पूजा पाठ के नाम पर धोखाधडी कर 22 तोला वजनी सोने के जेवर लेकर फरार हुआ 1 आरोपी गिरफ्तार | Pooja path ke naam pr dhokhadhadi kr 22 tola vajniy sone

पूजा पाठ के नाम पर धोखाधडी कर 22 तोला वजनी सोने के जेवर लेकर फरार हुआ 1 आरोपी गिरफ्तार, 2 फरार साथियों  की तलाश  

पूजा पाठ के नाम पर धोखाधडी कर 22 तोला वजनी सोने के जेवर लेकर फरार हुआ 1 आरोपी गिरफ्तार

जबलपुर (संतोष जैन) - थाना गोरखपुर में दिनॉक 23-9-19 को सुनील पचौरी उम्र 51 वर्ष निवासी अशोक विहार कालोनी रामपुर ने रिपोर्ट दर्ज करायी थी कि वह शिक्षा विभाग में शिक्षक के पद पर पदस्थ है। दिनाँक 04.09.19 को सुबह लगभग 09-30 बजे उसके घर पर तीन बाबा आये और आवाज दिये,  उसने बाहर आकर देखा तो उन्हे नहीं पहचाना, उन्होंने उसका सरनेम पचोरी कहकर कहा कि बेटा पहचाने नहीं मैं मेहदीपुर बालाजी वाला गुरु हूँ, तब उसे ध्यान आया कि उनसे उसकी मुलाकात वर्ष 2009 में श्री बी.एम. गुल्हानी के यहाँ पूजन कार्यक्रम में हुई थी, उसने उन्हें अन्दर आने के लिये कहा तो वे लोग अन्दर आ गये, चाय पीने के दौरान तीनों बाबा लोग उसकी छोटी बेटी तेजस्वनी के बारे में कहने लगे कि आपकी बेटी का दिमाग कम है उसका पढ़ने में मन नहीं लगता है, आपको इसके लिये पूजन करवाना पड़ेगा, बेटी ठीक हो जायेगी, और बोले की इस पूजन में 13 दिन लगेगें , प्रतिदिन पूजन का खर्च 800/- रुपये आयेगा, तो उसकी सासू माँ श्रीमती चन्दा शर्मा ने 10 हजार 500 रुपये निकाल कर दे दिये । इसके बाद वे बाबा लोग उसके घर से चले गये। इसके बाद उसके मोबाईल पर एक मोबाईल नम्बर से बार-बार बात किये और दिनाँक 18.09.19 को उसके घर पर तीनों बाबा आये और बोले कि तुम पर ब्रम्हहत्या का दोष है, स्वर्ण पूजन कराना है,  इसका अलग से पूजन करना पड़ेगा, कहकर पूजन सामग्री एकत्रित किये एवं उसके घर पर आकर दो दिन पूजन किये , पूजन के दौरान कहने लगे कि धन शुद्धि के लिये स्वर्ण पूजा की जाना है जो भी आपके घर में सोने के जेवरात हैं लेकर आयें तो दिनाँक 21.09.19 को ही घर में रखे  सोने की 3 चैन ( वजनी करीब पौने 5 तोला),  . 8 अंगूठी ( एक पुखराज जड़ित सोने की, एक हीरे नग से जड़ित सोने की और 06 सोने की हैं , जिनका वजन लगभग 07 तोला ), 1 पंचाली, 1 जोड़ी कनछड़ी  वजनी डेढ़ तोला ,  06 नग कंगन  वजनी साढे तीन तोला, 1 जोड़ी कान के रिंग वजनी 05 ग्राम , 1 जोड़ी कान के टाप्स वजनी 05 ग्राम, 2 हार  वजनी साढे तीन तोला, 1 बेंदी वजनी 08 ग्राम  के लाकर दिये जिसे रुमाल में बांधकर पूजन में रखवा लिये और पूजन करने लगे और बोले कि आपके पितरों का पूजन करना है  एवं उसे पत्नी सहित पश्चिम दिशा की ओर मुँह कराकर बैठा दिये , एक बाबा ने हमारे पीछे खड़े होकर पूजन कराया, इसके बाद कहने लगे कि गोल्ड जहाँ पर रखा है वहीं रखा रहेगा हम कल आकर फिर से हवन करेगें उसके बाद आप अपने जेवरात उठा सकेगें, तीनों बाबा पूजन के उसी दिन दिनाँक 21.09.19 को शाम 07.15 बजे जाते समय बोले कि कल  दिनाँक 22.09.19 को शाम 04.00 बजे हम लोग आयेगें, एैसा कहकर कर चले गये और फिर नहीं आये । उसने दिनाँक 22.09.19 को शाम लगभग 07.00 बजे पूजन के स्थान पर रखी जेवरातों की पोटली खोलकर देखा तो उसके जेवरात वहाँ पर नहीं थे, उसमें 04 नग  नकली चूडियाँ रखी मिली, तीनों बाबा पूजन के बहाने उसके सोने के जेवरातों को धोखाधड़ी कर ले गये हैं। रिपोर्ट पर धारा 420 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर प्रकरण विवेचना में लिया गया।


पुलिस अधीक्षक जबलपुर श्री अमित सिंह (भा.पु,से) द्वारा घटित हुई घटना को गम्भीरता से लेते हुये आवश्यक दिशा निर्देश देते हुये आरोपियों की पतासाजी एवं उनकी अविलम्ब गिरफ्तारी हेतु आदेशित किये जाने अति. पुलिस अधीक्षक दक्षिण डॉ संजीव उइके, अति. पुलिस अधीक्षक अपराध श्री शिवेश िंसह बघेल के द्वारा नगर पुलिस अधीक्षक गोरखपुर श्री आलोक शर्मा के नेतृत्व में थाना प्रभारी गोरखपुर श्री उमेश तिवारी के हमराह गोरखपुर के स्टाफ एवं क्राईम ब्रांच की टीम गठित की गयी।  
                   
गठित टीम के द्वारा घटना स्थल के पास पास आरोपियें  के सम्बंध मे पतासाजी की गयी एवं संदेहियों के फुटेज प्राप्त किये गये, मिले फुटेज के आधार पर संदेहियें का चिन्हित किया गया एवं एक टीम जिला मुरैना रवाना की गयी, टीम के द्वारा पतासाजी करते हुये 1 संदेही जगदीश जोशी को पकडा गया जिसने पूछताछ पर अपने साथी विजय जगा एवं  केशव जगा के साथ मिलकर झाड फूंक-पूजा पाठ के नाम पर जेवरों की ठगी करना स्वीकार करते हुये पूरे जेवर विजय एवं केशव के पास होना बताया, विजय एवं केशव के घरों पर दबिश दी गयी जो फरार मिले, जगदीश जोशी को विधिवत प्रकरण में गिरफ्तार किया जाकर  फरार विजय जगा एवं केशव जगा की गिरफ्तारी के प्रयास जारी हैं।

अपराध जिसमे गिरफ्तारी की गईः-
1. थाना गोरखपुर के अपराध क्रमाँक  637/19 धारा 420 भा.द.वि.
गिरफ्तार आरोपीः-
1-जगदीश जोशी पिता बंशीलाल उम्र 60 वर्ष निवासी राठौर धर्माशाला वाली गली इस्लामपुरा मोहल्ला, कोतवाली जिला मुरैना

फरार आरोपीः-
1- विजय पिता रामदयाल जगा (बाबा) उम्र 60 वर्ष निवासी प्रजापति मोहल्ला हातरी कैलारस थाना कैलारस जिला मुरैना,
2-केशव पिता खच्चूराम जगा उम्र 45 वर्ष निवासी प्रजापति मोहल्ला हातरी कैलारस थाना कैलारस जिला मुरैना,

उल्लेखनीय भूमिका- आरोपी की गिरफ्तारी में थाना प्रभारी गोरखपुर श्री उमेश तिवारी , उप निरीक्षक मदन सिंह मरावी, क्राईम ब्रांच के नीरज केवट, नितिन मिश्रा, अमित दुबे, शैलेन्द्र कौरव, आदित्य, की सराहनीय भूमिका रही है। पुलिस अधीक्षक श्री अमित सिंह (भा.पु.से.) ने टीम को  नगद पुस्कार से पुरुस्कृत करने की घोषणा की है।

Post a Comment

0 Comments