों तक भगवान के दर्शन हेतु परेशानी होती रही क्षेत्रवासियों की मांग है कि श्मशान घाट स्नान घाट शिवालय शीतला मन्दिर आदि का निर्माण नही हुआ है साथ ही साथ मांग है कि जल्द से जल्द मन्दिर व घाटो का निर्माण होना चाहिए।ताकि बांध के पानी से निजाद मिल सके।

बैक वाटर के 93 दिन बाद जलमग्न शिवालय पानी से उभरे

*क्या कहा अधिकारियों ने*

*1* सरदार सरोवर बैक वाटर के पानी से खलघाट के श्मशान घाट स्नान घाट व शिवालय इन सभी का नवीनी निर्माण हेतु स्टेटमेंट बनाकर इंदौर ओर भोपाल विभाग को पहुँचा चुका है। वही निर्माण पेमेंट कलेक्टर विभाग में जमा है समिति द्वारा जगह चिन्हित का मन्दिर व घाट का निर्माण होगा। 

*गजेंद्र सिंह मंडलोई एनवीडीए एसडीओ धरमपुरी*

Post a Comment

0 Comments