लकिराज चुंडावत ने आल इंडिया रेंक 1217वी प्राप्त की ki Aajtak24 News

 

लकिराज चुंडावत ने आल इंडिया रेंक 1217वी प्राप्त की ki Aajtak24 News 

बदनावर -  कश्यप विधा पिठ बदनावर से लकिराज चुंडावत ने दसवीं 95 परसेंट करके इंदौर कल्प वृक्ष इंस्टीट्यूट ऑफ जे ई आई आई टी की तैयारी के लिए जिसने जे ई की तैयारी के साथ साथ 11वी ,12 वी की तैयारी भी की ओर बारहवीं बोर्ड के साथ साथ N.T.A  जे ई फाईनल रिजल्ट 24 अप्रैल 2024 को घोषित किया गया जिसमें लकिराज सिंह चुंडावत ने आल इंडिया रेंक 1217वी प्राप्त की। एक मिडिल क्लास परिवार से होते हुए लकिराज ने कडे संघर्ष करते हुए यह मुकाम हासिल किया है। 24 घंटों में से 20 घंटे लगातार पढ़ाई करता था।  बदनावर शहर के लिए यह गोरव की बात है  बदनावर का बेटे ने आज बदनावर शहर का नाम रोशन किया है शहर में हर्ष का माहौल है।लकिराज चुंडावत ने इस सफलता का श्रेय अपने  पिता दिग्विजय सिंह चुंडावत ओर माता रेणु कुंवर चुंडावत  दादा जी राजेंद्र सिंह चुंडावत ओर दादी भुला चुंडावत को दिया हे।


लकिराज चुंडावत ने आल इंडिया रेंक 1217वी प्राप्त की ki Aajtak24 News 

बदनावर -  कश्यप विधा पिठ बदनावर से लकिराज चुंडावत ने दसवीं 95 परसेंट करके इंदौर कल्प वृक्ष इंस्टीट्यूट ऑफ जे ई आई आई टी की तैयारी के लिए जिसने जे ई की तैयारी के साथ साथ 11वी ,12 वी की तैयारी भी की ओर बारहवीं बोर्ड के साथ साथ N.T.A  जे ई फाईनल रिजल्ट 24 अप्रैल 2024 को घोषित किया गया जिसमें लकिराज सिंह चुंडावत ने आल इंडिया रेंक 1217वी प्राप्त की। एक मिडिल क्लास परिवार से होते हुए लकिराज ने कडे संघर्ष करते हुए यह मुकाम हासिल किया है। 24 घंटों में से 20 घंटे लगातार पढ़ाई करता था।  बदनावर शहर के लिए यह गोरव की बात है  बदनावर का बेटे ने आज बदनावर शहर का नाम रोशन किया है शहर में हर्ष का माहौल है।लकिराज चुंडावत ने इस सफलता का श्रेय अपने  पिता दिग्विजय सिंह चुंडावत ओर माता रेणु कुंवर चुंडावत  दादा जी राजेंद्र सिंह चुंडावत ओर दादी भुला चुंडावत को दिया हे।


लकिराज चुंडावत ने आल इंडिया रेंक 1217वी प्राप्त की ki Aajtak24 News 

बदनावर -  कश्यप विधा पिठ बदनावर से लकिराज चुंडावत ने दसवीं 95 परसेंट करके इंदौर कल्प वृक्ष इंस्टीट्यूट ऑफ जे ई आई आई टी की तैयारी के लिए जिसने जे ई की तैयारी के साथ साथ 11वी ,12 वी की तैयारी भी की ओर बारहवीं बोर्ड के साथ साथ N.T.A  जे ई फाईनल रिजल्ट 24 अप्रैल 2024 को घोषित किया गया जिसमें लकिराज सिंह चुंडावत ने आल इंडिया रेंक 1217वी प्राप्त की। एक मिडिल क्लास परिवार से होते हुए लकिराज ने कडे संघर्ष करते हुए यह मुकाम हासिल किया है। 24 घंटों में से 20 घंटे लगातार पढ़ाई करता था।  बदनावर शहर के लिए यह गोरव की बात है  बदनावर का बेटे ने आज बदनावर शहर का नाम रोशन किया है शहर में हर्ष का माहौल है।लकिराज चुंडावत ने इस सफलता का श्रेय अपने  पिता दिग्विजय सिंह चुंडावत ओर माता रेणु कुंवर चुंडावत  दादा जी राजेंद्र सिंह चुंडावत ओर दादी भुला चुंडावत को दिया हे।


lakiraaj chundaavat ne aal indiya renk 1217vee praapt kee badanaavar - kashyap vidha pith badanaavar se lakiraaj chundaavat ne dasaveen 95 parasent karake indaur kalp vrksh insteetyoot oph je ee aaee aaee tee kee taiyaaree ke lie jisane je ee kee taiyaaree ke saath saath 11vee ,12 vee kee taiyaaree bhee kee or baarahaveen bord ke saath saath n.t.a je ee phaeenal rijalt 24 aprail 2024 ko ghoshit kiya gaya jisamen lakiraaj sinh chundaavat ne aal indiya renk 1217vee praapt kee. ek midil klaas parivaar se hote hue lakiraaj ne kade sangharsh karate hue yah mukaam haasil kiya hai. 24 ghanton mein se 20 ghante lagaataar padhaee karata tha. badanaavar shahar ke lie yah gorav kee baat hai badanaavar ka bete ne aaj badanaavar shahar ka naam roshan kiya hai shahar mein harsh ka maahaul hai.lakiraaj chundaavat ne is saphalata ka shrey apane pita digvijay sinh chundaavat or maata renu kunvar chundaavat daada jee raajendr sinh chundaavat or daadee bhula chundaavat ko diya he.

Comments

Popular posts from this blog

पंचायत सचिवों को मिलने जा रही है बड़ी सौगात, चंद दिनों का और इंतजार intjar Aajtak24 News

कलेक्टर दीपक सक्सेना का नवाचार जो किताबें मेले में उपलब्ध वही चलेगी स्कूलों में me Aajtak24 News

पुलिस ने 48 घंटे में पन्ना होटल संचालक के बेटे की हत्या करने वाले आरोपियों को किया गिरफ्तार girafatar Aaj Tak 24 News