सूचना मिली थी कि विक्षिप्त महिला धार जिले की है विधायक मेड़ा मथुरा से ग्वालियर तक ले गए बाद में परिजनों को सौंपा | Suchna mili thi ki vikshipt mahila dhar jile ki hai vidhaysk meda

सूचना मिली थी कि विक्षिप्त महिला धार जिले की है विधायक मेड़ा मथुरा से ग्वालियर तक ले गए बाद में परिजनों को सौंपा

सूचना मिली थी कि विक्षिप्त महिला धार जिले की है विधायक मेड़ा मथुरा से ग्वालियर तक ले गए बाद में परिजनों को सौंपा

धामनोद (मुकेश सोडानी) - धरमपुरी विधायक पाचीलाल मेड़ा अपने सरल व्यवहार के लिए तो जाने जाते हैं ही साथ-साथ आम जनता के प्रति भी उनके कार्य करने का रवैया बेहद सकारात्मक है शुरू से ही अपनी सरलता से  वह लोकप्रिय हुए और बाद  विधानसभा चुनाव में जीत हासिल की अब आए दिन अलग-अलग माध्यम से क्षेत्र को विकास की गति तो दे ही रहे है साथ साथ जनमानस की ऐसी भी सेवा करते हैं जो वाकई में अपने आप में एक मिसाल है   दरअसल हुआ यूं था कि विधायक मेड़ा कांग्रेस अधिवेशन की बैठक में गत दिवस दिल्ली गए हुए थे दिल्ली में बैठक के दौरान उनके पास एक फोन मथुरा से आया ओर बताया कि एक महिला जो कि विक्षिप्त है  धार जिले की बता रही है धार जिले का नाम सुनते ही विधायक ने तत्काल मथुरा रेलवे पुलिस से संपर्क कर विक्षिप्त महिला को अपने पास बैठा कर रखने की बात कही तथा सीधे दिल्ली से मथुरा की ओर निकल गए

महिला कांस्टेबल को मुक्का मारा  अस्पताल ले जाना पड़ा

जैसे ही विधायक मथुरा रेलवे स्टेशन पर पहुंचे तो देखा कि विक्षिप्त महिला रेलवे पुलिस  को मार रही है महिला को संभालना मुश्किल हो रहा था यहां तक कि  उसने  एक महिला कांस्टेबल के मुंह पर मुक्का मार दिया बाद उसे अस्पताल ले जाया गया अब महिला को परिजनों तक  कैसे पहुंचाएं यह विधायक मेड़ा के लिए मुश्किल था

परिजनों को  कहा ग्वालियर आ जाओ किराये की गाड़ी की और   खुद भी निकल गए

विधायक ने मथुरा रेलवे पुलिस के थाना प्रभारी और अन्य लोगों से अनुरोध किया कि आप महिला पुलिसकर्मी की व्यवस्था करें मैं अभी गाड़ी लेकर आता हूं विधायक ने अपने निजी खर्चे से एक गाड़ी की तथा परिजनों को सूचना दी कि आप हर हाल में ग्वालियर पहुंचो परिजन धार से ग्वालियर की ओर रवाना हुए और विधायक मथुरा से ग्वालियर की ओर आखिरकार कड़ी मेहनत करने के बाद विधायक ने विक्षिप्त महिला को परिजनों से मिलवा दिया यह पूरा घटनाक्रम विधायक मेड़ा ने मीडिया और अन्य लोगों से छुपाया था लेकिन उन्होंने अपने सहयोगी विनय पाटीदार को इस घटनाक्रम के बारे में पूरी जानकारी दे दी थी जिस पर मंगलवार को पूरी बात सामने आई

धार जिले का नाम सुनते ही दौड़ पड़े

विधायक के पास जब महिला के गुम होने की सूचना मिली तब वह दिल्ली में थे लेकिन जैसे ही पता चला कि महिला धार जिले की है तो विधायक सारे काम छोड़ कर मथुरा की ओर निकल गए विधायक ने बताया कि धार जिले और धरमपुरी तहसील की जनता के साथ मेरा असीम स्नेह है किसी भी परिस्थिति हो मुझे हर हाल में जनता के लिए कार्य करना है विधायक के इस कार्य की जानकारी नगर  मैं जैसे ही लगी तो नगर के राजेश पारीक महेश सोडानी जय सिंह पटेल  संजय पवार विनोद डोंगले विजय डोंगले   विष्णु साटल्या सुदामा सेन कमल यादव अनिल आर्य कैलाश बंसल महेश मूंदड़ा और कई  ने उपरोक्त कार्य की सराहना की

Post a Comment

0 Comments