छात्रवृत्ति आवास भत्ता समेत कॉलेज में 25% सीटें बढ़ाने को लेकर छात्रों ने जमकर किया हंगामा

छात्रवृत्ति आवास भत्ता समेत कॉलेज में 25% सीटें बढ़ाने को लेकर छात्रों ने जमकर किया हंगामा


छात्रवृत्ति आवास भत्ता समेत कॉलेज में 25% सीटें बढ़ाने को लेकर छात्रों ने जमकर किया हंगामा

डेढ़ घंटे तक प्राचार्य का घेराव कर महाविद्यालय प्रशासन के खिलाफ की नारेबाजी

बड़वानी - शहीद भीमा नायक शासकीय स्नाकोत्तर महाविद्यालय बड़वानी में आज दिनांक 26-07-2019 को पिछले शैक्षणिक वर्ष 2018-19 की छात्रवृत्ति एवं आवास भत्ता अभी तक ना मिलने के कारण अनुसूचित जाति जनजाति वर्ग के विद्यार्थियों ने कालेज प्रशासन एवं प्राचार्य के खिलाफ जमकर नारेबाजी की एवं प्राचार्य का घेराव कर डेढ़ घंटे तक धरना दिया। साथ ही महाविद्यालय में 25% सीटें  बढ़ाने की भी मांग की। उचित आश्वासन के बाद ही छात्र वहां हटे।

छात्रवृत्ति में हुई देरी को लेकर प्राचार्य ने जनजाति कार्य विभाग को जिम्मेदार ठहराया जिससे आक्रोशित छात्र जनजाति कार्य विभाग में जा कर सहायक आयुक्त विवेक पांडे से तीखी बहस करते हुए समस्या का निराकरण की मांग की।

छात्रों ने बताया कि आयुक्त उच्च शिक्षा विभाग भोपाल द्वारा गत वर्ष  दिनांक 11/08/18 को समस्त महाविद्यालय के प्राचार्य को स्पष्ट रूप से निर्देशित किया गया था कि महाविद्यालय में आवश्यकता अनुसार 10% एवं विशेष परिस्थिति में 25% सीटें की वृद्धि किया जाना सुनिश्चित किया गया था मगर शासकीय महाविद्यालय बड़वानी में अभी तक सीटों में वृद्धि नहीं की गई सीटों की कमी के कारण सैकड़ों विद्यार्थी प्रवेश से वंचित रह गए हैं कहीं विद्यार्थी प्रवेश की चाह में इधर-उधर भटक रहे हैं ऐसी स्थिति में उनका भविष्य अंधकार में है।

छात्रवृत्ति आवास भत्ता समेत कॉलेज में 25% सीटें बढ़ाने को लेकर छात्रों ने जमकर किया हंगामा

छात्र नेता सचिन पटेल ऐसा प्रतीत होता है कि सरकार एवं महाविद्यालय प्रशासन जानबूझकर सीटों में नाम वृद्धि करके विद्यार्थियों को निजी महाविद्यालयों में मनमानी फीस भरकर प्रवेश लेने के लिए विवश कर रहा है जिससे शिक्षा के निजीकरण को बढ़ावा मिल रहा है।

वहीं सहायक आयुक्त को छात्रों ने अपनी पीड़ा बताते हुए कहा कि महाविद्यालय में अधिकतर छात्र ग्रामीण क्षेत्र से आते हैं शासन द्वारा उन्हें अपना पढ़ाई का खर्च वहन करने के लिए छात्रवृत्ति एवं आवास भत्ता दिया जाता है ताकि वह अपनी पढ़ाई पूरी कर सके मगर लापरवाही के चलते शैक्षणिक वर्ष खत्म होने के बाद भी छात्रवृत्ति आवास भत्ता नहीं मिल पाया ऐसे में हमें आर्थिक समस्याओं से जूझना पड़ रहा है।

ज्ञापन सौंपने के दौरान सचिन पटेल, अनिल सस्ते, अखिलेश पटेल, पंचालाल बरडे, रवि डावर, संगीता चौहान, सीमा वास्कले, संगीत बरडे, सतीश रंधावा, प्रिया सोलंकी, प्रीति बडोले, दीपक डावर, रेणु, अमरेश गिरासे, सचिन सुलिया, करण पटेल, अमरदीप वर्मा, गजानंद ब्रह्मणे, देवेंद्र आदि छात्र मौजूद थे।

Post a Comment

0 Comments