पांढुरना "बी एम ओ" सस्पेंड | Pandurna BMO suspend

पांढुरना "बी एम ओ" सस्पेंड

सरकारी अस्पताल में पदस्थ एक डॉक्टर की कोरोना रिपोर्ट छिपाई व उसे ड्युटी पर भी लगाऐ रखा

पांढुरना "बी एम ओ" सस्पेंड

पांढुरना/छिंदवाड़ा (अवतार सिंग) - जबलपुर कमिश्नर के आदेश पर जिला स्वास्थ अधिकारी चौरसिया ने पांढुरना "बी एम ओ" को सस्पेंड कर दिया है। बताया जा रहा है कि, सरकारी अस्पताल में पदस्थ एक डॉक्टर की कोरोना जांच कराई गई थी, जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आने की जानकारी "बी एम ओ" ने वरिष्ठ अधिकारियों से छिपाई थी. जानकारी के अनुसार 27 जुलाई को "बी एम ओ" भगत के निर्देश पर पांढुर्णा सरकारी अस्पताल में पदस्थ एक डॉक्टर की कोरोना जांच कराई गई थी, बीएमओ की लापरवाही की सिमा उस समय सामने आई, जब कोरोना पॉजिटिव डॉक्टर की ड्यूटी पांढुर्णा सरकारी अस्पताल में लगातार जारी रखी गई, जहां कोरोना संक्रमित डॉक्टर ने कई मरीजों का इलाज भी किया. इसी लापरवाही के कारण पांढुर्णा "बी एम ओ" को सस्पेंड कर दिया.

 *एस डी एम- मेघा शर्मा ने "बी एम ओ"  को थमाया था नोटिस* 

सरकारी डॉक्टर की चुपचाप तरीके कोरोना जांच कर उसकी ड्यूटी सरकारी अस्पताल में लगाकर उसकी जानकारी वरिष्ठ अधिकारियों को न देने की बात छुपाने को लेकर पांढुर्णा एस डी एम- मेघा शर्मा ने बीएमओ अशोक भगत को नोटिस जारी किया था, साथ ही उसका प्रतिवेदन कलेक्टर सौरभ सुमन को भेजा गया था। उसी प्रतिवेदन के आधार पर BMO को सस्पेंड कर दिया गया है।

Post a Comment

0 Comments