जंगल में ग्रामीण गाय के मुख से जल बहते हुए मूर्ति से मांगते है मनोकामना | Jungle main gramin gay ke mukh se jal bahte hui murti se mangte hai manokamna

जंगल में ग्रामीण गाय के मुख से जल बहते हुए मूर्ति से मांगते है मनोकामना

जंगल में ग्रामीण गाय के मुख से जल बहते हुए मूर्ति से मांगते है मनोकामना

उमरेठ (दुर्गा साहू) - छिन्दवाडा जिला के उमरेठ तहसील मुख्यालय में 8 किली मीटर दुरी पर ग्राम पंचायत मानका देही के अंतर्गत जंगल में 50 - 60 वर्ष से गाय के मुख से जल वहाते हुये मूर्ति है । जिसमे ग्रामीण यहां पहुंच कर अपनी - अपनी मनोकामनां मांगते है,,,  और यहां भगवान शिव के पुत्र कार्तिक की प्रतिमा भी है, श्रध्दालु की यहां सभी मनोकामना पूर्ण होती है, यहां पर सत्यनारायण भी की जाती है, यह मेला पूणिमा के दिन से भरता है, जिसे गौमुख मेला भी कहते है,, सात दिन का मेला रहता है,,,, जिसके की मेला को शांति व्यवस्था उमरेठ थाना पुलिस करती है,,,अस्थाई पुलिस चौकी भी बनाई जाती है, और उमरेठ थाना प्रभारी आर. पटेल रात्रि को शांति व्यवस्था बनाने स्वयं लगे रहते है,, मेले का ठेका पंचायत द्रारा किया गया है, जिस में ठेका एक लाख इक्कीस हजार रु मे गया था, जिसमें मेले में पानी,,,बिजली,, आदि की सभी व्यव्यथा की जाती है, मंदिर के पहले नदी है, जिसमें आते - जाते समय में रास्ता बहुत ही  छोटा हैं  जहां श्रद्धालुओं को भारी परेशानी होती है, और दुर्घटना की संभावना भी बनी रहती है।


Comments

Popular posts from this blog

पंचायत सचिवों को मिलने जा रही है बड़ी सौगात, चंद दिनों का और इंतजार intjar Aajtak24 News