कृषि विधेयक किसानों के लिए बड़ी सौगात, कांग्रेस का विरोध दोगली मानसिकता का परिचायक - भाजपा जिलाध्यक्ष ठकराला | Krishi vidheyak kisano ke liye badi sougat

कृषि विधेयक किसानों के लिए बड़ी सौगात, कांग्रेस का विरोध दोगली मानसिकता का परिचायक - भाजपा जिलाध्यक्ष ठकराला

कृषि विधेयक किसानों के लिए बड़ी सौगात, कांग्रेस का विरोध दोगली मानसिकता का परिचायक - भाजपा जिलाध्यक्ष ठकराला

अलीराजपुर। (रफीक क़ुरैशी)  - केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा हाल ही में किसानों के हित में जो कृषि विधेयक पास किया है वह किसानों की दशा एवं दिशा बदलने का काम करेगा। आजादी के 70 वर्षो से किसान बदहाल स्थिति में जीवन जीने को मजबूर था,0लेकिन वर्ष २०१४ में जब से मोदी सरकार ने कार्यभार संभाला किसानों की आय किस तरह से बढ़े एवं किसानों के जीवन स्तर में किस तरह से व्यापक बदलाव हो यह सोचकर किसान हित में नीति निर्धारित करने का कार्य किया जा रहा है। २०१९ के बाद जैसे ही राज्यसभा में भाजपा के पास पूर्ण बहुमत आया मोदी सरकार द्वारा तत्काल किसानों के हित में कृषि संसोधन विधेयक बील पास किया गया है जो कि एक ऐतिहासिक कदम है हम सरकार के इस कार्य की सराहना करते है साथ ही विपक्ष खासकर कांग्रेस पार्टी द्वारा जिस प्रकार से किसानों को भ्रमित करने का कार्य किया जा रहा है वह उसकी दोगली मानसिकता को ही दर्शाता है। यह बात भाजपा जिलाध्यक्ष वकीलसिंह ठकराला ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए कहीं।

प्रेस विज्ञप्ति में भाजपा जिलाध्यक्ष वकीलसिंह ठकराला ने बताया कि केंद्र सरकार द्वारा कृषि उपज व्यापार और वाणिज्य संर्वधन सरलीकरण विधेयक के माध्यम से किसानों की आर्थिक स्थिति को मजबुत करने का काम किया है। आजादी के बाद से प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के जमाने से किसान अपनी उपज को मंडी में चिन्हित व्यापारियों को बेचने के लिए विवश था जिस कारण किसान इन व्यापारियों के चुंगल में फसकर अपनी फसल को ओने पोने दाम में बेच देता था साथ ही फसल बेचने के लिए लंबी कतारो में खड़ा रहकर दिनभर व्यापारी का इंतजार करता था कि किसी तरह से मंडी व्यापारी द्वारा उसकी फसल को खरीद लिया जाए। लेकिन आज इस बील के माध्यम से किसान बाजार में अपनी फसल को बेचने के लिए स्वतंत्र होगा। साथ ही जिस प्रकार का कमीशन का खेल मंडी के माध्यम से खेला जाता था उससे भी किसानों को मुक्ति मिली है। श्री ठकराला ने बताया कि कांग्रेस के शासनकाल में प्रति बजट 12 हजार करोड़ रूपए था जिसे बढ़ाते हुए मोदी सरकार द्वारा 1 लाख 34 हजार रूपए कर दिया गया। साथ ही फसल का न्यूनतम समर्थन मूल्य भी मोदी सरकार द्वारा बढ़ाया गया है। वर्तमान में राजनीति उददेश्यों में पूर्ण रूप से विफल कांग्रेस पार्टी द्वारा जिस प्रकार से विघटनकारी राजनीति करते हुए अच्छे फेसलो का भी विरोध किया जा रहा है। उसे जनता अच्छी तरह से समझती है और आने वाले समय में जनता जवाब देंगी। इस अवसर पर  भाजपा नगर मंडल अध्यक्ष रिंकेश तवर, सोंडवा मंडल अध्यक्ष जयपालसिंह खरत मौजूद थे।

Post a Comment

0 Comments