संविदा स्वास्थ्य संघ म.प्र. द्वारा अपनी मांगों पर सकारात्मक कार्रवाई के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया | Sanvida swasthya sangh MP dwara apni mango pr sakaratmak karywahi

संविदा स्वास्थ्य संघ म.प्र. द्वारा अपनी मांगों पर सकारात्मक कार्रवाई के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया

संविदा स्वास्थ्य संघ म.प्र. द्वारा अपनी मांगों पर सकारात्मक कार्रवाई के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया

झाबुआ (मुर्तुजा भाई पिटोलवाला) - संविदा स्वास्थ्य संघ मध्यप्रदेश द्वारा प्रदेश के मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त करते एसडीएम झाबुआ काे आभार पत्र सोपा , जिसमें उन्होंने मध्य प्रदेश सरकार द्वारा बिना अप्रेजल संविदा अवधि को बढ़ाया, निष्कासित कर्मचारियों की वापसी की प्रक्रिया अपनाई, कर्मचारियों को रुकी हुई वेतन वृद्धि को जारी करने के आदेश जारी किए व संविदा कर्मियों के हितों को ध्यान में रखा

संविदा स्वास्थ्य संघ के जिलाध्यक्ष व प्रदेश संयोजक मंडल सदस्य डॉक्टर लोकेश दवे ने बताया संविदा स्वास्थ्य संघ मध्यप्रदेश ने मुख्यमंत्री जी को आभार पत्र लिखा जिसे एसडीएम झाबुआ को दिया गया | जिसमें सरकार द्वारा माननीय सैय्यद जाफर, प्रदेश प्रवक्ता कांग्रेस के माध्यम से जो अभी तक की सकारात्मक कार्यवाही हुई जिसमें

1) बिना एप्रेजल प्रक्रिया के संविदा अवधि को आगे बढ़ाया गया |
2) 2016-17 मे निष्कासित कर्मचारियों की वापसी की प्रक्रिया प्रारंभ की गई |
3) 2300 कर्मचारियों की विभिन्न कारणों से रुकी हुई वेतन वृद्धि को जारी करने आदेश जारी |

अपनी मांगों को मानने पर संविदा स्वास्थ्य संघ मध्य प्रदेश द्वारा यशस्वी मुख्यमंत्री जी का पत्र के माध्यम से आभार व्यक्त किया गया |जिसमें उन्होंने संविदा कर्मियों के हितों को सर्वोपरि मानते उनके कल्याण के लिए सकारात्मकता से कार्य किया | इसके अलावा संविदा स्वास्थ्य संघ की मूलत 2 मांग रही है जिसपर अभी तक कोई सकारात्मक परिणाम देखने को नहीं मिला है| संविदा स्वास्थ्य संघ अपने दो मांगाे हेतु निवेदन भी 1.जिसमें उन्होंने राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन कर्मचारियों की 5 जून 2018 की सामान्य प्रशासन द्वारा जारी नीति अनुरोध 90% वेतन व अन्य सुविधाएं देने हेतु निवेदन 2. प्रदेश में सेवा दे रहे संविदा कर्मचारियों को आपके द्वारा पूर्व में कई बार नियमितीकरण हेतु आश्वस्त भी किया था अतः नियमितीकरण के संबंध में आदेश जारी करने स्वास्थ्य संघ ने निवेदन भी किया |

Post a Comment

0 Comments