नंदी की अंतिम विदाई के बाद 13 दिन में भंडारे का आयोजन

नंदी की अंतिम विदाई के बाद 13 दिन में भंडारे का आयोजन


देपालपुर (दीपक सेन) - देपालपुर के गांव रतन खेड़ी में 23 जुलाई श्रवण मास को एक नंदी की मृत्यु हो गई थी गांव वालों ने डीजे ढोल के साथ अंतिम विदाई  समाधि के रूप में मनुष्य पद्धति के रीति रिवाज अनुसार  दी थी उसके बाद ग्रामीण जनों ने चंदा इकट्ठा कर 13 दिन बाद भंडारे का आयोजन किया गया और शाही भोजन गुलाब जामुन नुक्ती चक्की पूरी सब्जी और मिक्चर बनाया गया साथ ही जिस स्थान पर नंदी की समाधि बनाई थी उसी स्थान पर ढोल बैंड बाजों के साथ जुलूस निकालकर  ग्रामीण जनों द्वारा वृक्षारोपण नंदी की आत्मा शांति के लिए किया गया तथा हजारों श्रद्धालुओं ने भंडारे में भोजन प्रसाद ग्रहण किया व  ग्रामीण जनों का कहना है कि श्रवण मास में भगवान शिव के नंदी का भंडारा करना हमारे लिए सौभाग्य की बात है परंतु नंदी की मौत का दुख भी है।

Post a Comment

0 Comments