रोजगार सेतु योजना में अगले 2 दिनों में प्रगति की जाये, अन्यथा कड़ी कार्यवाही की जायेगी - कलेक्टर | Rojgar setu yojna main agle 2 dino main pragati ki jaye

रोजगार सेतु योजना में अगले 2 दिनों में प्रगति की जाये, अन्यथा कड़ी कार्यवाही की जायेगी - कलेक्टर

रोजगार सेतु योजना में अगले 2 दिनों में प्रगति की जाये, अन्यथा कड़ी कार्यवाही की जायेगी - कलेक्टर

उज्जैन (रोशन पंकज) - कलेक्टर श्री आशीष सिंह ने रविवार को सिंहस्थ मेला कार्यालय के सभाकक्ष में जिले में रोजगार सेतु योजना की समीक्षा की। इसमें अपेक्षाकृत प्रगति नहीं पाई जाने पर कलेक्टर ने नाराजगी व्यक्त की और कहा कि अगले दो दिनों के अन्दर इस योजना में प्रगति की जाये, अन्यथा सम्बन्धित अधिकारियों पर कड़ी कार्यवाही की जायेगी। कलेक्टर ने कहा कि यह शासन की अत्यन्त महत्वपूर्ण योजना है, अत: इसमें कोताही न बरती जाये। इस योजना के अन्तर्गत प्रवासी श्रमिकों को विभिन्न निर्माण कार्यों में अधिक से अधिक रोजगार उपलब्ध करवाया जाये तथा इसकी प्रविष्टि रोजगार एप पर की जाये।


कलेक्टर ने विभिन्न विभागों के अधिकारियों से पूछा कि उन्हें उज्जैन जिले के प्रवासी श्रमिकों की सूची प्राप्त हुई है अथवा नहीं। गौरतलब है कि उज्जैन जिले में ग्राम पंचायत और नगरीय निकायों के अन्तर्गत लगभग नौ हजार प्रवासी श्रमिक हैं। कलेक्टर ने कहा कि जिन विभागों को श्रमिकों की सूची नहीं मिली है, उन्हें दोबारा सूची उपलब्ध कराई जाये। इसके पश्चात कलेक्टर ने विभिन्न विभागों आरईएस, जीएम डीआईसी, श्रम, हाऊसिंग बोर्ड, नगर निगम के अन्तर्गत किये जाने वाले निर्माण कार्य और उनमें संलग्न श्रमिकों की जानकारी ली। कलेक्टर ने कहा कि पांच से सात टीमें बनाई जाकर अगले दो दिनों में सर्वे किया जाये तथा श्रमिकों की जानकारी प्राप्त कर उन्हें काम दिलवाया जाये। कलेक्टर ने कहा कि नगर निगम द्वारा संचालित बड़े प्रोजेक्ट्स में भी प्रवासी श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध करवाया जाये।

अधिकारी आसपास की ग्राम पंचायतों में भी सम्पर्क करें। ऐसे विभाग जिनके यहां निर्माण कार्यों के सीमित स्कोप हैं, वहां भी कम से कम दो श्रमिकों को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराये जायें। आगामी बुधवार को पुन: रोजगार सेतु की समीक्षा की जायेगी। बैठक में नगर निगम आयुक्त श्री क्षितिज सिंघल, सीईओ यूडीए श्री सुजानसिंह रावत, सीईओ जिला पंचायत श्री अंकित अस्थाना, विभिन्न विभागों के अधिकारी तथा उद्योगपति मौजूद थे।

Post a Comment

0 Comments