ट्रेन की चपेट में आने से युवक और महिला की मौत | Train ki chapet main aane se yuvak or mahila ki mout

ट्रेन की चपेट में अाने से युवक और महिला की मौत

*तीन दिन से घर नहीं गया था युवक, दो साल पहले हुई थी दोनों की जान पहचान*

रतलाम-झाबुआ (संदीपबरबेटा):- रतलाम शहर के  मुंबई-दिल्ली रेल मार्ग पर वार मंगलवार को ईश्वर नगर रेलवे फाटक व मोरवनी स्टेशन के बीच ट्रेन की चपेट में अाने से एक युवक व महिला की मौत हो गई। दोनों विवाहित थे अौर उनकी पहचान दो साल पहले हुई थी। पति का कहना है कि पत्नी ने युवक को राखी बांध रखी थी अौर उनके बीच राखी-डोरे के संबंध थे। दोनों के ट्रेन से टकराकर खुदकुशी करने की बात सामने अा रही है। खुदकुशी करने का कारण

पता नहीं चला है। दीनदयाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।

पुलिस के अनुसार मंगलवार रात करीब साढ़े दस बजे दोनों के डाउन लाइन किनारे शव पड़े होने की सूचना मिली थी। दोनों थोड़ी-थोड़ी दूर पड़े हुए थे। घटना स्थल की जांच के बाद दोनों के पोस्टमार्टम के लिए शव जिला अस्पताल भिजवाए गए।

दोनों के शव रेल पटरी पर पड़े होने की सूचना तेजी से शहर में फैली। गुरुवार सुबह दोनों के स्वजन जिला अस्पताल पहुंचे अौर युवक के शव की शिनाख्त जीप चालक 38 वर्षीय कैलाश सोलंकी पुत्र शंकरनाथ सोलंकी निवासी मोतीनगर व महिला के शव की शिनाख्त 30 वर्षीय कल्लीबाई पत्नी शांतिलाल निवासी ग्राम रामपुरिया (जामण पाटली) हालमुकाम स्थानीय धीरजशाह नगर के रूप में हुई।

प्राप्त जानकारी के अनुसार दोनों की मौत के कारणों का पता नहीं चला है। दोनों की मौत प्रथम दृष्टया ट्रेन से टकराने से होना प्रतीत होती है। मामले की जांच की जा रही है।

पत्नी व पति ने मोबाइल फोन पर कुछ देर पहले की थी बात

कल्लीबाई के पति शांतिलाल मोरी ने बताया कि दो साल पहले वे पत्नी के साथ कैलाश की जीप में रामदेवरा गए थे। तभी कैलाश से पहचान हुई थी। इसके बाद उसका घर अाना-जाना होता था। दो साल पहले ही कल्लीबाई ने उसे राखी बांधी थी। वह रसोई बनाने का काम करने जाती थी।

अाठ दिन पहले वह उज्जैन जिले के ग्राम बर्डिया (भाटपचलाना) काम करने गया था। रात नौ बजे उसकी पत्नी से मोबाइल फोन पर बात हुई थी अौर उसने कहा था कि वह कल सुबह अा रहा है। उसके साथ क्या घटना हुई, उसे पता नहीं। उसके दो पुत्र व एक पुत्री है।

 प्राप्त जानकारी के अनुसार कैलाश के तीन पुत्री व एक पुत्र है। तीन दिन से वह घर नहीं अाया था। उसकी पत्नी चम्पाबाई की बुधवार शाम करीब अाठ कैलाश से मोबाइल फोन पर बात हुई थी, तब सूरज ने कहा था कि वह थोड़ी देर बाद घर अाएगा।

Post a Comment

0 Comments