मुख्यमंत्री ने एक क्लिक से 22 लाख किसानों के खाते में प्रधानमंत्री फसल बीमा के 4686 करोड़ रुपये डाले | Mukhyamantri ne ek click se 22 lakh kisano ke khate main pradhanmantri fasal bima

मुख्यमंत्री ने एक क्लिक से 22 लाख किसानों के खाते में प्रधानमंत्री फसल बीमा के 4686 करोड़ रुपये डाले

प्रदेश में कोई मंडी बन्द नहीं होगी –मुख्यमंत्री

किसानों को सुविधा देंगे कि वे अपनी उपज कहीं भी बेचें

मुख्यमंत्री ने एक क्लिक से 22 लाख किसानों के खाते में प्रधानमंत्री फसल बीमा के 4686 करोड़ रुपये डाले

उज्जैन (रोशन पंकज) - मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज उज्जैन में प्रधानमंत्री फसल बीमा वितरण के कार्यक्रम में कम्प्यूटर पर एक क्लिक के द्वारा प्रदेश के 22 लाख किसानों के खाते में प्रधानमंत्री फसल बीमा के 4 हजार 686 करोड़ रुपये की राशि डाली। इस अवसर पर मौजूद किसानों एवं वेब कास्टिंग के माध्यम से जुड़े लाखों किसानों से संवाद करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार किसान हितैषी सरकार है और आते ही हमने किसानों की प्रधानमंत्री फसल बीमा की पुरानी किश्त भरने का काम किया है। उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती सरकार ने किसानों को भ्रमजाल में रखा एवं कर्जा माफी का लालच देकर उनको छला है। मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों का कर्जा माफ करने का झूठ पुरानी सरकार ने बोला है और 50 हजार करोड़ कर्ज की तुलना में मात्र छह हजार करोड़ का कर्ज ही माफ किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मध्य प्रदेश में कोई भी मंडी बन्द नहीं होगी। किसानों को यह सुविधा दी गई है कि वे चाहे तो अपने खेत से या अपने घर से अपनी उपज बेच सकते हैं। उन्होंने कहा कि खेती को लाभ का धंधा बनाया जायेगा और नर्मदा नदी का जल मालवा क्षेत्र में लाकर रहेंगे। आगामी तीन वर्षों में सूक्ष्म सिंचाई हेतु हरित क्रान्ति समिति का गठन किया जायेगा।

मुख्यमंत्री ने एक क्लिक से 22 लाख किसानों के खाते में प्रधानमंत्री फसल बीमा के 4686 करोड़ रुपये डाले

मुख्यमंत्री ने कहा कि बाबा महाकाल की नगरी से वे किसानों को सौगात दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार नहीं बनी तो इसका कोई गम नहीं था, किन्तु सत्ता में नहीं रहने के बाद भी हम लोग चैन से नहीं बैठे। जब-जब मौका मिला तब-तब जनता के बीच जाकर उनसे संवाद किया है। उन्होंने कहा कि कोरोना संकट के चलते निश्चित रूप से आर्थिक सीमाएं हैं, किन्तु फिर भी किसानों के हित में किसी भी तरह की बाधा नहीं आने दी जायेगी।


मुख्यमंत्री ने कहा कि लॉकडाउन के चलते कल-कारखाने और उद्योग-धंधे बन्द हो गये। टैक्स आना बन्द हो गया, फिर भी हमने ढाई सौ करोड़ का प्रीमियम किसानों का भरा। किसानों की जिन्दगी को पटरी से उतरने नहीं दिया। सहकारी बैंक का 1500 करोड़ रुपये भर रहे हैं। इसके साथ ही भावांतर के 470 करोड़ रुपये भी हम देंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने किसानों का एक करोड़ 29 लाख मैट्रिक टन गेहूं खरीदा। गेहूं खरीदी में हमने पंजाब और हरियाणा को पीछे छोड़ दिया। 25 हजार करोड़ रुपये की राशि किसानों के खाते में हस्तांतरित की। तिवड़ा लगा चना भी खरीदा। पूर्व में 13 क्विंटल चना खरीदी की ही अनुमति थी। केन्द्रीय कृषि मंत्री से बात कर इसे 20 क्विंटल तक बढ़ाया। 30 हजार करोड़ रुपये की उपार्जन की राशि किसानों के खातों में डाली। पूर्व में प्रधानमंत्री सम्मान निधि का लाभ 35 लाख किसानों को मिलता था, जिसे हमने बढ़ाकर 77 लाख तक कर दिया है। 

मुख्यमंत्री ने एक क्लिक से 22 लाख किसानों के खाते में प्रधानमंत्री फसल बीमा के 4686 करोड़ रुपये डाले

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि अब कोई भी किसान किसान क्रेडिट कार्ड से वंचित नहीं रहेगा। दूध उत्पादक कृषकों के भी किसान क्रेडिट कार्ड बनाये जायेंगे। यदि कोई व्यक्ति गोवंश के लिये ऋण लेता है तो उसे जीरो प्रतिशत ब्याज पर ऋण की सुविधा उपलब्ध कराई जायेगी। स्वामित्व योजना के अन्तर्गत ग्रामीण क्षेत्र का सर्वे कर ग्रामीण व्यक्तियों को भू-अधिकार दिया जायेगा। वह अपने घर के माध्यम से ऋण ले सकेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्राकृतिक आपदा में 13 हजार लोगों की जान बचाई गई और फसल नुकसान का सर्वे किया गया। उन्होंने कहा कि सोयाबीन, उड़द एवं मक्का की फसल में जो नुकसान हुआ है, उसकी भरपाई की जायेगी, चाहे इसके लिये कहीं से भी उधारी लेनी पड़े। प्रधानमंत्री ने आत्मनिर्भर भारत का संकल्प लिया है और हमने आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश का संकल्प लिया है। आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश किसानों के सहयोग से ही बन सकेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदी कभी बन्द नहीं की जायेगी। एक हजार जलवायु आधारित गांव बनाये जायेंगे। गांवों में कस्टम हायरिंग सेन्टर स्थापित किया जायेगा। अब किसानों से ही कच्चे माल का फूड प्रोसेसिंग करवायेंगे। इससे लोगों को रोजगार मिलेगा। तीन हजार हेक्टेयर क्षेत्र में जैविक खेती को प्रोत्साहित किया जायेगा। चिन्नौर का चावल एवं गाडरवाड़ा की दाल को जियोटैग दिलवायेंगे। अब एक जिला एक पहचान के तहत उस जिले की उद्यानिकी फसल को पहचान दिलाई जायेगी।


मुख्यमंत्री ने कहा कि मध्य प्रदेश की सरकार किसान हितैषी सरकार है और सरकार का मुख्य केन्द्र बिन्दु किसान एवं खेती है। हर परिस्थिति में सरकार किसान के साथ खड़ी है। खेती को अमलीजामा पहनाया जायेगा।
मुख्यमंत्री खेत सड़क योजना फिर से प्रारम्भ होगी, मुख्यमंत्री ने की घोषणा
खंडवा, सागर एवं धार के किसानों से मुख्यमंत्री ने चर्चा की
प्रधानमंत्री फसल बीमा वितरण कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने वेब कास्टिंग के माध्यम से खंडवा, सागर एवं धार के किसानों से सीधे बातचीत की एवं उनके खाते में फसल बीमा की राशि डालने की जानकारी के बारे में उनसे पूछताछ की। धार के कृषक श्री तरूण ने कहा कि उनके पास छह हेक्टेयर जमीन है और 90 हजार 164 रुपया बीमे का मिला है। मुख्यमंत्री को जब पता लगा कि श्री तरूण की चार बेटियां हैं तो उन्होंने कहा कि बेटियों को अच्छे से शिक्षा देना। कृषक श्री तरूण ने मुख्यमंत्री से खेती-किसानी में आने-जाने की समस्या को दूर करने के लिये मुख्यमंत्री खेत सड़क योजना को फिर से प्रारम्भ करने का आग्रह किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संकट के बाद भी वे इस किसान हितैषी योजना को पुन: प्रारम्भ करेंगे। खंडवा जिले के किसान रेवाराम से मुख्यमंत्री ने पूछा कि वे कौन-कौन सी फसल उगा रहे हैं और पिछली बार गेहूं कितना हुआ था। किसान रेवाराम ने कहा कि उन्हें सोयाबीन का फसल बीमा एक लाख 72 हजार 381 रुपये मिला है और इससे उनके नुकसान की भरपाई हो गई है। उन्होंने कहा कि उनके पास 15 हेक्टेयर जमीन है और वे सोयाबीन, गेहूं, चना की फसल लेते हैं किन्तु इस बार भी सोयाबीन की फसल में वायरस लगने के कारण बहुत नुकसान हुआ है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2019 की खरीफ फसल का बीमा पाकर उनका घाटा कुछ कम हो गया है। मुख्यमंत्री ने सागर के कृषक विक्रमसिंह से बात की तथा उनसे पूछा कि उनके चने का उपार्जन हुआ कि नहीं। विक्रम सिंह को फसल बीमा की एक लाख 44 हजार रुपये की राशि मिली है। कृषक ने कहा कि इस बार फिर से सोयाबीन में रोग लग गया है। मुख्यमंत्री ने इस पर कहा कि हमने प्रधानमंत्री फसल बीमा की तारीख पर तारखी बढ़ाई है ताकि शत-प्रतिशत किसानों का बीमा हो सके।
कार्यक्रम का शुभारम्भ अतिथियों द्वारा दीप प्रज्वलन कर किया गया। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में कृषि एवं किसान कल्याण श्री कमल पटेल, उच्च शिक्षा मंत्री डॉ.मोहन यादव, सांसद श्री अनिल फिरोजिया, विधायक श्री पारस जैन, श्री बहादुरसिंह चौहान, श्री विवेक जोशी, श्री बहादुरसिंह बोरमुंडला, प्रमुख सचिव कृषि श्री अजीत केसरी, संभागायुक्त श्री आनन्द कुमार शर्मा, आईजी श्री राकेश गुप्ता, कलेक्टर श्री आशीष सिंह सहित गणमान्य अतिथि एवं कृषकगण मौजूद थे।
कार्यक्रम में सम्बोधित करते हुए कृषि एवं कृषक कल्याण मंत्री श्री कमल पटेल ने कहा कि किसान भाईयों के लिये आज खुशी का दिन है। प्रदेश के 22 लाख 51 हजार 188 किसानों के खाते में एक साथ 4 हजार 686 करोड़ रुपये की राशि डाली जा रही है। उन्होंने कहा कि यह देश किसानों का है और किसान इस देश की रीढ़ है। रीढ़ मजबूत होगी तो देश मजबूत होगा। कृषि मंत्री ने बताया कि प्रदेश के साथ-साथ उज्जैन जिले में एक लाख 44 हजार 123 कृषकों को 868 करोड़ रुपये बीमा के रूप में भुगतान एक क्लिक से किया गया है।
मुख्यमंत्री ने किसानों को फसल बीमा की राशि के प्रमाण-पत्र वितरित किये
आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने उज्जैन जिले के छह किसानों को खरीफ-2019 की फसल बीमा राशि के भुगतान का प्रमाण-पत्र वितरित किया। मुख्यमंत्री ने जयरामपुरा के बद्रीलाल को तीन लाख 13 हजार रुपये की राशि का प्रमाण-पत्र वितरित किया। इसी क्रम में तालोद के अर्जुनसिंह रघुवंशी को तीन लाख 66 हजार 24 रुपये का, जलवा के जालमसिंह सोलंकी को तीन लाख 50 हजार 60 रुपये का, उमरिया के बनेसिंह को तीन लाख दो हजार 49 रुपये का, जवासिया के करणसिंह को 66 हजार 605 रुपये तथा लिघोड़ा के आत्माराम को एक लाख छह हजार रुपये की राशि के प्रमाण-पत्र वितरित किये। कार्यक्रम में प्रमुख सचिव कृषि श्री अजीत केसरी ने आभार प्रकट किया।
(फोटो संलग्न)
क्रमांक 2692        रश्मि देशमुख/एचएस शर्मा/जोशी


सफलता की कहानी
मुख्यमंत्री ने नवनिर्मित आईसीयू का लोकार्पण किया
डॉक्टरों की टीम को कोविड में निरन्तर सेवा के लिये बधाई दी
मात्र 45 दिनों की कड़ी मेहनत से तैयार हुआ 
माधव नगर अस्पताल में कोविड-19 आईसीयू युनिट
उज्जैन 18 सितम्बर। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार को उज्जैन प्रवास के दौरान शासकीय सिविल अस्पताल माधव नगर में नवनिर्मित कोविड-19 आईसीयू युनिट का लोकार्पण किया।
आईसीयू युनिट के लोकार्पण के पश्चात मुख्यमंत्री ने युनिट का अवलोकन किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि नवनिर्मित आईसीयू युनिट से कोविड मरीजों के उपचार में काफी सहुलियत मिलेगी। आमजन को भी इससे काफी सुविधा होगी। मुख्यमंत्री ने इस दौरान मौजूद समस्त डॉक्टर्स की टीम को कोरोना संक्रमण के दौरान निरन्तर ड्यूटी करते हुए आमजन की सेवा करने पर बधाई दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे डॉक्टर्स बहुत अच्छा काम कर रहे हैं। आगे भी इसी जज्‍बे के साथ वे काम करते रहें। निश्चित रूप से हम इस महामारी को हराने में सफल अवश्य होंगे।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.महावीर खंडेलवाल ने मुख्यमंत्री को जानकारी दी कि कोरोना संक्रमण के निरन्तर बढ़ते हुए प्रकरणों को ध्यान में रखते हुए राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन द्वारा मात्र 45 दिनों में दिन-रात चौबीस घंटे कड़ी मेहनत से माधव नगर अस्पताल में आईसीयू युनिट का निर्माण किया गया है, ताकि कोविड-19 के मरीजों को सहुलियत हो सके। जानकारी दी गई कि यह वार्ड 155.78 लाख रुपये की लागत से निर्मित किया गया है। इस वार्ड में 20 बेड और 10 वेंटिलेटर लगाये गये हैं। साथ ही यह वार्ड अत्याधुनिक मशीनों से लैस है। इसमें ऑक्सीजन और एयर वाल्व हैं। यहां की फ्लोरिंग शॉकप्रूफ की गई है तथा इस वार्ड में एक नेगेटिव प्रेशर वाल्व भी सीलिंग में लगाया गया है, जिस वजह से कोरोना एवं अन्य वायरस तुरन्त वाल्व द्वारा सोख लिये जाकर एक कंटेनर में संग्रहित होते रहते हैं, जिस वजह से आईसीयू वार्ड के बाहर संक्रमण का खतरा काफी हद तक कम हो गया है।
इस वार्ड में चौबीस घंटे डॉक्टर्स और ट्रेनिंग डॉक्टर्स ड्यूटी पर तैनात रहेंगे। कोविड-19 के गंभीर मरीजों को अब नवनिर्मित आईसीयू के कारण उपचार माधव नगर अस्पताल में ही दिया जा सकेगा तथा उन्हें अन्यत्र कहीं रैफर करने की नौबत नहीं आयेगी। कोरोना अवधि के बाद आने वाले समय में माधव नगर अस्पताल को एक बढ़िया रेस्पिरेटरी सेन्टर के रूप में विकसित किये जाने की भी योजना है।
इस दौरान जानकारी दी गई कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन द्वारा पूरे प्रदेश में ऐसे 50 आईसीयू युनिट बनाये जा रहे हैं, ताकि कोविड-19 से संक्रमित लोगों का बेहतर उपचार हो सके।
इस दौरान उच्च शिक्षा मंत्री डॉ.मोहन यादव, विधायक श्री पारस जैन, सांसद श्री अनिल फिरोजिया, संभागायुक्त श्री आनन्द कुमार शर्मा, आईजी श्री राकेश गुप्ता, कलेक्टर श्री आशीष सिंह, पुलिस अधीक्षक सुश्री सविता सोहाने, नोडल डॉ.एचपी सोनानिया, डॉ.भोजराज शर्मा, डॉ.लव मेहरा, डॉ.तनवीर पटेल, जिला माइक्रो बायोलॉजिस्ट श्री इमरान खान, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के कार्यपालन यंत्री श्री महेन्द्र कुमार जैन, कॉन्ट्रेक्टर श्री विजय कुमार शर्मा, श्री राहुल शर्मा, श्री धनंजय शर्मा और माधव नगर चिकित्सालय का समस्त स्टाफ मौजूद था।
(फोटो संलग्न)
क्रमांक 2693        अनिकेत/जोशी

शुक्रवार को 11 लोग कोरोना संक्रमण से
पूर्णत: ठीक होकर पीटीएस से गये
उज्जैन 18 सितम्बर। मक्सी रोड स्थित पुलिस ट्रेनिंग स्कूल से शुक्रवार को 11 व्यक्ति कोरोना संक्रमण से पूर्णत: स्वस्थ होकर अपने घर गये।
डॉ.तोमर ने लोगों से कहा कि यदि उन्हें दोबारा सर्दी, खांसी, बुखार जैसे लक्षण होते हैं तो तुरन्त बिना देर किये फीवर क्लिनिक में जाकर डॉक्टर को दिखायें। आज वे स्वस्थ होकर अपने घर जा रहे हैं वे फोन के माध्यम से अपने परिजनों तथा पड़ौसियों को भी यह बतायें कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिये क्या-क्या सावधानियां बरतनी चाहिये। वे अपने परिवार में छोटे बच्चों और बुजुर्गों का विशेष ध्यान रखें। इन सावधानियों का जितना अधिक प्रचार-प्रसार होगा, उतनी ही आमजन में जागरूकता फैलेगी। इसके अलावा सभी लोग अपने मोबाइल पर सार्थक एप डाउनलोड करें। डॉ.तोमर द्वारा ठीक होकर जा रहे व्यक्ति से पीटीएस में इलाज के दौरान हुए अनुभव के बारे में पूछा गया। साथ ही उन्हें यहां किसी प्रकार की कोई समस्या तो नहीं हुई, इस बारे में भी पूछा।
इस दौरान स्टाफ द्वारा तालियां बजाकर लोगों की हौसला अफज़ाई की गई और शुभकामनाएं देकर उन्हें अपने घर के लिये रवाना किया गया। रवाना होने से पहले व्यक्ति को डॉ.वसीम खान द्वारा प्रमाण-पत्र वितरित किया गया।
इस दौरान डॉ.विजय कुमार पांचाल, डॉ.रोहित पराते, डॉ.कपिल चौहान, डॉ.अरविंद भटनागर, डॉ.सुखदेव कारवना, डॉ.महेन्द्र यादव, फार्मासिस्ट श्री अमित यादव, श्री ब्रजमोहन कौशल, स्टाफ नर्स प्रांजल गुप्ता, सुश्री चन्दा गरूडा, सुश्री सुमन दांगी, सुश्री पूजा सोलंकी, सुश्री गायत्री वाडिया, सुश्री कविता, सुश्री टीना अहिरवार, सुश्री प्रियंका परमार, सुश्री अनीता टांक, श्री एम्बरोज जॉर्ज, वाहन चालक श्री महेश पांचाल तथा सफाई कर्मचारी सर्वश्री अभय, भूराभाई, लाखन, राहुल, राजूबाई और लोकेश मौजूद थे।
(फोटो संलग्न)
क्रमांक 2694        अनिकेत/जोशी


मुख्यमंत्री श्री चौहान का हैलीपेड पर प्रशासनिक
अधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों ने आत्मीय स्वागत किया
उज्जैन 18 सितम्बर। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान आज शुक्रवार 18 सितम्बर को उज्जैन आये। उज्जैन पुलिस लाइन स्थित हैलीपेड पर प्रशासनिक अधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों ने आत्मीय स्वागत कर अगवानी की। मुख्यमंत्री के साथ उच्च शिक्षा मंत्री डॉ.मोहन यादव, कृषि मंत्री श्री कमल पटेल भी मुख्यमंत्री के साथ भोपाल से आये। इस अवसर पर सांसद श्री अनिल फिरोजिया, विधायक श्री बहादुरसिंह चौहान, पूर्व सांसद डॉ.चिन्तामणि मालवीय, श्री विवेक जोशी, श्री बहादुरसिंह बोरमुंडला, पूर्व विधायक श्री दिलीपसिंह शेखावत, श्री शान्तिलाल धबाई, श्री सतीश मालवीय, श्री राजेन्द्र भारती, श्री राजपालसिंह सिसौदिया, श्री जगदीश अग्रवाल, श्री सोनू गेहलोत आदि जनप्रतिनिधियों ने उनकी अगवानी की। इस अवसर पर संभागायुक्त श्री आनन्द कुमार शर्मा, आईजी श्री राकेश गुप्ता, डीआईजी श्री मनीष कपूरिया, कलेक्टर श्री आशीष सिंह, प्रभारी पुलिस अधीक्षक सुश्री सविता सोहाने आदि अधिकारीगण मौजूद थे।
(फोटो संलग्न)
क्रमांक 2695       उज्जैनिया/जोशी

मुख्यमंत्री श्री चौहान रविवार 20 सितम्बर को 79 करोड़ की
लागत से इन्दौख बैराज परियोजना का लोकार्पण करेंगे
उज्जैन 18 सितम्बर। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान रविवार 20 सितम्बर को दोपहर 3.35 बजे आगर-मालवा जिले के बड़ौद से प्रस्थान कर 3.50 बजे उज्जैन जिले की महिदपुर तहसील के ग्राम इन्दौख में जल संसाधन विभाग द्वारा छोटी कालीसिंध नदी पर बनाये गये इन्दौख बैराज परियोजना का लोकार्पण करेंगे। लोकार्पण कार्यक्रम के बाद मुख्यमंत्री श्री चौहान सायं 4.05 बजे इन्दौख से प्रस्थान कर 4.20 बजे आगर-मालवा जिले के बड़ौद पहुंचेंगे।
जल संसाधन विभाग के कार्यपालन यंत्री श्री कमल कुवाल उज्जैन जिले की महिदपुर तहसील के ग्राम इन्दौख में जल संसाधन विभाग द्वारा छोटी कालीसिंध नदी पर इन्दौख बैराज परियोजना का निर्माण पूर्ण कर लिया गया है। परियोजना की लागत 79.03 करोड़ रुपये है। बैराज परियोजना के निर्माण से 6100 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई की जा सकेगी। योजना से महिदपुर एवं बड़ौद तहसील के 23 गांवों के किसान सिंचाई कर सकेंगे। बैराज में जलभराव 28.278 मीलियन घन मीटर होकर लगभग 25 किलो मीटर तक छोटी कालीसिंध नदी में पानी रहना संभावित है। इस परियोजना से पांच मिलीयन घनमीटर पेयजल हेतु आरक्षित रहेगा। इन्दौख बैराज की लम्बाई 320 मीटर और ऊंचाई 15.40 मीटर तथा इसमें नौ गेट 12 गुणा 8.50 मीटर के है।
बैराज से महिदपुर तहसील के ग्राम इन्दौख, बनसिंग, पाताखेड़ी, कछालिया सैयद, नाहरखेड़ा, लाड़नपुर, बोलखेड़ानाऊ, खराड़िया मानपुर, लालगढ़, झरन्याखेड़ा, कंथारी, घट्टियाजस्सा, लसुड़िया नाहटा, सामाकोटा और बड़ौद तहसील के लाभान्वित ग्रामों में नरेला, बरोठीखुर्द, असिंध्या, पिपल्यामाना, गरड़ा, झांगरी, अलसिया, लालाखेड़ी एवं सुनारिया है।
क्रमांक 2696       उज्जैनिया/जोशी


पिछले चौबीस घंटे के दौरान नागदा व बड़नगर में वर्षा हुई
उज्जैन 18 सितम्बर। पिछले चौबीस घंटे के दौरान 18 सितम्बर की प्रात: तक जिले की दो तहसीलों नागदा में 3 व बड़नगर तहसील में 33 मिमी वर्षा हुई है।
कलेक्टर कार्यालय भू-अभिलेख से प्राप्त जानकारी के अनुसार इस वर्ष अभी तक उज्जैन तहसील में 1092, घट्टिया में 927, खाचरौद में 948, नागदा में 883, बड़नगर में 1204, महिदपुर में 822 और तराना तहसील में 1131 मिमी वर्षा हुई है। इसी तरह गत वर्ष इसी अवधि में उज्जैन तहसील में 1375, घट्टिया में 1452, खाचरौद में 1311, नागदा में 1906.3, बड़नगर में 1149, महिदपुर में 1250 और तराना तहसील में 1831 मिमी वर्षा हुई थी। इस वर्ष जिले में अभी तक औसत 1000.9 मिमी वर्षा रिकार्ड की गई है। गत वर्ष इसी अवधि में जिले में औसत 1467.7 मिमी वर्षा हुई थी।
क्रमांक 2697       उज्जैनिया/जोशी


मध्य प्रदेश के 60000 फार्मासिस्ट को  प्रदेश के  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने विश्व फार्मेसी दिवस के पूर्व दी बड़ी सौगात
उज्जैन 18 सितम्बर। राज्य सरकार द्वारा प्रदेश के 30000 दवा विक्रेता सहित 60000 फार्मासिस्ट के लिए पंजीयन के नवीनीकरण के लिए पूर्व में निर्धारित एक वर्ष  की अवधि को बढ़ाकर नियमों में संशोधन करते हुए 5 वर्ष कर दी गई है ।यह प्रदेश के दवाई व्यवसाय में लगे  व्यवसायियों के लिए बड़ी सौगात  है ।
साथ ही पूर्व में पंजीयन मैनुअल आधार पर होते थे इसमें भी संशोधन करते हुए अब पंजीयन एवं नवीनीकरण की संपूर्ण प्रक्रिया ऑनलाइन होगी। इससे लिए  भी  60000 फार्मासिस्ट को प्रति वर्ष  एक बार काउंसिल में आना जाना पढ़ता था ।पंजीयन  ऑनलाइन  होने  से   यात्रा , समय की एवं धन की बचत होगी। इस अभूतपूर्व निर्णय के साथ साथ फार्मासिस्ट को आधार से अपना पंजीयन लिंक करने पर नाम एवं जन्म तिथि में त्रुटि होने वाली  त्रुटि  को  भी  ऑनलाइन  ठीक करने   अनुमति  प्रदान  कर  दी  गई  है ।  
     उक्त  सभी महत्वपूर्ण निर्णय के लिए मध्य प्रदेश फार्मेसी काउंसिल के  अध्यक्ष श्री ओम  जैन के अथक प्रयास  एवं उपाध्यक्ष घनश्याम  काकाणी व  सभी काउंसिल के सदस्य पूर्व अध्यक्ष  श्री गौतम धिग ,  सर्व श्री  बसंत  गुप्ता , राजीव  सिंगल , देव कुमार  बड़जात्या , प्रदीप  चौरसिया , अशोक  जैन एवं सभी लोगो की सक्रिय भूमिका रही   ।उक्त निर्णय से प्रदेश के सभी फार्मासिस्ट संगठनों एवं दवाई विक्रेताओं में हर्ष की लहर है एवं समस्त फार्मासिस्ट की ओर से माननीय मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह जी चौहान एवं प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री श्री प्रभु राम चौधरी एवं प्रदेश  अध्यक्ष  श्री  विष्णु दत्त  शर्मा का ह्रदय से आभार एवं धन्यवाद  व्यक्त  किया  गया  है । समस्त फार्मासिस्टों ने इस ऐतिहासिक निर्णय का स्वागत भी  किया है ।
क्रमांक 2698     एचएस शर्मा/जोशी

किसानों की ओर से मुख्यमंत्री का साफा बांधकर सम्मान किया गया
उज्जैन 18 सितम्बर। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत उज्जैन जिले के किसानों को करोड़ों रुपए की राशि खाते में डाली गई। इस अवसर पर किसानों की ओर से मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान का सम्मान करने के लिए उच्च शिक्षा मंत्री डॉ.मोहन यादव, सांसद श्री अनिल फिरोजिया, पूर्व मंडी अध्यक्ष श्री बहादुरसिंह बोरमुंडला द्वारा मुख्यमंत्री श्री चौहान एवं कृषि मंत्री श्री कमल पटेल का साफा बांधकर सम्मान किया गया।
(फोटो संलग्न)
क्रमांक 2699     एचएस शर्मा/जोशी

Post a Comment

0 Comments