संगीतकार, साउंड एसोसिएसन, टैंट, बैंड पार्टी, मूर्तिकार संघ ने सौपा ज्ञापन | Sangeetkar soud association tent band party murtikar sangh ne sipa gyapan

संगीतकार, साउंड एसोसिएसन, टैंट, बैंड पार्टी, मूर्तिकार संघ ने सौपा ज्ञापन

संगीतकार, साउंड एसोसिएसन, टैंट, बैंड पार्टी, मूर्तिकार संघ ने सौपा ज्ञापन

जुन्नारदेव (मनेश साहू) - नवरात्र में धार्मिक एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों में 100 लोगों से अधिक की अनुमति दिये जाने के लिए। बीते मार्च माह से कोरोना संक्रमण का प्रकोप जारी है ऐसे में सबसे भारी नुकसान डीजे संचालक, टैंट संचाल, संगीतकार, बैण्ड पार्टी वाले, लाईटिंग वालों सहित गायक कलाकारों को उठाना पड़ा है जिनके सामने रोजी रोटी का संकट लगातार गहरा गया है। आगामी दिनों में नवरात्रि पर्व के मद्देनजर अब ये सभी एक हो गये है और शासन प्रषासन द्वारा बीते दिनों सांस्कृतिक व धार्मिक कार्यक्रम आयोजन के दौरान शासन द्वारा सीमित संख्या में आयोजन की अनुमति प्रदान की गयी थी। इस समस्त ऐसोषिएषन द्वारा नवरात्र में आयोजित कार्यक्रमों के दौरान संख्या 100 से अधिक बढ़ाये जाने की मांग का ज्ञापन स्थानीय जुन्नारदेव थाना परिसर में जिला कलेक्टर के नाम से अनुविभागीय अधिकारी राजस्व जुन्नारदेव को सौपा गया। सौपे गये ज्ञापन में कहां गया है कि ये समस्त सीजन का व्यवसाय करने वाले लोग गरीब परिवार से संबंध रखते है। इन सभी कार्यक्रमों के माध्यम से ही ये अपने परिवार का भरण-पोषण कर पाते है। हाल ही में कोविड 19 हेतु ग्रह मंत्रालय भारत सरकार द्वारा नई गाईडलाइन जारी की गयी है जिसमें उक्त कार्यक्रमों के लिए 100 व्यक्तियों की अनुमति दी गई है ऐसे में किसी भी प्रकार के आयोजन कराने में सक्षम नहीं है कम से कम 500 लोगों की अनुमति दिये जाने की मांग इनके द्वारा की गयी है जिससे कलाकारों का आय का स्त्रोत संभव हो सके और आयोजक समितियां कार्यक्रम करा सके। नवरात्रि में पंडालां पर सावर्जनिक मूर्ती स्थापना करने की अनुमति के साथ वर्तमान स्थिति में कोविड-19 को देखते हुये सभी संबंधित संघ सरकार के नियमों का पालन करते हुये आयोजन करेंगे।

राजनीतिक दलों की रैली और आमसभा शुरू फिर *गरीबों का क्यो हो रहा शोषण

ज्ञापन में समस्त संगठनों द्वारा कहां गया कि प्रतिदिन मीडिया के माध्यम से देखने को मिल रहा है कि प्रत्येक राजनीतिक दलों के द्वारा बड़े-बड़े आमसभा और बैठक, रैली जैसे कार्यक्रम किये जा रहा है। नियम में सभी के लिए समानता होनी चाहिए। इसी को दृष्टिगत रखते हुये सभी गरीब संगठन के लोगों की आर्थिक और पारीवारिक दयनीय स्थिति के मद्देनजर आगामी नवरात्र पर्व पर समस्त संगठनों के लोगों की इस मांग को पूरी करते हुये लोगों की संख्या 100 से बढ़ाकर 500 करे जाने की अनुमति प्रदाय की जाये। ज्ञापन सौपने के दौरान समस्त संगीतकार, साउंड एसोसिएषन, टैंट, बैंड पार्टी, मूर्तिकार सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

Post a Comment

0 Comments