जयस ने मंत्री ऊषा ठाकुर का जगह-जगह फूंका पुतला, एफआईआर को लेकर जिलेभर में ज्ञापन सोपे गए | Jays ne mantri usha thakur ka jagah jagah fuka putla

जयस ने मंत्री ऊषा ठाकुर का जगह-जगह फूंका पुतला, एफआईआर को लेकर जिलेभर में ज्ञापन सोपे गए

जयस ने मंत्री ऊषा ठाकुर का जगह-जगह फूंका पुतला, एफआईआर को लेकर जिलेभर में ज्ञापन सोपे गए

अलीराजपुर। (रफीक क़ुरैशी) - प्रदेश की संस्क्रति ओर पर्यावरण मंत्री ऊषा ठाकुर के खिलाफ आदिवासी बाहुल्य जिले में सोमवार को जयस संगठन ने मंत्री ऊषा ठाकुर का पुतला दहन कर उनके खिलाफ  एफआईआर दर्ज करने की मांग को लेकर एक ज्ञापन एसडीओपी धीरज बब्बर एवं थाना प्रभारी दिनेशचन्द्र सोलंकी को सोपा गया। इस अवसर पर जयस के कार्यकर्ताओं ने मंत्री ठाकुर के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की। इसके अलावा जिले के आजाद नगर, जोबट, नानपुर, सोंडवा में भी मंत्री का पुतला फूंका गया ओर सम्बंधित अधिकारीयो को अलग-अलग स्थानों पर विरोधस्वरूप ज्ञापन सोपे गए। 

जयस ने मंत्री ऊषा ठाकुर का जगह-जगह फूंका पुतला, एफआईआर को लेकर जिलेभर में ज्ञापन सोपे गए

*बेलगाम मंत्री पर एफआईआर दर्ज हो*

उल्लेखनीय है कि विगत दिनों महू में एक कार्यक्रम के दौरान मंत्री ऊषा ठाकुर ने जयस संगठन को देशद्रोही बताया था और संगठन के खिलाफ कार्यवाही की बात भी कही थी। मंत्री ऊषा ठाकुर के विवादित बयान के मामले को लेकर आदिवासी समाज मे व्यापक आक्रोश हो गया, विरोधस्वरूप जयस द्वारा मंत्री ठाकुर का जगह-जगह खुलकर विरोध किया जा रहा है।  इसी कड़ी में आदिवासी इस बाहुल्य अलीराजपुर जिले में सोमवार को जयस संगठन ने विरोध स्वरूप जमकर नारेबाजी करते हुवे मंत्री ऊषा ठाकुर का पुतला दहन किया। इस दौरान जयस के प्रदेश प्रभारी मुकेश रावत, जिलाध्यक्ष विक्रमसिंह चौहान , जिला उपाध्यक्ष अरविंद कनेश ने बताया कि मंत्री ठाकुर के जयस संगठन को लेकर जो विवादित बयान दिया है, हम उसकी घोर निंदा करते है। मंत्री उषा ठाकुर जो खुद अपने वाहन में उल्टा तिरंगा लिए मप्र में घूमते रहती है, उसके खिलाफ राष्ट्रविरोधी का मामला दर्ज होना चाहिए। उन्होंने बताया कि प्रदेश की मंत्री ठाकुर जयस संगठन को देशद्रोही  बताकर आदिवासी कार्यकर्ताओं के विरुद्ध लोगों को भड़काकर अशांति फैलाकर राष्ट्र की एकता अखंडता को नष्ट करने का प्रयास कर रही है। देश के आखिरी पंक्ति में खड़े आदिवासी की भावनाओं को आह्वान करने पर मंत्री ठाकुर के खिलाफ अनुसूचित जाति जनजाति अत्याचार निराकरण अधिनियम के तहत तत्काल एफआईआर दर्ज की जाए। जयस ने प्रशासन को चेतावनी देते हुवे कहा कि आगामी दिनो में मंत्री ठाकुर के खिलाफ कार्रवाई नहीं होती है तो संगठन आंदोलन के लिए बाध्य रहेगा। जिसकी समस्त जिम्मेदारी प्रशासन की रहेगी। इस अवसर पर जयस के सर्वश्री नवलसिंह मंडलोई, सालम सोलंकी, गुड्डू सेमलिया, विक्रम कनेश, दिनेश चौहान, विजय कनेश, प्रेमसिंह लोहारिया, उमेश खरत, जुवान किराड़, दुरसिंह सोलंकी आदि मौजूद थे। 


Post a Comment

0 Comments