उज्जैन शिव की नगरी में शिव भक्त रावण की पूजा | Ujjain shiv ki nagri main shiv bhakt ravan ki pooja

उज्जैन शिव की नगरी में शिव भक्त रावण की पूजा

उज्जैन जिला मुख्यालय  22 किलोमीटर बडनगर तहसील के ग्राम चिकली मे है यहां मंदिर

उज्जैन शिव की नगरी में शिव भक्त रावण की पूजा

उज्जैन (दीपक शर्मा) - विजयादशमी के अवसर जहां एक और रावण दहन किए जाने की परंपरा है तो वहीं दूसरी और शिव की नगरी उज्जैन में शिव भक्त रावण की भी पूजा की जाती है। उज्जैन में अंतरराष्ट्रीय लंकेश परिषद द्वारा रावण का पूजन पाठ किया जाता है। यह संगठन पिछले 28 वर्षों से रावण का पूजन पाठ करते आ रहा है। रावण पूजन के बाद महाप्रसादी का आयोजन भी किया जाता है ।

आज रावण के भक्तों ने सबसे पहले मंत्रोचारण किया और फिर आरती उतारी। झांझ मंझिरे के साथ आरती की गई। भक्त रावण की भक्ति में लीन नजर आए।रावण की पूजा करने वालो का मानना है कि रावण महाकाल का परम भक्त था और उसे चारो वेदों और पुराण का ज्ञान था। रावण ने सीता को भी लंका में पवित्र रखा। वह विद्वान पण्डित था। भक्त आज के दिन को रावण के मोक्ष दिवस के रूप में भी मनाते है।

Post a Comment

0 Comments