नपा द्वारा सोमवार को पुराने दशहरा मैदान पर मात्र 10 फीट के रावण के पुतले का होगा दहन | NP dvara somwar ko purane dashhara maidan pr matr 10 fit

नपा द्वारा सोमवार को पुराने दशहरा मैदान पर मात्र 10 फीट के रावण के पुतले का होगा दहन

नपा ने नगर में असमंजस स्थिति का किया खुलासा

नपा द्वारा सोमवार को पुराने दशहरा मैदान पर मात्र 10 फीट के रावण के पुतले का होगा दहन

अलीराजपुर। (रफीक क़ुरैशी) - नगर में इस बार दशहरा पर्व मनाने को लेकर नगर में असमंजस ओर भृम की स्थिति निर्मित हो गई। नगर के चौराहों पर जनचर्चा चल रही थी कि  कुछ लोग दशहरा पर्व रविवार को मनाने का बोल रहे तो कुछ लोग दशहरा सोमवार को मनाने की बात कर रहे है। जानकारी के अनुसार नवरात्रि पर्व के चलते धार्मिक प्रकिया के अनुसार नवमी ओर दशमी रविवार को एक साथ मनाए जाने की बात सामने आई थी। जिसके चलते कुछ लोगो द्वारा रविवार को दशहरा पर्व मनाने की बात कही गई। 

हालांकि जिला प्रशासन की तरफ से अभी तक  दशहरा पर्व की तिथि ओर दिन को लेकर कोई अधिकृत घोषणा नही की गई। परंतु स्थानीय नगरपालिका परिषद ने 

दशहरा पर्व ओर रावण दहन सोमवार को मनाए जाने की घोषणा की। इस बार कोरोना की वजह से शासन की गाइड लाइन के अनुसार मात्र 50 लोगों की उपस्थिति में उमराली रोड स्थित पुराने दशहरे मैदान पर मात्र 10 फुट के रावण के पुतले का दहन सोमवार 26 अक्टूबर शाम को 6:30 बजे होगा। नपा अध्यक्ष सेना पटेल ने बताया कि शासन की गाइड लाइन के अनुसार नगर पालिका द्वारा दशहरे पर्व का आयोजन परंपरा अनुसार किया जाएगा। जिसके लिए नगर पालिका की ओर से मात्र 10 फीट के रावण के पुतले का दहन होगा। प्रदेश सरकार के गृह विभाग द्वारा नवरात्रि व दशहरा पर्व के लिए जो गाइडलाइन व निर्देश दिए गए हैं। उसका पालन दशहरा पर्व में पूरी तरह से किया जाएगा। नपा अध्यक्ष श्रीमती पटेल ने सभी नगरवासियों से अपील की है कि कोरोनावायरस काल की वजह से इस बार दशहरा पर्व पर रावण पुतला दहन देखने के लिए नागरिकगण भीड़ लेकर नहीं आवे। इस बार औपचारिक तौर पर दशहरा पर्व परंपरा निर्वहन के लिए मनाया जा रहा है जिसका पालन सभी नगर वासी करें।

*अपने घर मोहल्ले में मनाए दशहरा*

नपाध्यक्ष श्रीमती पटेल ने सभी नगर वासियों से अपील की है कि दशहरा पर्व अपने घर वह मोहल्ले में ही मनाएं और पर्व की परंपराओं का पालन करें क्योंकि कोरोना की वजह से शासन की गाइड लाइन दशहरा पर्व के लिए जारी की गई है इसलिए दशहरा मैदान रावण दहन स्थल पर कोई भी नागरिक नहीं पहुंचे।

Post a Comment

0 Comments