केन्द्रीय विद्यालय के रिजल्ट में किसी प्रकार की लापरवाही बार्दाश्त नहीं करूंगी: कलेक्टर श्रीमती दास | Kendriy vidhyalay ke result main kisi prakar ki laparwahi bardast nhi karungi

केन्द्रीय विद्यालय के रिजल्ट में किसी प्रकार की लापरवाही बार्दाश्त नहीं करूंगी: कलेक्टर श्रीमती दास

केन्द्रीय विद्यालय के रिजल्ट में किसी प्रकार की लापरवाही बार्दाश्त नहीं करूंगी: कलेक्टर श्रीमती दास

मुरैना (संजय दीक्षित) - केंद्रीय विद्यालय में इस वर्ष मुझे 10वीं एवं 12वीं का रिजल्ट उत्कृष्ट चाहिये। इसमें किसी प्रकार की लापरवाही बार्दाश्त नहीं करूंगी। कलेक्टर एवं केन्द्रीय विद्यालय की अध्यक्ष श्रीमती प्रियंकादास ने बैठक में टीचरों को निर्देश दिये। इस अवसर पर उन्होंने शिक्षकों को कहा कि शिक्षक लक्ष्य बनाकर कठिन परिश्रम करें, जिससे छात्रों का रिजल्ट उत्कृष्ट रहे। ये निर्देश उन्होंने शुक्रवार को रूटीन मीटिंग के दौरान केन्द्रीय विद्यालय भवन में बैठक के समय शिक्षकों को दिये।कलेक्टर एवं अध्यक्ष श्रीमती प्रियंका दास ने पिछले वर्ष के परीक्षा परिणाम देखकर अप्रसन्नता व्यक्त करते हुये समस्त टीचरों को निर्देश दिये कि इस वर्ष दसवीं एवं बारहवीं का परीक्षा परिणाम अच्छा रहे। सभी छात्र छात्रायें 80 प्रतिशत से ऊपर अंक लाकर प्रदर्शन करें। इसके लिये एक बेस बनाकर टीचर छात्रों को अध्ययन करावें। विद्यालय में फिजिक्स, केमेस्ट्री बायो की अलग अलग लैब बहुत सुंदर हैं। सभी विषयों के शिक्षक भी उपलब्ध हैं, भवन भी साफ सुथरा उत्तम है। फिर परिणाम भी अच्छा आना चाहिए। उन्होनें कहा कि इस वर्ष 90 प्रतिशत से अधिक अंक लाने वाले विद्यार्थियों की संख्या अच्छी रहे, कोई भी परीक्षार्थी 60 प्रतिशत से नीचे प्रदर्शन न करें। न्यूनतम अंक लाने वाले कमजोर बच्चों की अभी से पहचान कर ली जावे और इस प्रकार शिक्षा अध्ययन करावें कि वे भी अच्छे अंक ला सके।

 इस अवसर पर उन्होंने विद्यालय की अवश्यकताओं के बारे में विस्तार से चर्चा की। उन्होंने नियमित रूप से केन्द्रीय विद्यालय की बैठक कलेक्टर की अध्यक्षता में करने के निर्देश एवं प्रत्येक माह का प्रोग्रेस कलेक्टर कार्यालय उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। इस अवसर पर उन्होंने प्राचार्य को निर्देश दिये कि किसी भी मंच पर केन्द्रीय विद्यालय के बच्चों का परफोरमेंस होने पर वहां के लोगों को गर्व महसूस होना चाहिये कि केन्द्रीय विद्यालय के बच्चों का प्रोग्राम हो रहा है । इस अवसर पर उन्होंने बेटी बचाओं बेटी पढाओं की कार्यक्रम के संबंध में विस्तार से चर्चा की।

केन्द्रीय विद्यालय के प्राचार्य वाजपेयी ने कहा कि विद्यालय में अतिरिक्त  कक्ष की आवश्यकता है जिसमें 10 कमरे एवं लैब की आवश्यकता बताई।  इस पर कलेक्टर ने प्रस्ताव तैयार कर मेरे हस्ताक्षर से भेजने के निर्देश दिये। इस अवसर पर उन्होंने समस्त टीचरों से उनकी समस्याओं आदि के बारे में पूछा और सभी से परिचय प्राप्त किया। इसके पूर्व कलेक्टर ने पूरे विद्यालय के समस्त कक्षों, प्रयोगशाला, परीक्षा कक्ष, स्पोर्ट, लाइब्रेरी, संगणक प्रयोगशाला, ड्राइंग कक्ष का अवलोकन किया। वहां उपलब्ध लैब संबंधी सामग्री का अवलोकन किया एवं बच्चों से चर्चा कर उनका उत्साह बढ़ाया।इस अवसर पर केन्द्रीय विद्यालय के प्राचार्य सुधीर वाजपेयी एवं विद्यालय के समस्त टीचर उपस्थित थे।

Comments

Popular posts from this blog

कलेक्टर दीपक सक्सेना का नवाचार जो किताबें मेले में उपलब्ध वही चलेगी स्कूलों में me Aajtak24 News

पुलिस ने 48 घंटे में पन्ना होटल संचालक के बेटे की हत्या करने वाले आरोपियों को किया गिरफ्तार girafatar Aaj Tak 24 News

कुल देवी देवताओं के प्रताप से होती है गांव की समृद्धि smradhi Aajtak24 News