मुख्यमंत्री ने आत्मनिर्भर भारत के तहत सहकारी समितियों को दी 800 करोड़ रूपए की सौगात | Mukhyamantri ne aatmanirbhar bharat ke tahat sahkari samitiyo ko di 800

मुख्यमंत्री ने आत्मनिर्भर भारत के तहत सहकारी समितियों को दी 800 करोड़ रूपए की सौगात

कोरोना काल में बेरोजगार हो चुके छोटे व्यवसायियों को किया केसीसी का वितरण

मुख्यमंत्री ने आत्मनिर्भर भारत के तहत सहकारी समितियों को दी 800 करोड़ रूपए की सौगात

बुरहानपुर। (अमर दिवाने) - आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत मंगलवार को मुख्यमंत्री ने किसानों, मत्स्य, पशु पालकों को बड़ी सौगात दी। मत्स्य और पशु पालकों को किसान क्रेडिट कार्ड का वितरण किया गया। किसानों को शून्य प्रतिशत ब्याज पर ऋण उपलब्ध करवाने के लिए सहकारिता समितियों को 800 करोड़ रूपए स्वीकृत किए। मुख्यमंत्री ने एक क्लिक किया और लगभग 50 सेकंड में प्रदेशभर की सहकारी समितियों में 800 करोड़ रूपए ट्रांसफर हो गए।

मुख्यमंत्री ने आत्मनिर्भर भारत के तहत सहकारी समितियों को दी 800 करोड़ रूपए की सौगात

बुरहानपुर में कलेक्टोरेट कार्यालय के सभागृह में दूरदर्शन के माध्यम से भोपाल से प्रसारित हुए कार्यक्रम का जनप्रतिनिधियों, किसानों और अफसरों ने सीधा प्रसारण देखा। कार्यक्रम की शुरूआत विधायक ठाकुर सुरेंद्रसिंह, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष ज्ञानेश्वर पाटिल, पूर्व नगर निगम अध्यक्ष मनोज तारवाला, प्रगतिशील किसान किशोर शाह, सतीष देशमुख सहित अन्य ने मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण और दीप प्रज्जवलन कर की। मुख्यमंत्री के संबोधन से पहले कलेक्टोरेट कार्यालय में जनप्रतिनिधियों ने किसानों और अफसरों को संबोधित किया। कार्यक्रम में मौजूद पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष ज्ञानेश्वर पाटिल ने कहा आज बहुत खुशी की बात है कि मुख्यमंत्री ने किसानों, मत्स्य और पशु पालकों को बड़ी सौगात दी है। पिछले 15 माह में सहकारी समितियों की स्थिति काफी चिंताजनक हो गई थी, लेकिन भाजपा की सरकार फिर से बनने के बाद मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने प्रदेश को गति प्रदान की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की योजनाओं को मुख्यमंत्री ने धरातल पर उतारा। योजनाओं से सहकारी समितियों को फायदा होगा। मुख्यमंत्री के प्रयासों से मृत सोसायटियां अब जीवित हो गई है। कोरोना काल में छोटे व्यवसाय करने वालों की आर्थिक स्थिति काफी दयनीय हो गई थी। अब उन्हें शून्य प्रतिशत ब्याज पर ऋण दिया जाएगा। वें अपने व्यवसाय फिर से शुरू कर सकेंगे। संबल मिलेगा। पिछले 6 माह में लोग पिछड़ गए। नियमों को शिथिल कर आसानी से ऋण उपलब्ध कराया जाएगा। 

कार्यक्रम में पूर्व नगर निगम अध्यक्ष मनोज तारवाला ने कहा पिछले 15 माह में पूर्व की सरकार ने भ्रमित किया। ऋण के दावें किए गए, लेकिन किसानों को ऋण नहीं दिया गया। प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री ने फिर से सहकारी सोसायटियों को मजबूत स्थिति में खड़ा किया है। मत्स्य, पशु पालकों और किसानों की परेशानियां कम होगी। कार्यक्रम को पूर्व जनपद अध्यक्ष किशोर पाटिल, जिला पंचायत सदस्य कैलाश यावतकर ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम में बलराज नावानी, जयंतीलाल नवलखे, गुलचंदसिंह बर्ने, हेमलाल मोरे सहित अन्य मौजूद थे।

Post a Comment

0 Comments