लव जिहाद रोकने वाले कानून का खाका कैसा हो मंथन शुरू | Love jihad rokne wale kanoon ka khaka kesa ho manthan shuru

लव जिहाद रोकने वाले कानून का खाका कैसा हो मंथन शुरू 

अन्य राज्यों के धर्मांतरण संबंधी कानून का भी होगा अध्ययन 

प्रोटेम स्पीकर ने कहा 5 नहीं 10 साल हो सजा का प्रावधान 

लव जिहाद रोकने वाले कानून का खाका कैसा हो मंथन शुरू

भोपाल (संतोष जैन) - प्रदेश में लव जिहाद पर बनने वाले कानून पर सियासत गरमा गई है इस कानून को और सख्त बनाने के लिए दूसरे राज्यों के कानून का अध्ययन किया जाएगा वहीं प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा ने कानून में सजा का प्रावधान पांच की बजाय 10 साल करने की मांग की है दूसरी ओर राज्य सरकार ने कानून के ड्राफ्ट को विधि विभाग के जरिए फुलप्रूफ बनाने के लिए भी कदम उठाना शुरू कर दिए हैं विधानसभा के प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा ने कानून के नियम सख्त बनाने की मांग को लेकर अन्य सुविधाएं भी खत्म की जानी चाहिए


 कांग्रेस विधायक लक्ष्मण सिंह ने किया समर्थन


 लक्ष्मण सिंह ने ट्वीट कर कहा कि बलपूर्वक विवाह करना और बलपूर्वक धर्म परिवर्तन के खिलाफ कानून बन रहा है जो लोग ऐसा नहीं करते उन्हें इस कानून से डरने की क्या आवश्यकता है वहीं पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने कहा कि इस कानून की कोई जरूरत ही नहीं है पहले से ही ऐसे कानून मौजूद हैं उनके पालन कराने की जरूरत है


 जिहाद शब्द का इस्तेमाल गलत 


 मध्यप्रदेश जमीयत उलेमा ए हिंद के अध्यक्ष हाजी हारून ने जिहाद शब्द पर आपत्ति जताई है उनका कहना है जिहाद का प्यार से कोई ताल्लुक नहीं है जिहाद का मतलब होता है किसी अच्छे काम के लिए कोशिश करना बुराई को दूर करना यानी जिहाद ऐसे में इस तरह के शब्दों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए

Post a Comment

0 Comments