बच्चे की पढ़ाई व स्वाभिमान की रुचि को देख थाना प्रभारी गोपाल परमार ने कोर्स दिलाया

बच्चे की पढ़ाई व स्वाभिमान की रुचि को देख थाना प्रभारी गोपाल परमार ने कोर्स दिलाया।

बच्चे की पढ़ाई व स्वाभिमान की रुचि को देख थाना प्रभारी गोपाल परमार ने कोर्स दिलाया।

देपालपुर (दीपक सेन) - देपालपुर क्षेत्र के तकीपुरा में रहने वाली सीमाबाई अपने 12 वर्षीय आर्यन पिता सोनू बंजारा की गुमशुदगी की सूचना देपालपुर थाने पर दी थी। पुलिस व परिजनों ने तत्परता से खोजबीन शुरू कर दी। कल शाम को पता चला कि 12 वर्षीय आर्यन अपनी दादी मांगलिया में रहती है उसके यहां चले गया है। देपालपुर पुलिस वहां पहुंची और आर्यन को वापस देपालपुर थाने पर लेकर आई. घर से भागने का कारण पूछा तो बताया कि कक्षा छठी में पढ़ता हूं. मेरे पास स्कूल कोर्स नहीं है इसलिए मेरे विद्यालय के प्राचार्य भी मुझे बार-बार कोर्स के लिए परेशान कर रहे थे. इससे परेशान होकर मैंने घर से भागने का निर्णय ले लिया और मैं अपनी दादी के यह टैंकर के माध्यम से चले गया। देपालपुर थाना प्रभारी गोपाल परमार ने उसकी इस पढ़ाई व स्वाभिमान की रुचि को देखते हुए स्वयं के निजी रुपए से 12 वर्षीय आर्यन को कोर्स दिलवाया। समझाइश दी कि ऐसे हालातों व परिस्थिति का जमकर सामना करना चाहिये। पढ़ाई में अधिक से अधिक अंक लाने का उद्देश्य रखना चाहिए।

Comments

Popular posts from this blog

कलेक्टर दीपक सक्सेना का नवाचार जो किताबें मेले में उपलब्ध वही चलेगी स्कूलों में me Aajtak24 News

पुलिस ने 48 घंटे में पन्ना होटल संचालक के बेटे की हत्या करने वाले आरोपियों को किया गिरफ्तार girafatar Aaj Tak 24 News

कुल देवी देवताओं के प्रताप से होती है गांव की समृद्धि smradhi Aajtak24 News