दवा का बहाना बनाकर निकल रहे दारू लेने | Dava ka bahana bana kr nikal rhe daru lene

दवा का बहाना बनाकर निकल रहे दारू लेने

 रिश्तेदार बताकर ₹50000 की ठगी 

बेटे के सामने ट्रक से कुचलकर हुई मां की मौत

 ऑपरेशन के लिए रुपए मिल जाते तो शायद बच जाती विद्युत कर्मी की जान 

 केंद्र सरकार बिजली कंपनियों को कर्ज नहीं अनुदान दे

जबलपुर (संतोष जैन) - कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए लगाए गए लॉक डाउन के दौरान लोग बिना किसी कारण घरों से बाहर निकल रहे हैं और जब पुलिस उन्हें रूकती है तो वे कोई ना कोई बहाना बनाकर बचना चाहते हैं वहीं पकड़े जाने वालों में अधिकांश घर से बाहर निकलने का कारण दवा लेने के लिए जाना बताते हैं और पहुंच जाते हैं दारू लेने के लिए वही पुलिस ऐसे लोगों की निगरानी रखती है और उन पर जुर्माना ठोंका जा रहा है जिले में चलाए जा रहे चेकिंग अभियान के दौरान ऐसे लोगों से मौके पर जुर्माना वसूला जा रहा है विगत 5 मई से शुरू की गई चालानी कार्रवाई में अब तक करीब 16000 लोगों पर कार्रवाई कर 16 लाख 33 हजार का समन शुल्क वसूला गया है 


अपने आप को रिश्तेदार बताकर ऑनलाइन ठगी के एक मामले की शिकायत होते ही साइबर सेल ने सक्रियता दिखाते हुए  ठगी का शिकार हुए व्यक्ति की ₹33000 बचाकर बैंक खाते को सीज कर दिया lockdown के कारण ठगी के बढ़ते मामलों में तत्काल शिकायत के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया था साइबर जोन के एसपी अंकित शुक्ला ने जानकारी दी है कि सदर के संतोष सेन ने शिकायत दी थी कि अज्ञात व्यक्ति द्वारा रिश्तेदार बताकर मोबाइल पर बात करते समय लिंक के माध्यम से पैसे भेजने की बात कर 50000 ठग लिए इस सूचना के बाद निरीक्षक विपिन ताम्रकार के निर्देशन में आरक्षक शुभम सोनी ने आरोपी के खाते को सीज कर उसमें ट्रांसफर की गई ₹33000 की रकम बचा ली 


बरेला थाना क्षेत्र स्थित ग्राम सलैया में सुबह 11:00 बजे के करीब अपने करीबी रिश्तेदार की शव यात्रा में शामिल होकर बाइक से अपने बेटे के साथ लौट रही महिला की ट्रक की टक्कर लगने से मौत हो गई 


ऑपरेशन के लिए रुपए मिल जाते तो शायद बच जाती विद्युत कर्मी की जान पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के मंडला बीसी में कार्यरत एक कर्मचारी को दुर्घटना का शिकार होने के बाद जबलपुर स्थित एक निजी चिकित्सालय में भर्ती किया गया था जिसकी मौत के बाद तकनीकी कर्मचारियों में आक्रोश व्याप्त है तकनीकी कर्मचारी संघ के हरेंद्र श्रीवास्तव जी के कोष्टा ने बताया विद्युत कर्मी परमानंद ठाकुर का कार्य के दौरान बाएं पैर सहित शरीर के कुछ हिस्से सुन्न होने के कारण उसे जबलपुर स्थित एक निजी चिकित्सालय में भर्ती कराया गया था जहां चिकित्सकों ने ऑपरेशन करने की बात कही और उस पर करीब ₹500000 का खर्च बताया था

 मध्य प्रदेश विद्युत कर्मचारी जनता यूनियन ने केंद्र सरकार से मांग की है कि वे को रोना संकट के चलते राज्यों की बिजली वितरण और उत्पादन कंपनियों को कर्ज की बजाय अनुदान दे

Post a Comment

0 Comments