दो वर्षो से परेशान किसान लगा रहे मुआवजे की गुहार | Do varsho se pareshan kisaan laga rhe muavje ki guhar

दो वर्षो से परेशान किसान लगा रहे मुआवजे की गुहार

अनेको बार किया गया अवगत, परन्तु मुआवजे के बदले मिला आश्वाशन

दो वर्षो से परेशान किसान लगा रहे मुआवजे की गुहार

पांढुर्ना (गौरव कोल्हे) - पांढुरना ब्लॉक के अंतर्गत आने वाले ग्राम डोलढाना और कुकडीखापा, मालेगांव, सिवनी तथा दाढीमेटा के 50 - 60 कृषको द्वारा बांध के लिए आवंटित की गई अपनी जमिनो के बदले मुआवजे के लिए सरकारी कार्यालय के दो सालों से चक्कर काट रहे है। परन्तु अब तक ना मुआवजा मिला ना ही किसी प्रकार का कोई सरकारी प्रमाण, निरतंर आश्वाशन देकर वापस भेज दिया जा रहा है। वही किसानो ने बताया की पिछली बार अनुविभागीय अधिकारी को ज्ञापन द्वारा अवगत करके बांध के कार्य को रोक दिया था, परन्तु अभी कुछ दिनो से पुनः कार्य को जोरो से शुरू कर दिया गया है। वही एक कृषक ने बताया की बांध बनाने वाले ठेकेदार को जल संसाधन विभाग द्वारा 1.5 करोड रुपये की राशि आबंटित कर दी गई है, जिससे की ठेकेदार को तो अपना पैसा पुर्ण रुप से प्राप्त हो रहा है, किन्तु जिन किसानो की जमिने बांध मे गई है उन्हे अब तक कोई पैकेज प्राप्त नही हुआ। जिससे की किसानो मे आक्रोश की स्थिती उत्पन्न हो रही है। इसी के सम्बंध मे शुक्रवार को कृषको ने अनुविभागीय अधिकारी सुश्री मेद्या शर्मा को पुनः ज्ञापन देकर अपनी समस्या का जल्दी निवारण करने तथा बांध कार्य को तत्काल रोकने की मांग कृषक द्वारा रखी गई है। अन्यथा अनुपातित मुआवजा प्राप्ती न होने पर उग्र आंदोलन की बात कही गई है। 

दो वर्षो से परेशान किसान लगा रहे मुआवजे की गुहार

मौके पर उपस्थित कैलाश डिगरसे, निरज सलामे, जितेन्द्र डिगरसे, अमर धुर्वे, विजय सलामे एवं अन्य किसान मुख्य उपस्थित थे।

Post a Comment

0 Comments