परिजन मर्जी के खिलाफ कर रहे थे शादी, मामला प्रेम प्रसंग का | Parijan marzi ke khilaf kr rhe the shadi

परिजन मर्जी के खिलाफ कर रहे थे शादी, मामला प्रेम प्रसंग का

परिजन मर्जी के खिलाफ कर रहे थे शादी, मामला प्रेम प्रसंग का

उज्जैन (रोशन पंकज) - अर्चना परिसर में रहने वाली 18 वर्षीय युवती ने पांच पेज का सुसाइड नोट लिखा और दुपट्टे से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। नीलगंगा पुलिस ने शव बरामद कर पीएम के लिये जिला चिकित्सालय पहुंचाया व जांच शुरू की है। राधिका पिता कालू प्रजापत (18 वर्ष) निवासी अर्चना परिसर रात में भोजन के बाद अपने दादा गिरधारी प्रजापत के पास सोई थी।

सुबह उसकी छोटी बहन निकिता ने राधिका को फांसी पर लटका देखा और परिजनों को सूचना दी। नीलगंगा पुलिस सुबह करीब 5.40 पर राधिका के घर पहुंची शव को फंदे से उतारकर पीएम के लिये जिला चिकित्सालय भिजवाया। यहां से पुलिस ने 5 पेज का एक सुसाइड नोट बरामद किया जिसमें राधिका ने लिखा कि परिवारजन मर्जी के खिलाफ दूसरी जगह शादी कर रहे हैं, जबकि युवती के पिता कालू प्रजापत ने बताया कि समाज में आयोजित एक कार्यक्रम में गये थे जहां देवास के परिवार के युवक से शादी की चर्चा हुई थी। 15 दिन बाद लड़के वाले घर पर लड़की देखने आने वाले थे। शादी पक्की नहीं हुई थी।

Post a Comment

0 Comments