मातृ एवं शिशु टीकाकरण रजिस्टर में इन्द्राज व्यवस्थित न होने के कारण बीएमओ डॉ.अर्गल का 7 दिवस का वेतन काटने के निर्देश | Matr evam shishu tikakaran register main indraj vyavasthit na hone ke karn BMO

मातृ एवं शिशु टीकाकरण रजिस्टर में इन्द्राज व्यवस्थित न होने के कारण बीएमओ डॉ.अर्गल का 7 दिवस का वेतन काटने के निर्देश


कलेक्टर ने ग्राम चौपाल लगाकर किसानों एवं ग्रामीणों से समस्याओं को जाना एवं उनका निराकरण करने का आश्वासन दिया

मातृ एवं शिशु टीकाकरण रजिस्टर में इन्द्राज व्यवस्थित न होने के कारण बीएमओ डॉ.अर्गल का 7 दिवस का वेतन काटने के निर्देश

उज्जैन (रोशन पंकज) - कलेक्टर श्री आशीष सिंह ने आज उज्जैन जिले की बड़नगर तहसील के दो ग्रामों में ग्राम चौपाल लगाकर किसानों एवं ग्रामीणों से चर्चा कर उनकी समस्याओं को जाना और उनका निराकरण करने का आश्वासन दिया। ग्राम चौपाल बड़नगर तहसील के ग्राम मौलाना एवं आमला फोर्ट में लगाई गई थी। सर्वप्रथम कलेक्टर ने ग्राम मौलाना में ग्राम चौपाल में किसानों से सोयाबीन कटाई, वर्षा के कारण खराब हुई फसलों की जानकारी प्राप्त की। किसानों ने कलेक्टर को अवगत कराया कि इस बार सोयाबीन की फसल खराब हुई है और उत्पादन कम हुआ है। किसानों से फसल बीमा की राशि के बारे में भी जानकारी प्राप्त की। किसानों ने अवगत कराया कि अभी उन्हें राशि नहीं मिली है। कलेक्टर ने आश्वस्त किया कि उन्हें शीघ्र फसल बीमा की राशि मिलेगी।

मातृ एवं शिशु टीकाकरण रजिस्टर में इन्द्राज व्यवस्थित न होने के कारण बीएमओ डॉ.अर्गल का 7 दिवस का वेतन काटने के निर्देश

ग्रम चौपाल मौलाना में कलेक्टर ने किसानों से यूरिया की स्थिति भी जानी। किसानों ने मांग की कि उन्हें जल्द यूरिया उपलब्ध कराया जाये, ताकि वर्तमान में किसानों के द्वारा बोई जा रही मटर की फसल में काम आ सके। कलेक्टर ने किसानों को आश्वस्त किया कि यूरिया की जैसे ही रैक आयेगी, उसी समय किसानों को यूरिया उपलब्ध कराया जायेगा। कलेक्टर ने किसानों से कहा कि वे यूरिया वितरण में सहयोग प्रदान करें। कलेक्टर ने किसानों से मृदा परीक्षण के बारे में भी जानकारी प्राप्त की। जो किसान मृदा परीक्षण कराना चाहते हैं वे सम्बन्धित अधिकारी से परीक्षण करवायें, ताकि फसल का उत्पादन और अच्छा हो सके। नामांतरण, बंटवारे के बारे में भी जानकारी प्राप्त की और किसानों से कहा कि नामांतरण, बंटवारा, फौती बंटवारा आदि में किसी प्रकार की कठिनाई आने पर सम्बन्धित अनुविभागीय अधिकारी को अवगत कराया जाये। बंटवारा होने पर शासन की योजनाओं का लाभ भी मिलता है। ग्राम चौपाल में कलेक्टर को कृषक ने अवगत कराया कि केन्द्र सरकार की योजना अन्तर्गत दुग्ध उत्पादन हेतु बैंक ऑफ इण्डिया से ऋण लेने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है और बैंक अधिकारी-कर्मचारियों का व्यवहार ठीक न होने के कारण समय पर काम नहीं होते हैं। कलेक्टर ने बड़नगर एसडीएम को निर्देश दिये कि सम्बन्धित के विरूद्ध आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित की जाये। इसी तरह कलेक्टर ने स्वास्थ्य के बारे में भी जानकारी प्राप्त की।

मातृ एवं शिशु टीकाकरण रजिस्टर में इन्द्राज व्यवस्थित न होने के कारण बीएमओ डॉ.अर्गल का 7 दिवस का वेतन काटने के निर्देश

मातृ एवं शिशु टीकाकरण रजिस्टर में टीकाकरण सम्बन्धी इन्द्राज व्यवस्थित न होने के कारण बीएमओ का 7 दिवस का वेतन काटने के निर्देश


ग्राम चौपाल के बाद कलेक्टर ने मौलाना में आंगनवाड़ी केन्द्र क्रमांक-1 का निरीक्षण किया। बड़नगर एसडीएम डॉ.योगेश भट्टसर के द्वारा ‘आजादी कुपोषण से’ अभियान चलाया जा रहा है। कलेक्टर ने इस सम्बन्ध में भी कुपोषित बच्चों की जानकारी प्राप्त की। उन्होंने मातृ एवं शिशु टीकाकरण रजिस्टर का भी बारीकी से निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान रजिस्टर में सही तरीके से मातृ एवं शिशु का इन्द्राज नहीं करने पर नाराजगी प्रकट करते हुए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.महावीर खंडेलवाल को मौखिक आदेश देते हुए कहा कि सम्बन्धित बीएमओ डॉ.प्रमोद अर्गल का सात दिवस का वेतन काटा जाये। कलेक्टर ने एएनएम श्रीमती शोदरा परमार को भी आवश्यक निर्देश देते हुए कहा कि रजिस्टर में मातृ एवं शिशु का इन्द्राज सही किया जाये। कलेक्टर ने सीएमएचओ एवं बीएमओ को निर्देश दिये हैं कि वह समय-समय पर आंगनवाड़ियों एवं अस्पतालों का निरीक्षण करें और व्यवस्थाओं को सुधारा जाये।


कलेक्टर ने ग्राम मौलाना के बाद आमला फोर्ट में मन्दिर परिसर में ग्राम चौपाल आयोजित कर ग्रामीणों एवं किसानों से चर्चा की। यूरिया का वर्तमान में संकट है, उसे दूर करवाया जायेगा। इस सम्बन्ध में कलेक्टर ने सहकारिता विभाग के अधिकारी को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये हैं। ग्राम चौपाल में बताया गया कि बुवाई के बाद रबी फसल बीमा के लिये शिविर आयोजित कराये जायेंगे। कलेक्टर ने आमला फोर्ट में सर्वप्रथम उप स्वास्थ्य केन्द्र एवं आंगनवाड़ी केन्द्र का निरीक्षण कर सम्बन्धितों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। आंगनवाड़ी केन्द्र में उपस्थित कुपोषित बच्चों की माताओं एवं आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका एवं महिला बाल विकास विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों से चर्चा कर आवश्यक निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि कुपोषण को समाप्त करना है, इस पर विशेष ध्यान दिया जाये। ग्रामीणों ने यूरिया, पेयजल, बायपास रोड, बिजली, हाईस्कूल भवन आदि की समस्याएं बताई। कलेक्टर ने इस सम्बन्ध में सम्बन्धित अधिकारियों को समस्याओं का समाधान करने के लिये दिशा-निर्देश दिये।


ग्राम चौपाल में जिला पंचायत सीईओ श्री अंकित अस्थाना, एसडीएम बड़नगर डॉ.योगेश भट्टसर, महिला बाल विकास, उद्यान, कृषि, पशुपालन, जल संसाधन, पीएचई, एमपीईबी, स्वास्थ्य, पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग आदि के अधिकारीगण उपस्थित थे।

Comments

Popular posts from this blog

पंचायत सचिवों को मिलने जा रही है बड़ी सौगात, चंद दिनों का और इंतजार intjar Aajtak24 News