भाजपा के ज्योतिराज सिंधिया सुमेर सिंह सोलंकी और कांग्रेस के दिग्विजय सिंह पहुंचे सदन | Bhajpa ke jyotiraditya sindhiya sumer singh solanki or congress se digvijay singh

भाजपा के ज्योतिराज सिंधिया सुमेर सिंह सोलंकी और कांग्रेस के दिग्विजय सिंह पहुंचे सदन

 *बकरियां चराई मजदूरी की और राज्यसभा पहुंचे सुमेर सिंह सोलंकी*

 *सियासी दलों ने अपने अपने विधायकों की कर रखी थी बाराबंदी  कांग्रेस ने बस से  भेजा*

 *टैक्स माफी और किराया बढ़ाने पर  अड़े निजी बस ऑपरेटर मध्य प्रदेश सरकार का इंकार* 

*अफसर चेत जाएं  समय बदलते देर नहीं लगती कमलनाथ*


भोपाल (संतोष जैन) - मध्य प्रदेश से राज्यसभा की रिक्त हुई 3 सीटों के लिए इस बार भाजपा से ज्योतिरादित्य सिंधिया सुमेर जी सोलंकी और कांग्रेस के दिग्विजय सिंह विजय घोषित हुए दिग्विजय सिंह को 57 सिंधिया को 56 और सुमेर सिंह को 55 वोट मिले जीत के लिए कम से कम 52 boat जरूरी थे चौथे उम्मीदवार फूल सिंह बरैया को 36 वोट मिले शुक्रवार को सुबह 9:00 से शाम 4:00 बजे तक चले मतदान में मौजूदा विधानसभा के सभी 206 विधायकों ने वोट किया इनमें भाजपा के जुगल किशोर बागरी के साथ एक कांग्रेसी विधायक का वोट निरस्त बताया जा रहा है सूत्रों के मुताबिक गुना से भाजपा के विधायक गोपीलाल जाटव ने क्रास वोटिंग करते हुए सिंधिया की जगह दिग्विजय सिंह को वोट किया जाटव का कहना है कि उन्होंने  ज्योतिरादित्य सिंधिया को ही वोट दिया है  बागरी के पुत्र पुष्प राज ने कहा मेरे पिता का स्वास्थ्य ठीक नहीं है उनकी याददाश्त भी कमजोर हो गई है मैंने संगठन से कहा था कि उन्हें मतदान में किसी सहारे की जरूरत होगी लेकिन ध्यान नहीं दिया इधर समाजवादी पार्टी के  बिजावर से विधायक राजेश शुक्ला को मतदान के बाद निष्कासित कर दिया सपा ने शुक्ला को दिग्विजय सिंह को वोट करने के लिए कहा था लेकिन उन्होंने भाजपा के पक्ष में वोट दिया शुक्ला का कहना है कि उन्हें नोटिस नहीं मिला है उन्होंने भाजपा में जाने की संभावना से भी इंकार कर दिया है मतगणना के दौरान 7 वोटों पर आपत्ती आई थी इसमें 5 कांग्रेश और दो भाजपा की ओर से थी

 *सुमेर सिंह सोलंकी ने बकरियां चराई मजदूरी की और राज्यसभा पहुंच*े 


सुमेर सिंह सोलंकी मध्य प्रदेश में जहां राजा महाराजा राज्यसभा पहुंच रहे हैं वहीं उनके साथ आदिवासी युवा भी राज्यसभा सदस्य बन रहा है इस युवा ने मजदूरी की है और बकरियां भी चलाई है बड़वानी के थान के बारेला आदिवासी समाज के 44 वर्षीय डॉ सुमित सिंह सोलंकी का जीवन ऐसे ही विषमताओं से भरा रहा है उनके माता-पिता गांव में साधारण से घर में रहते हैं पिता खेती करते हैं और बकरियां चराते हैं शुरुआत में सोलंकी दसवीं के बाद पढ़ाई नहीं कर पाए बाद में उन्होंने फिर पढ़ाई की स्कूल में गुरु जी की नौकरी मिल गई फिर शिक्षाकर्मी वर्ग 3 में पढ़ाया 10 साल तक गांव में मोटर वाइंडिंग की इसी पैसे से पीएचडी भी कि 2005 में एमपी पीएससी के जरिए असिस्टेंट प्रोफेसर बने

 *सियासी दलों ने अपने अपने विधायकों की कर रखी थी बाराबंदी कांग्रेश ने  बस से भेजा* 

राज्यसभा चुनाव को लेकर सियासी कटना क्रम दिनभर चलते रहे नजर राजनीतिक दलों के दिग्गज नेताओं पर रही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने दिग्विजय सिंह को वोट दिया गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने सुमेर सिंह सोलंकी को वोट डाला मतदान के लिए 7 घंटे का समय निर्धारित किया गया था लेकिन यह मतदान 4 घंटे में ही निपट गया सबसे पहला वोट CM ने और दूसरा नरोत्तम मिश्रा नहीं डाला शुरुआत के 1 घंटे में 64 विधायकों ने वोट डाल चुके थे जबकि 2 घंटे में यह संख्या बढ़कर 142 हो गई 12:00 बजे तक कुल 203 विधायक वोट डाल चुके थे 12:30 बजे तक 205 विधायक अपने मताधिकार का प्रयोग कर चुके थे सबसे आखिर में वोट करने वालों में कांग्रेस विधायक कुणाल चौधरी रहे चौधरी ने करीब एक बजे वोट डाला इस तरह सभी 206 विधायकों का मतदान पूरा हो गया


 *टैक्स माफी और किराया बढ़ाने पर  अरे  निजी बस ऑपरेटर सरकार का इंकार*

 लाख डाउन खुलने के बावजूद मध्यप्रदेश में बसों का संचालन बंद है चुनिंदा route छोड़ दे तो पंचानवे फ़ीसदी रूट पर कोई बस नहीं चल रही है सरकार ने 8 जून के बाद प्रदेश में सार्वजनिक परिवहन को  छूट दी है इसके तहत भोपल इंदौर और उज्जैन में 50 फ़ीसदी क्षमता के साथ बसों का संचालन होना है जबकि बाकी जिलों में पूर्ण क्षमता से संचालन हो सकता है बस संचालकों ने मांग की है कि लॉकडाउन पीरियड के मार्च-अप्रैल  व मई की टैक्स माफी की जाए सड़क परिवहन निगम 2010 से बंद किराया बढ़ाना भी बड़ी मांग सरकार ने 8 जून से बसों के संचालन को दी है  छूट

Post a Comment

0 Comments