इलेक्ट्रो होम्योपैथी चिकित्सा पद्धति के प्रैक्टिशनर को नहीं कराना होगा पंजीयन panjiyan Aajtak24 News

 

इलेक्ट्रो होम्योपैथी चिकित्सा पद्धति के प्रैक्टिशनर को नहीं कराना होगा पंजीयन panjiyan Aajtak24 News 

दमोह - जिले में विगत दिनों पथरिया क्षेत्र के नंदराई गांव में एक ग्रामीण की झोलाछाप चिकित्सक के माध्यम द्वारा इलाज करने  में मौत हो गई, जिसका समाचार प्रकाशित होने पर दमोह जिले के कलेक्टर सुधीर कोचर द्वारा संज्ञान लेकर फर्जी व झोला छाप चिकित्सा पद्धति करने वालों पर सिकंझा कसा एवं दमोह के स्वास्थ्य अधिकारी सीएमओएच के माध्यम से तीम बनाकर जांच दल तैयार किए गए, और दामों के सभी तहसीलों में जांच अभियान शुरू किया गया तब देखने में आया कि भारी मात्रा में बंगाली चिकित्सक और बिना डिग्री डिप्लोमा धारी चिकित्सा विदा करके पाए गए और अंग्रेजी दवाइयां मरीजों को देते मिले, कई जगह तो देखने मिला है कि 50-50 बिस्तर की ओपीडीवी चालू है जहां पर मरीजों को इंजेक्शन, वाटल वा कई महंगी जा चुकी सुविधा भी ग्रामीण क्षेत्र में महिया है जो की पूर्ण रूप से फर्जी है ना कोई डिग्री है। ना डिप्लोमा है और पैथोलॉजी लैब भी पथरिया जैसे क्षेत्र में फल फूल रहे हैं, वैसे देखने में आया है कि दमोह जिले के सभी तहसीलों में फर्जी पैथोलॉजी लैब खुले हुऐ हैं, और फर्जी क्लिनिक और लैब के माध्यम से इलाज के नाम लोगों  से मोटी रकम वसूली जा रही है, इन सब का खुलासा तब हुआ जब जांच डालने मौके पर पहुंचकर गली-गली में खुले फर्जी क्लिनिक पर छापा मारा तो फर्जी क्लीनिक चलाने वाले ताला जड़कर भाग खड़े हुए। संचालनालय स्वास्थ्य सेवाएं मध्य प्रदेश के आदेश क्रमांक अ. प्रशा./सेल -6/एफ.-292/2011/1084 दिनांक 26. 08. 2011के अनुसार समस्त कलेक्टर मध्य प्रदेश व समस्त जिला पुलिस अधीक्षक मध्य प्रदेश को सूचना जारी की गई थी! जिसमें फर्जी चिकित्सकों झोलाछाप द्वारा रोगियों का उपचार किया जा रहा है अधिकांश ऐसे चिकित्सक एलोपैथी पद्धति की औषधियां रोगियों को दे रहे हैं बिना उपयुक्त ज्ञान के इस प्रकार का उपचार घातक होता है ऐसे कई प्रकार सामने आए हैं जहां अपात्र फर्जी चिकित्सकों द्वारा गलत इंजेक्शन देने से रोगियों को एब्सेस,गैंग्रीन आदि हो गया है, और यहां तक कुछ रोगियों की मृत्यु भी हो गई है, ऐसी जांच के आदेश 2011 एवं 2018 में भी जारी किए गए थे, और बीच-बीच में अभी जिला स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा अभी कार्यवाही की जाती है। इलेक्ट्रोहोम्योपैथी प्रैक्टिशनर को नहीं है पंजीयन करने की जरूरत..... भारत में आधुनिक चिकित्सा पद्धति एलोपैथी व भारतीय चिकित्सा पद्धति और होम्योपैथी एंड बायोकेमिक सिस्टम ऑफ़ मेडिसिन के प्रावधानों के अनुसार मेडिकल काउंसिल आफ इंडिया एक्ट 1956 की धारा 15 (1) के अंतर्गत मान्यता धारी का मध्य प्रदेश मेडिकल काउंसिल अधिनियम 1987 के अंतर्गत पंजीयन कराना अनिवार्य है, वही 1970 के अंतर्गत शेड्यूल के उल्लेखित मान्य अहरताधारी का बोर्ड आफ आयुर्वैदिक एंड युनानी सिस्टम आफ मेडिसिन एंड नेचरोपैथी मध्य प्रदेश के अंतर्गत पंजीयन अनिवार्य है एवं होम्योपैथिक सेंट्रल काउंसिल एक्ट 1973 की दूसरी /तीसरी अनुसूची में मान्य अहर्ताधारी का स्टेट कौंसिल ऑफ़ होमियोपैथी मध्य प्रदेश के अंतर्गत पंजीयन अनिवार्य है, चिकित्सा शिक्षा संस्थान( नियंत्रण )अधिनियम 1973 की धारा 7-ग के अनुसार अभिधान डॉक्टर का उपयोग केवल उपरोक्त मान्य चिकित्सा मैं रजिस्टर्ड मेडिकल प्रैक्टिशनर ही कर सकते हैं अपात्र व्यक्ति द्वारा डॉक्टर शब्द का उपयोग करने पर 3 वर्ष का कारावास और 50000 जुर्माना या दोनों ही हो सकते हैं! और वही इलेक्ट्रो होम्योपैथी मेडिसिन देश के विधान अनुसार स्थापित चिकित्सा पढ़ती नहीं है, किंतु इस पद्धति के व्यवसाईयों हेतु माननीय उच्च न्यायालय पश्चिम बंगाल,मध्य प्रदेश तथा दिल्ली द्वारा उनके विरुद्ध कोई कार्यवाही न किए जाने संबंधी निर्देश जारी किए गए हैं, और आदेशित किया गया है कि अपनी ही चिकित्सा पद्धति में  व्यवसाय करे,व रोगियों का इलाज करें, और साथ में इलेक्ट्रो होम्योपैथी मेडिसिन करने वाले प्रैक्टिशनर को अपना पंजीयन मध्य प्रदेश उपचार ग्रह तथा रुजोपचार संबंधी स्थापना ( रजिस्ट्रीकरण तथा अनुज्ञापन ) अधिनियम 1973 के अंतर्गत नहीं किया जाना है, किंतु उक्त अधिनियम की धारा 8 के अंतर्गत इन पर कोई कार्यवाही भी नहीं की जाएगी।



ilektro homyopaithee chikitsa paddhati ke praiktishanar ko nahin karaana hoga panjeeyan
damoh - jile mein vigat dinon pathariya kshetr ke nandaraee gaanv mein ek graameen kee jholaachhaap chikitsak ke maadhyam dvaara ilaaj karane mein maut ho gaee, jisaka samaachaar prakaashit hone par damoh jile ke kalektar sudheer kochar dvaara sangyaan lekar pharjee va jhola chhaap chikitsa paddhati karane vaalon par sikanjha kasa evan damoh ke svaasthy adhikaaree seeemoech ke maadhyam se teem banaakar jaanch dal taiyaar kie gae, aur daamon ke sabhee tahaseelon mein jaanch abhiyaan shuroo kiya gaya tab dekhane mein aaya ki bhaaree maatra mein bangaalee chikitsak aur bina digree diploma dhaaree chikitsa vida karake pae gae aur angrejee davaiyaan mareejon ko dete mile, kaee jagah to dekhane mila hai ki 50-50 bistar kee opeedeevee chaaloo hai jahaan par mareejon ko injekshan, vaatal va kaee mahangee ja chukee suvidha bhee graameen kshetr mein mahiya hai jo kee poorn roop se pharjee hai na koee digree hai. na diploma hai aur paitholojee laib bhee pathariya jaise kshetr mein phal phool rahe hain, vaise dekhane mein aaya hai ki damoh jile ke sabhee tahaseelon mein pharjee paitholojee laib khule huai hain, aur pharjee klinik aur laib ke maadhyam se ilaaj ke naam logon se motee rakam vasoolee ja rahee hai, in sab ka khulaasa tab hua jab jaanch daalane mauke par pahunchakar galee-galee mein khule pharjee klinik par chhaapa maara to pharjee kleenik chalaane vaale taala jadakar bhaag khade hue. sanchaalanaalay svaasthy sevaen madhy pradesh ke aadesh kramaank a. prasha./sel -6/eph.-292/2011/1084 dinaank 26. 08. 2011ke anusaar samast kalektar madhy pradesh va samast jila pulis adheekshak madhy pradesh ko soochana jaaree kee gaee thee! jisamen pharjee chikitsakon jholaachhaap dvaara rogiyon ka upachaar kiya ja raha hai adhikaansh aise chikitsak elopaithee paddhati kee aushadhiyaan rogiyon ko de rahe hain bina upayukt gyaan ke is prakaar ka upachaar ghaatak hota hai aise kaee prakaar saamane aae hain jahaan apaatr pharjee chikitsakon dvaara galat injekshan dene se rogiyon ko ebses,gaingreen aadi ho gaya hai, aur yahaan tak kuchh rogiyon kee mrtyu bhee ho gaee hai, aisee jaanch ke aadesh 2011 evan 2018 mein bhee jaaree kie gae the, aur beech-beech mein abhee jila svaasthy adhikaaree dvaara abhee kaaryavaahee kee jaatee hai. ilektrohomyopaithee praiktishanar ko nahin hai panjeeyan karane kee jaroorat..... bhaarat mein aadhunik chikitsa paddhati elopaithee va bhaarateey chikitsa paddhati aur homyopaithee end baayokemik sistam of medisin ke praavadhaanon ke anusaar medikal kaunsil aaph indiya ekt 1956 kee dhaara 15 (1) ke antargat maanyata dhaaree ka madhy pradesh medikal kaunsil adhiniyam 1987 ke antargat panjeeyan karaana anivaary hai, vahee 1970 ke antargat shedyool ke ullekhit maany aharataadhaaree ka bord aaph aayurvaidik end yunaanee sistam aaph medisin end necharopaithee madhy pradesh ke antargat panjeeyan anivaary hai evan homyopaithik sentral kaunsil ekt 1973 kee doosaree /teesaree anusoochee mein maany ahartaadhaaree ka stet kaunsil of homiyopaithee madhy pradesh ke antargat panjeeyan anivaary hai, chikitsa shiksha sansthaan( niyantran )adhiniyam 1973 kee dhaara 7-ga ke anusaar abhidhaan doktar ka upayog keval uparokt maany chikitsa main rajistard medikal praiktishanar hee kar sakate hain apaatr vyakti dvaara doktar shabd ka upayog karane par 3 varsh ka kaaraavaas aur 50000 jurmaana ya donon hee ho sakate hain! aur vahee ilektro homyopaithee medisin desh ke vidhaan anusaar sthaapit chikitsa padhatee nahin hai, kintu is paddhati ke vyavasaeeyon hetu maananeey uchch nyaayaalay pashchim bangaal,madhy pradesh tatha dillee dvaara unake viruddh koee kaaryavaahee na kie jaane sambandhee nirdesh jaaree kie gae hain, aur aadeshit kiya gaya hai ki apanee hee chikitsa paddhati mein vyavasaay kare,va rogiyon ka ilaaj karen, aur saath mein ilektro homyopaithee medisin karane vaale praiktishanar ko apana panjeeyan madhy pradesh upachaar grah tatha rujopachaar sambandhee sthaapana ( rajistreekaran tatha anugyaapan ) adhiniyam 1973 ke antargat nahin kiya jaana hai, kintu ukt adhiniyam kee dhaara 8 ke antargat in par koee kaaryavaahee bhee nahin kee jaegee.

Comments

Popular posts from this blog

पंचायत सचिवों को मिलने जा रही है बड़ी सौगात, चंद दिनों का और इंतजार intjar Aajtak24 News

कलेक्टर दीपक सक्सेना का नवाचार जो किताबें मेले में उपलब्ध वही चलेगी स्कूलों में me Aajtak24 News

पुलिस ने 48 घंटे में पन्ना होटल संचालक के बेटे की हत्या करने वाले आरोपियों को किया गिरफ्तार girafatar Aaj Tak 24 News