प्रदेश मे हिन्दु विरोधी सरकार के रुप मे कांग्रेस कि सरकार - दौलत भावसार | Pradesh main hindu virodhi sarkar ke roop main congress ki sarkar

प्रदेश मे हिन्दु विरोधी सरकार के रुप मे कांग्रेस कि सरकार - दौलत भावसार

प्रदेश मे हिन्दु विरोधी सरकार के रुप मे कांग्रेस कि सरकार - दौलत भावसार

झाबुुआ (मनीष कुमट) - 11 जनवरी भारतीय जनता पार्टी के पूर्व जिलाध्यक्ष प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य एवं नागरिक संहिता कानुन संगोष्ठी कार्यक्रम के जिला प्रभारी दौलत भावसार ने प्रदेश की कांग्रेस सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि प्रदेश मे हिन्दु विरोधी सरकार के रुप मे कांग्रेस की सरकार काबिज होकर हिन्दुओ के दमन पर उतारु हो गई है। प्रदेश सरकार पूर्णतः तुष्टिकरण की नीति पर चलकर जिला प्रशासन के माध्यम से विपक्षी दलो के नेताओ ओर हिन्दु संगठनो के कार्यकर्ताओ को दबाने का प्रयास कर रही है। शासन के उक्त कृत्य की कडी भत्र्सना हम करते है।

श्री भावसार ने बताया कि जिले में 144 के नाम पर सिर्फ हिन्दु संगठन एवं भाजपा के साथ ही जिला प्रशासन पक्षपात पूर्ण रवैया एवं द्वेष पूर्ण नीति अपना रहा है जबकि 144 धारा के चलते बिना अनुमति के सैकडो इस्लाम से जुडे अनुयायी राधाकृष्ण मंदिर चैराहे पर एकत्रित हुए ओर उन्होने वही जिले के आला अधिकारीयो को ज्ञापन सौपा उनके खिलाफ धारा 144 तोडने की कार्यवाही नही की गई। भावसार ने आगे बोलते हुए कहा कि ठीक इसी प्रकार ईसाई धर्मालंबियो के क्रिसमस मेले के लिये धारा 144 के चलते मेला लगाने की स्वीकृति प्रदान की गई। ठीक इसी प्रकार अन्य धार्मिक व सामाजिक संगठनो को धारा 144 के चलते जुलुस निकालने की स्वीकृति दी गई वही कानुन के रखवालो के द्वारा धारा 144 के चलते यातायात सप्ताह के अंतर्गत रैली निकाली गई एस डी एस से उसकी भी स्वीकृति नही ली गई। वही भावसार ने कहा कि जिले मे ओर पेटलावद तहसील मे विधायक के नेतत्व मे एक बडी सभा ओर सम्मेलन किया गया  धारा 144 के चलते उनके खिलाफ कोई कार्यवाही नही की गई इन सब तथ्यो से यह प्रमाणित होेता है कि प्रदेश की हिन्दु विरोधी सरकार धारा 144 की आड मे हिन्दु संगठनो ओर भाजपा से जुडे पदाधिकारी व कार्यकर्ताओ का दमन करना चाहती है। तत्संबध मे हमारे ब्युरो चीफ ने एस डी एम झाबुआ से उपरोक्त बिन्दुओ पर पुछा गया तो वह उत्तर देने से अपने आप को टालते रहे ओर कहने लगे कि मे न्यायालय कोर्ट मे  बैठा हुॅ इसका उत्तर बाद मे दुंगा एस डीएम से पुछा गया कि क्या कानुन की रक्षा करने वालो को कानुन तोडने की स्वीकृति प्रदान की थी आपने क्या यातायात सप्ताह की रैली निकालने के लिये धारा 144 के चलते की अनुमति दी थी क्या आपने तो इसका उत्तर वे नही दे पाये। फिर क्या कारण था कि राष्टभक्तो द्वारा नागरिक संहिता कानुन के तहत शांत रुप से रैली निकालकर ज्ञापन देने के लिये आपसे स्वीकृति चाही गई थी तो आपके द्वारा स्वीकृति क्यो नही दी गई। जब एस डी एम झाबुआ ने उपरोक्त संस्था व सगठन द्वारा धारा 144 का उल्लंधन किया गया तो उनके खिलाफ 188 मे कार्यवाही क्यो नही की गई इसका जवाब एस डी एम जिला कलेक्टर व पूलिस अधीक्षक झाबुआ की जनता को देवे।

Comments

Popular posts from this blog

पंचायत सचिवों को मिलने जा रही है बड़ी सौगात, चंद दिनों का और इंतजार intjar Aajtak24 News

कलेक्टर दीपक सक्सेना का नवाचार जो किताबें मेले में उपलब्ध वही चलेगी स्कूलों में me Aajtak24 News

पुलिस ने 48 घंटे में पन्ना होटल संचालक के बेटे की हत्या करने वाले आरोपियों को किया गिरफ्तार girafatar Aaj Tak 24 News