राम के वापस लौटने पर राम का राज्याभिषेक किया गया | Ram ke vapas lotne pr raam ka rajyabhishek kiya gaya

राम के वापस लौटने पर राम का राज्याभिषेक किया गया

राम के वापस लौटने पर राम का राज्याभिषेक किया गया

मेघनगर (जिया उल हक क़ादरी) - साई महिला मंडल एवं दी माता जी ग्रुप  के तत्वावधान में हो रही रामकथा के आज अंतिम दिवस होने से लाभ लेने के लिए पंडाल में प्रातः 12:00 बजे से ही दूरस्थ गांव से आने वाले भक्तगण आकर कथा श्रवण के लिए उत्सुक दिखाई दिए आचार्य श्री नरेश शर्मा कथावाचक के व्यास पीठ पर विराजित होने पर सभी भक्तों ने हरफूल से स्वागत किया आचार्य जी ने हनुमान जी की सेवा भक्ति का बहुत ही अच्छी तरह वर्णन किया एवं लंका में जाकर माता सीता का पता लगाया सीता माता को विश्वास दिलाने के लिए राम द्वारा दी गई मुद्रिका दिखाकर आश्वस्त किया माता की आज्ञा पाकर अशोक वाटिका में हनुमान जी ने अपनी भूख फल खाकर मिटाई तथा रावण के पुत्र अन्य राक्षसों को मार गिराया माता सीता की खबर लेकर हनुमान जी वापस राम के पास पहुंचे राम समुद्र किनारे शिवजी की आराधना कर रहे थे तभी हनुमानजी ने वानर सेना तैयार कर नल और नील के द्वारा पत्थरों पर राम राम लिखकर समुद्र पर पुल  बनवा लिया राम लक्ष्मण लंका जाकर रावण से युद्ध किया उसके पूरे परिवार को मौत के घाट उतार कर सब का कल्याण कर दिया युद्ध में लक्ष्मण के मूर्छित होने पर हनुमान जी ने संजीवनी बूटी लाकर दी उनकी जान बचाई राम ने रावण का वध कर प्रजा को सुखी किया तथा विभीषण को लंका का राजा बनाया और सीता को लेकर भाई लक्ष्मण के साथ वापस अयोध्या लौट आए अयोध्या वासियों का खुशी का ठिकाना ना रहा सभी ने दीप जलाकर पूरी अयोध्या में खुशी मनाई राम के वापस लौटने पर राम का राज्याभिषेक किया गया उस खुशी के वृत्तांत जैसे पंडित जी ने सुनाया सभी भक्तों ने फूलों की वर्षा की एवं भजनों के साथ स्तुति करते हुए महिलाओं पुरुष सभी ने नृत्य किया मानो ऐसा लग रहा था की सभी भक्त अयोध्या  में ही उपस्थित है कथा श्रवण के पश्चात साईं महिला मंडल साई महिला मंडल मेघनगर द्वारा 21000 की राशि रिद्धि सिद्धि महिला मंडल शंकर मंदिर महिला मंडल जय माताजी महिला मंडल श्री गणेश महिला मंडल एवं  सभी भक्तों के द्वारा पंडित जी श्री नरेश शर्मा कथावाचक वाद्य यंत्रों के सभी विद्वान पंडितों साईं मंदिर के पुजारी जी विट्ठल प्रसाद जी शर्मा श्रीमती चंदनबाला शर्मा आचार्य जी की पत्नी श्रीमती प्राची शर्मा पिता श्री बाबूलाल जी शर्मा श्रीमती सीता शर्मा एवं श्रीमती प्रेमलता भट्ट का सम्मान किया गया सभी मंडलों के सहयोग के लिए सबको धन्यवाद चंदनबाला शर्मा द्वारा दिया गया आज की कथा में विशेष अतिथि विनोद बाफना द्वारा सुंदर भजन की प्रस्तुति की गई पंडित जी का स्वागत भी उनके द्वारा किया गया पश्चात आचार्य पंडित नरेश शर्मा को रथ में बिठाकर तथा यजमान श्री वेद प्रकाश एवं पत्नी सहित रामचरितमानस ग्रंथ को शिरोधार्य कर अपार भक्त गणों के सहित बैंड बाजों की धुन पर गाते नाचते हुए शंकर मंदिर तक पहुंचे रास्ते में ग्राम वासियों द्वारा जगह-जगह फूल बरसा कर सम्मान किया गया।

राम के वापस लौटने पर राम का राज्याभिषेक किया गया

राम के वापस लौटने पर राम का राज्याभिषेक किया गया

Post a Comment

0 Comments