महापौर पद के लिए होने वाले आरक्षण का इंतजार फिर बिछेगी सियासी बिसात 

दीपावली मिलन के साथ निकाय चुनाव की तैयारी

महापौर पद के लिए होने वाले आरक्षण का इंतजार फिर बिछेगी सियासी बिसात

जबलपुर (संतोष जैन) - दिवाली मिलन के साथ ही नगरी निकाय चुनाव की तैयारी शुरू हो गई है महापौर से लेकर पार्षद बनने का सपना संजोए राजनीतिक दलों के कार्यकर्ता वार्ड स्तर पर हर घर जाकर लोगों से मिल रहे हैं नगर निगम के 79 वार्डों के लिए आरक्षण की प्रक्रिया पूरी हो गई अब सभी को महापौर के आरक्षण का इंतजार है इसके साथ ही नगर निगम चुनाव की सियासी बिसात बिछ जाएगी प्रशासक के हाथों में निगम की बागडोर आई 1 साल पूरा होने को है पूर्व महापौर से लेकर पूर्व पार्षदों का मानना है कि नगर विकास के कार्य ठप हो गए हैं आमजन की सुनवाई नहीं हो रही है लाइट से लेकर पानी की पाइप लाइन लीकेज नहीं सुधर पा रहा है ऐसे में विकास कार्यों को गति देने के लिए नगर में चुने हुए जनप्रतिनिधियों का नेतृत्व आवश्यक है इसके लिए शीघ्र निगम के चुनाव होना चाहिए 


आरक्षण पर टिकी है नजर


 यह मुद्दा गरमा आएंगे


 नगर का पिछड़ापन


 प्रशासन का निरंकुश होना


 नगर का स्वच्छता में बार-बार पिछड़ना 


नर्मदा किनारे भी आए दिन जल संकट 


रोजगार के अवसर ना होना 


स्मार्ट सिटी के विकास कार्यों की सुस्त चाल


 महानगरों के लिए आवश्यक इंफ्रास्ट्रक्चर की कमी