भिक्षावृत्ति करते हैं सैकड़ों बच्चे आंगनबाड़ी में सिर्फ 38 दर्ज | Bhikshavratti karte hai sekdo bachche anganwadi main sirf 38 darj

भिक्षावृत्ति करते हैं सैकड़ों बच्चे आंगनबाड़ी में सिर्फ 38 दर्ज 

जुलाई के बाद नहीं चलाया गया अभियान 

भिक्षावृत्ति करते हैं सैकड़ों बच्चे आंगनबाड़ी में सिर्फ 38 दर्ज

जबलपुर (संतोष जैन) - भिक्षावृत्ति करने वालों की संख्या जिले में तेजी से बढ़ रही है कोई चौराहा या बाजार नहीं जहां पुरुष व महिलाएं भिक्षावृत्ति नहीं करती हो इसमें सैकड़ों की तादाद में बच्चे भी शामिल हैं प्रशासन ने ऐसे बच्चों को चिन्हित कर उनका दाखिला क्षेत्र की आंगनवाड़ी में करने के लिए कहा है लेकिन इस दिशा में कोई बेहतर काम नहीं हो रहा स्थिति यह है कि जिले की सभी आंगनबाड़ियों में भिक्षावृत्ति करने वाले 38 बच्चे ही पंजीकृत हैं जिले में जुलाई माह में महिला एवं बाल विकास में अलग-अलग विभागों के सहयोग से अभियान चला 38 बच्चों को का पंजीयन आंगनगाड़ियों में कराया था इस मामले में गोसलपुर और सोनतलाई क्षेत्र के 4 अभिभावकों पर एफ आई आर भी की गई लेकिन यह अभियान लगातार नहीं चल पाया शहर के कई क्षेत्रों शहर के कई बाजार रेस्टोरेंट माल चौराहा शोरूम के आसपास बड़ी संख्या में अभिभावक खुद और अपने बच्चों से भिक्षावृत्ति करवाते हैं


 आंगनबाड़ियों में यह सुविधा है 


आंगनबाड़ियों में 6 वर्ष से कम उम्र के इन बच्चों को समाज की मुख्यधारा से जोड़ने के साथ ही पोषण आहार की सुविधा दी जाती है सुबह उन्हें नाश्ता और दोपहर का भोजन मिलता है

Post a Comment

0 Comments