यूनिटी फाउंडेशन ने ऋण व सब्सिडी दिलाने के नाम पर ग्रामीणों से जुटाएं लाखों रुपए, ग्रामीणों से की गई धोखाधड़ी | Unity foundation ne shran va subsidi dilane ke naam pr gramino

यूनिटी फाउंडेशन ने ऋण व सब्सिडी दिलाने के नाम पर ग्रामीणों से जुटाएं लाखों रुपए, ग्रामीणों से की गई धोखाधड़ी

झाबुआ (अली असगर बोहरा) -  जिले के पेटलावद तहसील में कथित यूनिटी फाउंडेशन नाम की संस्था ने ग्रामीणों को ठगी का शिकार बनाया है। ताजा मामले में यूनिटी फाउंडेशन ने ग्रामीणों को भ्रमित करते हुए 1 लाख रुपए का ऋण दिलाने तथा उस पर 40 हजार की सब्सिडी दिलाने का पैंतरा फेंक न जाने कितने ही भोलेभाले ग्रामीणों से उनकी दो जून की रोटी छीन ली है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक उक्त फर्जी झांसेबाज कंपनी पहले तो 10 ग्रामीण महिलाओं का ग्रुप बनाती है और फिर प्रति व्यक्ति से 1600 रुपए लेकर कुल 16 हजार रुपए एकत्रित करती है और लालच देती है कि 1 लाख का लोन देंगे एवं जिसमें 40 हजार रुपए सब्सिडी भी कंपनी देंगी यह लालच ग्रामीणों को भारी पड़ी है। उक्त फर्जी कंपनी के कार्य की खबर जब एसडीएम पेटलावद केपत्र क्रमांक /4230-4231/रीडर-2/2019 दिनांक 10 दिसंबर को एसडीओपी पेटलावद, थाना प्रभारी पेटलावद तथा रायपुरिया को प्रेषित कर संस्था के सदस्यों की जांच कर उनके खिलाफ तत्काल एफआईआर दर्ज करने के निर्देश दिए हैं। गौरतलब है कि पेटलावद में उक्त फर्जी समूह के कारण अलास्याखेड़ी, बनी, गोडाथल, गोपालपुरा, चारणपुरा, राल्यवन, सोयला, कुडवास, मोहनकोट, मोरझरिया, सेमलकुंडिया, पारेवा, रायपुरिया, रताम्बा, मुल्थानिया, झकनावदा, कुम्भाखेड़ी, टोडी, सेमलिया, मोहकमपुरा, खिंदाखो, भेरूपाड़ा, गुलरीपाड़ा, नाहरपुरा, दुलाखेड़ी, मातापाड़ा असालिया उक्त समूह सक्रिय है तथा अपने स्थानीय कार्यकर्ता प्रवीण यादव, मानसिंह सिंगाड़ शिक्षक निवासी रामनगर, तारसिंह भूरिया, शैलेंद्र जानी निवासी मेघनगर, अनिल निवासी मेघनगर के साथ ग्रामीण क्षेत्रों में सक्रिय होकर ग्रामीणों से उनकी मेहनत की गाड़ी कमाई को हासिल कर उनसे तथा उनके परिवारों से दो जून की रोटी भी छीनने में लगे हैं जिसकी बड़े स्तर पर जांच की जाए तो कई बड़ी मछलिया भी फंसेगी।

Comments

Popular posts from this blog

पंचायत सचिवों को मिलने जा रही है बड़ी सौगात, चंद दिनों का और इंतजार intjar Aajtak24 News