पांचवा राष्ट्रीय आयुर्वेद दिवस आयोजित किया गया | Panchva rashtriy ayurved divas ayojit kiya gaya

पांचवा राष्ट्रीय आयुर्वेद दिवस आयोजित किया गया

पांचवा राष्ट्रीय आयुर्वेद दिवस आयोजित किया गया

उज्जैन (रोशन पंकज) - शासकीय धन्वंतरि आयुर्वेद महाविद्यालय में शुक्रवार को पांचवा राष्ट्रीय आयुर्वेद दिवस मनाया गया। कोविड संक्रमण को ध्यान में रखते हुए इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन किया गया। भूतपूर्व प्राचार्य डॉ.डीके खरे ने इस दौरान भगवान धन्वंतरि के मन्दिर में पूजन-अर्चन किया। महाविद्यालय के प्रभारी प्रधानाचार्य डॉ.सतुआ ने बताया कि भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की घोषणा पर प्रतिवर्ष कार्तिक मास की त्रयोदशी तिथि को आयुर्वेद के आदिवैद्य भगवान धन्वंतरि के अवतरण दिवस पर राष्ट्रीय आयुर्वेद दिवस के रूप में मनाया जाता है।


भगवान धन्वंतरि ने संसार को रोगों से बचाने और लोगों के स्वास्थ्य की देखभाल करने का उपाय प्रदान किया है। इस अवसर पर प्रो.डॉ.ओपी व्यास ने कोरोना संक्रमण से बचने के आयुर्वेदिक उपायों के बारे में जानकारी दी। डॉ.जितेन्द्र कुमार जैन ने राष्ट्रीय आयुर्वेद दिवस के महत्व के बारे में जानकारी दी। इस दौरान डॉ.वेदप्रकाश व्यास, डॉ.सुनीता डी.राम, डॉ.अजय कीर्ति जैन, डॉ.नरेश जैन, डॉ.मुकेश गुप्ता, डॉ.शिरोमणि मिश्रा, डॉ.आशीष शर्मा, डॉ.राजेश उईके, डॉ.प्रकाश जोशी एवं समस्त महाविद्यालय के अधिकारी, कर्मचारी तथा बीएएमएस और एमडी के छात्र-छात्राएं उपस्थित थे।

Post a Comment

0 Comments