हरियाली छटा मे भगवान गोवर्धननार्थ ने झुले मे बिराजित हो दिये दर्शन | Hariyali chhata main bhagwan govardhannath ne jhule main birajit ho diye darshan

हरियाली छटा मे भगवान गोवर्धननार्थ ने झुले मे बिराजित हो दिये दर्शन

हरियाली छटा मे भगवान गोवर्धननार्थ ने झुले मे बिराजित हो दिये दर्शन

झाबुआ (अली असगर बोहरा) - हरियाली अमावस्या के पावन अवसर एवं श्रावण माह के तीसरे सोमवार के साथ ही सोमवती अमावस्या के संयोग पर  नगर के हृदय स्थल पर भगवान श्री गोवर्ध्रननाथजी की हवेली में सायकाल 6-30 बजे से भगवान श्री गोवर्धननाथजी को झुले पर आच्छादित हरियाली के बीच झुलाया गया । कोराना संक्रमण के चलते सोश्यल डिस्टेसिग का पालन करते हुए सायकाल भगवान के झुला दर्शन के लिये श्रद्धालुजन दो दो गज की दूरी बना कर उन्होने भगवान के श्री विग्रह के दर्शनो का लाभ लिया । इस पावन अवसर पर  पण्डित दिलीप आचार्य द्वारा भगवान के झुले का हरियाली से आच्छादित मनोहारी श्रृगार किया गया । पुष्टि परम्परा के अनुसार आश्विन कृष्णा अमावस्या (कोरट की आरती) के पूर्व पण्डित रमेश त्रिवेदी, गोकूलेश आचार्य, एवं कान्हा अरोडा की टीम द्वारेा आकर्षक कीर्तनों की संगीतमय प्रस्तुति दी गई । हरियाली अमावस्या के अवसर पर कोराना काल के चलते ज्यादा भक्तों को मंदिर में प्रवेश नही दिया जारहा है तथा बारी बारी से दर्शन लाभ दिये जारहे हे । पांच कीर्तनो के बाद भगवान श्री गोवर्धन जो झुले में रुपहरी गाज के श्याम वस्त्र, काछनी, सूथन, पटका, श्रीमस्तक पर जड़ाउ मुकूट, हीरे के आभुषण, वनमाला का श्रृँगार, पिछवाई-श्याम सुनहरी बूँटे से श्रृगारित थे तथा मदिर में  विविध खिलौने एवं भगवान के मनोरंज के साधन रखे गये थे, के दर्शन लाभ के लिये  दर्शनार्थियों का जमावडा बना रहा । आरती के बाद कार्यक्रम का समापन किया गया ।

Post a Comment

0 Comments