खराब रास्ते से जाने को मजबूर ग्रामीण जवाबदारो का ध्यान नहीं | Khrab raste se jane ko majbur gramin

खराब रास्ते से जाने को मजबूर ग्रामीण जवाबदारो का ध्यान नहीं

खराब रास्ते से जाने को मजबूर ग्रामीण जवाबदारो का ध्यान नहीं

धामनोद (मुकेश सोडानी)  - गांवो के विकास के केंद्र व राज्य सरकार लाख दावे कर रही हो परंतु जमीनी हकीकत इससे बिल्कुल विपरीत है ।  धरमपुरी विकासखंड की ग्राम पंचायत पटलावद के अंतर्गत लगभग 1 किलोमीटर के मार्ग हनुमान मंदिर से ग्राम के मोहल्ले  का मुख्य मार्ग कीचड़ से सना हुआ है ! पूरे रास्ते पर किचड़ होने से स्कूली बच्चों सहित ग्रामीणों  को बड़ी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। शासन प्रशासन के द्वारा पंच परमेश्वर योजना चलाकर ग्राम के कच्चे मार्गो को सीमेंट कांक्रीट से पक्का किया जा रहा हे वही ग्राम पंचायत पटलावद के सरपंच सचिवों के द्वारा ग्राम विकास कार्य मे लापरवाही बरती जा रही है !  आजादी के 72 साल बीतने के बाद भी ग्राम की सड़को  की ना तो किसी जनप्रतिनिधि ओर ना ही किसी  अधिकारी ने सुध ली ! ऐसे में शासन प्रशासन में ग्राम विकास के दावे खोखले साबित हो रहे है !  गांव से मुख्य मार्ग तक  का रास्ता बदहाल स्थिति में  है। पुरे मार्ग में कीचड़ भरा हुआ है। छात्र-छात्राओं सहित ग्रामीणों को स्कूल व अन्य कार्य हेतु आवागमन में  बहुत परेशानी हो रही है। कीचड़ भरे रास्ते में विद्यार्थी कई बार फिसलकर गिर जाते हैं इससे उनके शाला गणवेश व पाठ्य सामग्री भी गंदे हो जाते है। स्कूल में में पढ़ने वाले विद्यार्थियों के पालको को हर वक्त बच्चों की आने जाने की चिंता सताती है !  कई बार मोटरसायकल चालक भी गिर चुके हैं। ग्रामीणों ने  सड़क की मरम्मत करने और कीचड़ की समस्या से मुक्ति दिलाने की मांग संबंधित अधिकारियों , जनप्रतिनिधियों को कर चुके हैं । लेकिन किसी अधिकारी या जनप्रतिनिधि ने आज तक इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया। ग्रामीणजनों का कहना है कि यदि उक्त मार्ग का शीघ्र निर्माण नही किया गया तो स्कूली विद्यार्थियों के साथ चरणबद्ध आंदोलन करना पड़ेगा ।

इनका कहना है - में सरपंच सचिवों से बात कर मार्ग के बारे चर्चा करता हु
सीईओ पालनपुरे, धरमपुरी

Post a Comment

0 Comments