एपल हॉस्पिटल की जांच में मिली कई अनियमितताएं, अब प्रशासन करेगा कार्यवाही | Apple hospital ki janch mlili kai aniymittatae

एपल हॉस्पिटल की जांच में मिली कई अनियमितताएं, अब प्रशासन करेगा कार्यवाही


इंदौर। (जाहिद मंसूरी) - भवरकुआं स्थित एपल हॉस्पिटल पर पुलिस प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की टीम ने कल छापामार कार्यवाही की थी , एक मरीज द्वारा की गई शिकायत पर कलेक्टर ने ये कार्यवाही करवाई , जब्त बिलों और प्राप्त रिकार्ड के आधार पर जूनी इंदौर एसडीएम और डॉ. अमित मालाकार ने जो जांच प्रतिवेदन तैयार किया उसमें मुख्य रूप से इस तरह की अनियमितताएं मिली है .

* 22 दिन तक कोरोना मरीज को हॉस्पिटल में भर्ती रखा गया और लगभग 6 लाख का बिल थमा दिया .
* हॉस्पिटल प्रबंधन ने इतने भारी भरकम बिल के बावजूद एक लाख  की दवाइयां अलग से मंगवाई .
* पीपीई किट , आइसोलेशन चार्ज और यूनिवर्सल प्रोटेक्शन के नाम पर प्रतिदिन 9000 के हिसाब से राशि वसूल की गई .
* आईसीएमआर के निर्देश और डब्लूएचओ की गाइडलाइन के विपरीत एसिंप्टोमेटिक मरीज होने के बावजूद चार बार आरटी पीसीआर कोविड टेस्ट निजी लैब से करवाया गया, इसमें भी निजी लैब में जो टेस्टिंग चार्ज लगता है, उससे अधिक शुल्क  मरीज से वसूल किया गया , एक बार भी ये टेस्ट करवाने की आवश्यकता नहीं थी,बावजूद इसके बार-बार करवाए गए .
* हॉस्पिटल की लूट यही खत्म नही हुई बल्कि तीन से चार डॉक्टरों की रोजाना विजिट करवा कर प्रत्येक डॉक्टर की 3 हजार रु फीस चार्ज की गई और एक लाख की राशि तो डॉक्टरों की विजिट के ही रूप में मरीज से वसूल कर ली .
* छापे के दौरान हॉस्पिटल से जो बिल और रिकार्ड मिले थे उनकी जांच में भी कई तरह की असमानता नजर आई , हर मरीज से लिए गए शुल्क की राशि में भी अंतर मिला .

अब प्रशासन जांच प्रतिवेदन के आधार पर हॉस्पिटल प्रबंधन को नोटिस देगा और इस मामले में सख्त कार्रवाई की जाएगी,  कलेक्टर मनीष सिंह पहले ही स्पष्ट कर चुके हैं कि निजी अस्पतालों को कोविड के नाम पर इस तरह की लूटपट्टी नहीं करने दी जाएगी .

Post a Comment

0 Comments