माता के भक्तों को जब भक्ति का रस लग जाये, तो झुमने को कोई नहीं रोक पाता है | Mata ke bhakto ko jab bhakti ka ras lag jaye to jhumne kokoi nhi rok

माता के भक्तों को जब भक्ति का रस लग जाये, तो झुमने को कोई नहीं रोक पाता है

छिंदवाड़ा (गयाप्रसाद सोनी) -  कहते हैं कि माता रानी की भक्ति ऐसी होती हैं की भक्त को जब भी कोई संकट आये ,तो सब संकट का हरण मां दुर्गा ही करती है,आज भी ग्रामीण अंचल में देवी जस का आयोजन बड़े ही जोर शोर से होता है,ढोलक, मजिंरा, खजंरी, खरताल ,ढेहकी,बेनजो, की ताल पर जो जस गायन होता है, देखने वाले और सुनने वाले दर्शकों का भी मन तिरक पड़ता है,और एक से बढ़कर एक देवी जस का गायन किया जा रहा है,जहां हिन्दु और मुस्लिम भाई मिलकर मां की भक्ति में लीन होकर जस गायन कर रहे हैं, वहीं रसुल मियां ने *माई,,केवल दर्शन मांई के हो मां हो मां* सुनने वाले मां के जस दर्शकों का मन मोह लिया।

Post a Comment

0 Comments