केन्द्रीय जेल रीवा का एक बार फिर कारनामा आया सामने कैदी की मौत के बाद परिजनों ने किया जमकर हंगामा hungama Aajtak24 News

 

केन्द्रीय जेल रीवा का एक बार फिर कारनामा आया सामने कैदी की मौत के बाद परिजनों ने किया जमकर हंगामा hungama Aajtak24 News 

रीवा - केन्द्रीय जेल रीवा के अंदर सबकुछ ठीक नहीं चल रहा ऐसा हम इसलिये कह रहे हैं कि प्रतिवर्ष  कोई न कोई घटना ऐसी सामने आती हैं कि जेल प्रशासन को कटघरे में खड़ा होना पड़ता है खास कर जब किसी की मौत हो जाती है बीते वर्ष राजू शुक्ला नामक व्यक्ति की मौत के बाद काफी बवाल हुआ था और जेल विभाग के डीजी को रीवा आकर जांच पड़ताल करनी पड़ी जेल में हेलीकॉप्टर शॉट लगाने वाले अधिकारी को रीवा से स्थानांतरित कर मामले में पटाक्षेप किया गया था उसी तरह की आज फिर एक घटना सामने आई जहां कैदी की मौत के बाद रीवा जेल प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाया गया है 

बताया गया है कि ग्राम गढ़ थाना क्षेत्र गढ़ सुधाकर सिंह पुत्र स्व जनार्दन सिंह जो 307 के अपराध में रीवा केन्द्रीय जेल में बंद थे बीते दिन उनकी तबियत बिगड़ी और गंभीर हालत में रीवा संजय गांधी अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां आज उनकी मौत हो गई।

जेल में कैदियों के परिजनों से रुपए वसूलने का आरोप।

मृतक के बड़े भाई प्रभाकर सिंह ने अपने भाई सुधाकर सिंह की मौत के लिए जेल प्रशासन को जिम्मेवार ठहराते हुए अधिकारियों पर कई तरह से गंभीर आरोप लगाए उनका कहना था कि उन्होंने कई बार जेल प्रशासन से मांग की थी कि उनके उपचार के लिए संजय गांधी अस्पताल भेजा जाए लेकिन रीवा केंद्रीय जेल के अधिकारियों ने ऐसा नहीं किया प्रभाकर सिंह ने जेल अधीक्षक सहित कई लोगों पर गंभीर आरोप लगाए हैं उन्होंने कहा कि जेल में कैदियों से रुपए वसूले जाते हैं और उन्होंने खुद कई बार पांच पांच हजार रुपए दिए हैं मृतक के परिजनों ने आरोप लगाया कि सुधाकर सिंह की मौत जेल में ही हो चुकी थी उन्हें अस्पताल में भर्ती करके अस्पताल में मौत होने का बहाना बनाया गया है हालांकि परिजनों के इस आरोप का पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद पता चल जाएगा की उनकी मौत कब हुई थी। 

रीवा जेल प्रशासन के अधिकारियों पर हत्या का मामला दर्ज करने की मांग।

कैदी सुधाकर सिंह की मौत के बाद संजय गांधी अस्पताल परिसर रीवा में काफी देर तक हंगामा होता रहा मृतक के परिजनों द्वारा यह कहते हुए शव का पोस्टमार्टम कराने से इनकार किया गया कि जब तक जेल प्रशासन के अधिकारियों पर हत्या का मामला दर्ज नहीं होगा तब तक पोस्टमार्टम नहीं कराएंगे मौके पर मौजूद वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा पीड़ित परिजनों को शांत करने का काफी देर तक प्रयास किया गया। बिचारा धीन बंदी की तबीयत बिगड़ने से उपचार के दौरान रीवा के संजय गांधी अस्पताल में हुई मौत , अस्पताल में परिजनों ने मचाया हंगामा पहुंची पुलिस

क्या कहता है जेल प्रशासन।

इस घटना की जानकारी जब जेल अधीक्षक सतीश उपाध्याय से ली गई तो उन्होने बताया की बंदी के साथ मारपीट करने जैसे सभी आरोप निराधार है विचाराधीन  बंदी की तबीयत पिछले कुछ माह से खराब रहती थी हार्ट की बीमारी थी जिसकी फिर से तबियत बिगड़ने पर रीवा के संजय गांधी अस्पताल में एडमिट कराया गया जहां उसकी मौत हुई है।



Comments

Popular posts from this blog

पंचायत सचिवों को मिलने जा रही है बड़ी सौगात, चंद दिनों का और इंतजार intjar Aajtak24 News

कलेक्टर दीपक सक्सेना का नवाचार जो किताबें मेले में उपलब्ध वही चलेगी स्कूलों में me Aajtak24 News

पुलिस ने 48 घंटे में पन्ना होटल संचालक के बेटे की हत्या करने वाले आरोपियों को किया गिरफ्तार girafatar Aaj Tak 24 News