अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद जिला महू ने IUMS प्रणाली के विरोध में दिया राज्यपाल के नाम ज्ञापन | Akhil bhartiya vidhyarthi parishad jila mahu ne IUMS pranali

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद जिला महू ने IUMS प्रणाली के विरोध में दिया राज्यपाल के नाम ज्ञापन

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद जिला महू ने IUMS प्रणाली के विरोध में दिया राज्यपाल के नाम ज्ञापन

पीथमपु (प्रदीप द्विवेदी) - पीथमपुर  17 अक्टूबर  शनिवार को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद जिला महू द्वारा जिला संयोजक डॉ० हिमांशु प्रताप सिंह के नेतृत्व में एकीकृत विश्वविद्यालय प्रबंधन प्रणाली (IUMS) को निरस्त करने के संबंध में SDM महू श्री अभिलाष मिश्र को राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा।

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद जिला महू ने IUMS प्रणाली के विरोध में दिया राज्यपाल के नाम ज्ञापन

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के जिला संयोजक डॉ० हिमांशु ने बताया कि मध्यप्रदेश में सभी 21 शासकीय विश्वविद्यालयों की कार्यप्रणाली को डिजिटल मोड ऑटोमेशन में लाने के उद्देश्य से एकीकृत विश्वविद्यालय प्रबंधन प्रणाली लागू की जा रही है। इस प्रणाली के माध्यम से प्रदेश के 24 लाख विद्यार्थियों का अकादमी डाटा, विश्व विद्यालय के समस्त कर्मचारी और प्राध्यापकों का रिकॉर्ड एक ही प्लेटफार्म पर एकत्रित होगा। साथ ही विश्वविद्यालय की दिन प्रतिदिन की गतिविधियां परीक्षा नियंत्रक सिस्टम और अकाउंट भी इसके दायरे में आ जाएंगे।

 अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद का यह मानना है कि विश्वविद्यालय की गतिविधियों का डिजिटल मोड में लाना और ऑटोमेशन किया जाना एक स्वागत योग्य कदम है लेकिन जिस तरीके से आईयूएमएस क्रियान्वित किया जा रहा है तथा विद्यार्थियों और विश्वविद्यालय प्रशासन से संबंधित सभी गतिविधियों को नियंत्रण करने के उद्देश्य से सभी तरह की सूचनाओं को एक ही प्लेटफार्म पर केंद्रित किया जा रहा है ,इसे लेकर सवाल खड़े हो गए हैं, इस प्रणाली के कारण कई विसंगतियां पैदा होंगी।  विश्वविद्यालय की व्यवस्था प्रभावित होगी। सर्वाधिक महत्वपूर्ण है कि यह प्रणाली शिक्षा नीति की मूल भावना के विपरीत है।

जिसमें अभाविप के नगर मंत्री प्रशांत करोसिया ने बताया कि सभी विश्वविद्यालयों की व्यवस्था को केंद्रित करना, सूचनाओं को एक ही जगह एकत्रित करना अव्यवहारिक और अनावश्यक कदम है। इसमें डाटा हैकिंग से संबंधित कई बड़े खतरे हैं एवं मध्य प्रदेश विश्वविद्यालय अधिनियम 1973 के सभी विश्वविद्यालय अकादमी और प्रशासनिक व्यवस्थाओं के दृष्टिकोण से स्वायत्त इकाई है।  प्रदर्शन में दीपेश्वर चौहान, राजा जी चावड़ा, रजत जाट, हिमांशु द्विवेदी, अंकित स्वामी, जुगल किशोर, मनीष जरिया, सौरभ गुप्ता, नमन दुबे, अनुज जायसवाल, दुर्गेश धीमान, हितेश कदम, अभय शर्मा, संदीप भाभर सहित पूरे जिले की इकाइयों से प्रमुख कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Post a Comment

0 Comments