जश्ने ईद मिलादुन्नबी जुलूस की जगह जलसे का एहतमाम किया गया | Jashne eid miladunnabi julus ki jagah jalse ka ehtamam kiya

जश्ने ईद मिलादुन्नबी जुलूस की जगह जलसे का एहतमाम किया गया


दमुआ (रफीक आलम) - जश्ने ईद मिलादुन्नबी के मुबारक मौके पर दमुआ - नंदन की जामा मस्जिद, ईदगाह में जलसे का एहतमाम किया गया, आगाज कुराने पाक की तिलावत से की गई, पेश इमाम,खतीब साहब ने दुरुदो सलाम  का नजराना अकीदत पेश किया। पैगंबर इस्लाम की जीवनी के बारे में बताया अल्लाह का कलाम जिन पर नाजिल हुआ, कुरान शरीफ को अपने बच्चों को सिखाने के लिए सबको फिक्र करनी है। उनके बताए हुए रास्तों पर सबको चलना है, दुनिया और आखिरत की कामयाबी पैग़ंबरे इस्लाम के तरीकों में है, छोटे-छोटे बच्चों ने भी कुरान की आयत, नात शरीफ पड़ी इन बच्चों के हौसला अफजाई के लिए अवाम और कमेटी की जानिब से इनाम तकसीम किए गए। तबर्रुक बांटी गई, मोमिनपुरा में भी सभी ने खीर खा कर जश्ने ईद मिलादुन्नबी का एहतमाम किया। शनिवार को नंदन जामा मस्जिद में अली साहब ने दमुआ और नंदन के लोगों के लिए लंगरे आम का एहतमाम किया गया, जश्ने ईद मिलादुन्नबी के मौके पर एक दूसरे के गले मिलकर मुबारकबाद पेश की, अकीदत मंदो ने इस मुबारक मौके पर खुशियां मनाई। इस मौके पर शहर में जगह-जगह  झंडे, तोरन,बेनर एवं जगमगाती रोशनी का भी इंतजाम किया गया, दमुआ, नंदन की जामा मस्जिद कमेटी ने सुप्रीम कोर्ट के अयोध्या के फैसले के मद्देनजर शांन्ति एवं भाईचारे का संदेश देने के लिये प्रशासन के निर्देश का पालन करते हुऐ, रैली जुलूस को स्थगित किया गया, जबकि जुलूस की बड़े पैमाने पर तैयारियां पूरी हो गई थी। जिसके लिए सभी ने प्रशंसा की है।

Post a Comment

0 Comments