सरहंगों ने किसान की जमीन पर किया कब्जा शासन, प्रशासन नहीं सुन रहा फरियाद fariyad Aajtak24 News

 

सरहंगों ने किसान की जमीन पर किया कब्जा शासन, प्रशासन नहीं सुन रहा फरियाद fariyad Aajtak24 News  

रीवा - जिले के गढ़ थाना अंतर्गत ग्राम पंचायत बांस तहसील मनगवां जिला रीवा निवासी पीड़ित किसान ने गढ़ थाने में पहुंचकर शिकायत दर्ज कराई है कि बीते दिनांक 30 मार्च की दरमियानी रात सरहंग वालाप्रसाद राजकुमार लक्ष्मी प्रसाद पृथ्वीराज विद्यासागर विजय नमक व्यक्तियों द्वारा उनकी निजी अराजी में सड़क निर्माण कर लिए हैं जिसकी शिकायत लालगांव पुलिस चौकी में पीडि़त फरियादी ने कर रखी है। इस घटना की शिकायत पीडि़त फरियादी ने तहसील कार्यालय मनगवां से लेकर जिला कलेक्टर रीवा तक कर रखी है लेकिन पीडि़त फरियादी की अभी तक प्रशासनिक स्तर पर सुनवाई नहीं हुई है शिकायतकर्ता ने बताया कि इस भूमि का प्रकरण न्यायालय द्वितीय व्यवहार न्यायाधीश वर्ग 2 सिरमौर रीवा में भी चला था जहां आरोपियों ने राजीनामा लगाकर विवाद न करने की बात कही थी लेकिन अब उनकी नियति बदल गई और उसे भूमि पर पुनः कब्जा कर लिए हैं अपनी जान माल की सुरक्षा और न्याय के लिए कई दिनों से दर-दर भटक रहा हूं लेकिन कहीं न्याय नहीं मिल रहा। पीड़ित व्यक्ति ने कहा कि मेरा परिवार दहशत में है और मेरे मेहनत की कमाई से खरीदी गई जमीन पर सरहंगो द्वारा बलपूर्वक सड़क का निर्माण किया जा रहा है जबकि इस जमीन के सीमांकन के लिए तहसील में आवेदन उपरांत चार बार राजस्व के स्थानीय कर्मचारियों द्वारा सीमांकन करने का प्रयास किया गया किंतु बार-बार इनके द्वारा विवाद कर सीमांकन कार्य नहीं होने दिया गया इसकी भी शिकायत मौखिक संबंधित तहसीलदार और स्थानीय सीमांकन करने वाले अधिकारियों से की गई थी किंतु उनके द्वारा भी पुलिस बल लेकर सीमांकन कार्य नहीं कराया गया। इस मामले मेंं आरोपी किसी भी समय गंभीर वारदात को अंजाम दे सकते है पीडित पक्ष हरिवंश प्रसाद गौतम पिता गोविंद प्रसाद गौतम द्वारा बताया गया कि मेरा परिवार पूरी दहशत में है मैं 100 नंबर में फोन लगाया पुलिस की मौजूदगी में पांच-पांच लोगों ने गाली गलौज की ओर जान से मारने की धमकी दी थी कहा कि मिट्टी में दफन कर दूंगा इसके बाद 181 में भी शिकायत दर्ज कराया किंतु मुझे कहीं से भी कोई न्याय नहीं मिल रहा है। इस मामले को लेकर जब थाना और तहसील के अधिकारियों से जानकारी चाहिए गई तो चुनाव में व्यस्त होने के कारण जानकारी नहीं मिल पाई तो वहीं दूसरे पक्ष से संपर्क करने का प्रयास किया गया तो उनका कोई संपर्क सूत्र नहीं मिला हालांकि इस गंभीर मामले में अब देखना यह है कि पुलिस और राजस्व विभाग क्या कार्यवाही करता है क्योंकि ऐसे मामलों में अगर समय रहते प्रशासन कार्यवाही नहीं करता तो अपराधिक घटनाएं भी घटित हो जाती है।



Comments

Popular posts from this blog

पंचायत सचिवों को मिलने जा रही है बड़ी सौगात, चंद दिनों का और इंतजार intjar Aajtak24 News

कलेक्टर दीपक सक्सेना का नवाचार जो किताबें मेले में उपलब्ध वही चलेगी स्कूलों में me Aajtak24 News

पुलिस ने 48 घंटे में पन्ना होटल संचालक के बेटे की हत्या करने वाले आरोपियों को किया गिरफ्तार girafatar Aaj Tak 24 News